कपिल मिश्रा ने फिर किया विवादित ट्वीट, कहा- AAP का नाम मुस्लिम लीग होना चाहिए

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग को अब हफ्ते भर से भी कम का समय बचा है. सभी राजनीतिक दलों ने प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. इसी दौरान नेता कई बार बेहद विवादित बयान भी दे रहे हैं. दिल्ली के मॉडल टाउन विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी के उम्मीदवार कपिल मिश्रा भी लगातार विवादित बयान दे रहे हैं. अब मिश्रा ने आम आदमी पार्टी को मुस्लिम लीग बताया है.

कपिल मिश्रा ने ट्विटर पर लिखा, ”आम आदमी पार्टी का नया नाम मुस्लिम लीग होना चाहिये. उमर खालिद, अफजल गुरु, बुरहान वानी, आंतकवादियो को अपना बाप मानने वालों को योगी आदित्यनाथ जी से डर लग रहा हैं.”

बता दें कि इससे पहले विवादित ट्वीट को लेकर निर्वाचन आयोग, बीजेपी के मॉडल टाउन से उम्मीदवार कपिल मिश्रा पर 48 घंटे का प्रचार प्रतिबंध लगा चुका है. कपिल मिश्रा ने अपने विवादित ट्वीट में दिल्ली में 8 फरवरी को होने वाले चुनाव को भारत बनाम पाकिस्तान मुकाबले जैसा बताया था.

कपिल मिश्रा साल 2015 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के टिकट पर करावल नगर से विधायक चुने गए थे. उन्हें केजरीवाल सरकार में मंत्री भी बनाया गया था. बाद में उन्होंने आप छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया. मॉडल टाउन से आम आदमी पार्टी ने अखिलेश पति त्रिपाठी और कांग्रेस ने आकांक्षा ओला को उम्मीदवार बनाया है.

दो गृह निर्माण समितियों पर होगी FIR दर्ज, पूर्व कमिश्नर शर्मा पर भी लटकी तलवार

ग्वालियर। राॅयल गृह निर्माण एवं अन्नपूर्णा गृह निर्माण सहकारी सहित 25 समितियों के फर्जीबाड़े को लेकर जिलाधीश ने तत्काल पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज करने के निर्देश दिये है। जांचकर्ता नोडल अधिकारी एडीएम रिंकेश वैश्य के समक्ष उक्त दोनों समितियों के अवैधानिक तरीके से लाभ दिलाने वाले तत्कालीन निगमायुक्त विनोद शर्मा, नगर निवेशक ज्ञानेन्द्र जादौन, भवन अधिकारी सुरेश अहिरवार, महेन्द्र अग्रवाल एवं उपयंत्री यशवंत मैकाले के खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज कराने की बात कही गई। इतना ही नहीं राॅयल टाउनशिप में दो भूखण्ड लेकर उस पर बंगला तानने पर विनोद शर्मा को गलत ढंग से दी गई भवन अनुज्ञा भी निरस्त होगी। इस आशय का प्रतिवेदन बैठक में अपर आयुक्त राजेश श्रीवास्तव ने प्रस्तुत किया, जिस पर जिलाधीश अनुराग चैधरी एवं एडीएम रिंकेश वैश्य ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को तत्काल जीवाजी विवि थाने में प्राथमिकी दर्ज करने के निर्देश दिये।
राॅयल टाउनशिप में गलत ढंग से पूर्णतः प्रमाण पत्र देने का अधिकारियों को दोषी पाया गा है। अन्नपूर्णा मामले में वैध कालोनी को अवैध बताकर काॅलोनाइजर को गलत ढंग से लाभ पहुंचाने पर उक्त अधिकारी निशाने पर आ गये हैं। नगर निगम के अपर आयुक्त राजेश श्रीवास्तव ने शिवशंकर एवं राॅयल गृह निर्माण समिति के घोटाला मामले में पूर्व और वर्तमान अधिकारियों के अलावा समिति के कर्ताधर्ता पंकज भूतड़ा, राजेन्द्र उपाध्याय, डाॅ. पुरूषोत्तम जाजू के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के लिए पत्र तैयार कर लिया है। जिस पर शीघ्र विवि थाने में एफआईआर दर्ज होगी। उनके द्वारा उक्त समितियों के बंधक भूखण्ड बेचने का कारनामा किया गया। वहीं एक ही भूखण्ड की एक से अधिक लोगों को रजिस्ट्री कर बड़े पैमाने पर फर्जीबाडा किया गया।

भारत के ये हथियार दुश्मनों पर करेंगे अचूक वार, एक की रफ्तार 3700 किमी के पार

पाकिस्तान और चीन जैसे पड़ोसी देशों के साथ लगातार बढ़ते तनाव को लेकर भारतीय सशस्त्र बल सतर्क हैं। हाल में ही पाकिस्तान ने 290 किलोमीटर तक मार करने वाली गजनवी मिसाइल का परीक्षण किया है। जिसके बाद भारत की सुरक्षा को लेकर खतरा बढ़ गया है। 

लेकिन, क्या आप जानते हैं कि मिसाइल के मामले में पाकिस्तान आज भी भारत के सामने बच्चा है। भारत के पास खुद की अंतर महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल मौजूद है जबकि पाकिस्तान के लिए यह अब भी सपना है। भारत ने अपनी सुरक्षा के लिए भारत ने विश्व स्तर के कई मिसाइलों, जहाजों, पनडुब्बियों और बंदूकों का निर्माण किया है। जानिए इनकी खासियतें-

अग्नि 5

यह अग्नि सीरीज की इंटर-कॉन्टिनेन्टल बैलिस्टिक मिसाइल है। इसकी रेंज 5500 किलोमीटर होने के साथ ही यह कई मामलों में विश्वस्तरीय है। समय आने पर इसकी रेंज में बढ़ोतरी भी की जा सकती है। इससे पाकिस्तान के किसी भी हिस्से को निशाना बनाया जा सकता है।

अग्नि 4

अपने पुराने वर्जनों के मुकाबले अग्नि-4 मिसाइल काफी हल्की है और इसमें नई तकनीक इस्तेमाल की गई है। भारतीय सेना में शामिल यह मिसाइल 4000 किलोमीटर से अधिक दूरी तक जमीन से जमीन पर मार कर सकती है।

अग्नि 3

अग्नि-3 मिसाइल की लंबाई 17 मीटर और दो मीटर व्यास की है। जमीन से जमीन पर मार करने की क्षमता रखने वाली यह मिसाइल 3500 किलोमीटर दूर वार कर सकती है। यह डेढ़ टन तक पेलोड (हथियार) ले जाने की क्षमता रखती है। इसमें एडवांस कम्प्यूटर और नेविगेशन सिस्टम लगा है।

अग्नि 2

अग्नि-2 मिसाइल की खासियत है कि यह एक टन का पेलोड ले जाने के साथ ही दो हजार किलोमीटर तक मार कर सकती है। अग्नि-2 अत्याधुनिक नेविगेशन सिस्टम और तकनीक से लैस है।

अग्नि 1

अग्नि-1 मिसाइल का निर्माण भारत में 1999 में ही शुरू हो गया था। इसका पहला परीक्षण 2002 में किया गया था। अग्नि-1 मिसाइल 700 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम है। इसे कम मारक क्षमता वाली मिसाइल के तौर पर विकसित किया गया है।

निर्भय

यह भारत की सबसोनिक क्रूज मिसाइल है। निर्भय मिसाइल में ठोस रॉकेट मोटर बूस्टर के साथ टर्बोफैन इंजन लगा होता है। इसी वजह से इसकी रेंज 800 से 1000 किलोमीटर है। सतह से सतह पर मार करने वाली इस मिसाइल को हर मौसम में दागा जा सकता है। हाल ही में इस मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया।

प्रहार मिसाइल

प्रहार शार्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल है जिसमें 150 किलोमीटर की दूरी तक की मारक क्षमता है। इसके अगले कुछ साल में सेना में शामिल होने की उम्मीद है।

नाग

4 किलोमीटर रेंज के साथ 42 किलो के वजन वाली यह मिसाइल अपने साथ 8 किलोग्राम विस्फोटक ले जा सकती है। यह मिसाइल फायर और फारगेट के आधार पर काम करती है। इससे जमीन से जमीन और हवा से जमीन पर दागा जा सकता है।

ब्रह्मोस मिसाइल

इस मिसाइल को भारत और रूस ने मिलकर बनाया था। यह दुनिया की सबसे उन्नत क्रूज मिसाइल मानी जाती है। इसकी रेंज 290 किलोमीटर और गति 3700 किलोमीटर प्रति घंटा है। इसका नाम भारत के ब्रह्मपुत्र और रूस के मस्कन्वा नदी पर रखा गया है।

आकाश मिसाइल

700 किलोग्राम वजन वाली यह मिसाइल जमीन से हवा में मार कर सकने में सक्षम है। इसकी गति 2.5 मैक है और इसकी सबसे खास बात ये है कि यह 25 किलोमीटर के रेंज में किसी भी उड़ती चीज को भेदने में सक्षम है। इस मिसाइल को भारत का पैट्रियॉट कहा जाता है।

स्पाइक एटीजीएम मिसाइल

इस मिसाइल को इस्राइल की रॉफेल एडवांस डिफेंस सिस्टम ने विकसित किया है। इसकी सहायता से दुश्मनों के टैंक को युद्ध के मैदान में आसानी से नष्ट किया जा सकता है। भारतीय सेना ऐसे मिसाइल की मांग बहुत समय से कर रही थी। 

स्पाइस बम

बालाकोट एयर स्ट्राइक में अपनी क्षमता का लोहा मनवा चुके स्पाइस 2000 बम के एडवांस वर्जन को सेना में शामिल किया गया है। इस्राइल द्वारा विकसित स्पाइस 2000 भारतीय वायुसेना का पारंपरिक बम है। यह बम किसी भी प्रकार के बंकर या घर को नष्ट करने की क्षमता रखता है।

स्कॉर्पीन पनडुब्बियां

फ्रांसीसी तकनीकी पर आधारित स्कॉर्पीन क्लास की पनडुब्बियां भारत की नौसैनिक ताकत में जबरदस्त बढोत्तरी कर रही हैं। स्कॉर्पियन क्लास की छह पनडुब्बियों में से भारत को चार पनडुब्बी आईएनएस कलवारी, खंडेरी, करंज और वेला पहले ही मिल चुकी हैं। जबकि जिन दो पनडुब्बियों का निर्माण होना बाकी है उनका नाम वागीर और वागशीर है।

एस 400 मिसाइल डिफेंस

भारत ने अक्तूबर 2018 में रूस के साथ 40 हजार करोड़ रुपये की लागत से S-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की खरीद के लिए समझौता किया है। यह दुनिया की सबसे एडवांस मिसाइल डिफेंस सिस्टम है जो दुश्मन की किसी भी मिसाइल को हवा में ही नष्ट कर सकती है।

आईएनएस विक्रमादित्य

नौसेना का विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य देश की समुद्री सीमाओं को सुरक्षित रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। हाल में ही इस पोत पर स्वदेशी विमान एलसीए तेजस की लैंडिंग और उड़ान का सफल परीक्षण किया गया है। अगले दो से तीन साल में नौसेना को आईएनएस विक्रांत नाम से एक और विमानवाहक पोत मिल जाएगा।

राफेल लड़ाकू विमान

फ्रांस की डसॉल्ट एविएशन द्वारा बनाए गए राफेल विमान के भारतीय वायुसेना में शामिल होने से देश की सामरिक शक्ति में बड़ा इजाफा होगा। यह पांचवी पीढ़ी का उच्च तकनीकी वाला विमान है जो दुश्मन के हर मंसूबों को खत्म करने में सक्षम है।

चिनूक हेलीकॉप्टर

चिनूक की सबसे बड़ी खासियत है तेज गति। पहले चिनूक ने 1962 में उड़ान भरी थी। यह एक मल्टी मिशन श्रेणी का हेलीकॉप्टर है। इसी चिनूक हेलीकॉप्टर की मदद से अमेरिकी कमांडो ने पाकिस्तान में घुसकर ओसामा बिन लादेन को मारा था। वियतनाम से लेकर इराक के युद्धों तक शामिल चिनूक दो रोटर वाला हैवीलिफ्ट हेलीकॉप्टर है।

अपाचे हेलीकॉप्टर

एएच-64ई अपाचे विश्व के सबसे उन्नत लड़ाकू हेलीकॉप्टरों में से एक हैं, जिसे अमेरिका सेना इस्तेमाल करती है। यह बेहद कम ऊंचाई से हवाई और जमीनी हमले में सक्षम है। चार साल पहले भारत ने अमेरिका के साथ 22 अपाचे हेलीकॉप्टर का करार किया था। 

के-9 वज्र-टी टैंक

यह दक्षिण कोरिया की तकनीकी पर आधारित लंबी दूरी की आर्टिलरी गन है। इसको भारत में लार्सन एंड ट्रूबो ने बनाया है। इस गन की 100 यूनिटों को सेना में शामिल किया जाएगा। के9 वज्र की पहली रेजीमेंट इस साल के अंत तक पूरी होने की उम्मीद है।

धनुष तोप

155एमएम और 45 कैलीबर धनुष तोप को होवित्जर तोप की तरह डिजाइन किया गया है। यह आयुध निर्माणी बोर्ड द्वारा स्वदेश निर्मित है। अधिकतम 36.5 किलोमीटर दूरी की मारक क्षमता वाली इस तोप में स्वचालित बंदूक अलाइनमेंट और पोजिशनिंग की क्षमता है। 

कोरोनावायरस / वुहान में फंसे पाकिस्तानी छात्रों ने कहा- हमारी सरकार को शर्म आनी चाहिए, हमें मरने के लिए छोड़ दिया, भारत से कुछ सीखें

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने पैगंबर साहब का हवाला देते हुए कहा था- हमें उस जगह को नहीं छोड़ना चाहिए, जहां बीमारी फैली होपाकिस्तानी छात्रों ने वीडियो जारी कर कहा- भारत ने अपने लोगों को चीन से निकाला, बांग्लादेश भी जल्द अपने लोगों को निकाल लेगाचीन में पाकिस्तान की राजदूत नगमना ने कहा पाकिस्तान अब तक कोरोनावायरस का इलाज नहीं ढूंढ सका है, इसलिए छात्रों को नहीं निकालेंगेभारत अब तक दो विमानों से अपने 647 नागरिकों को वुहान से भारत ला चुका है, सभी का आइसोलेशन सेंटर्स पर इलाज किया जा रहा है

वुहान/इस्लामाबाद. भारत ने शनिवार और रविवार को दो विमानों से चीन के वुहान में फंसे अपने नागिरकों को निकाल लिया। इसके बाद वुहान में फंसे पाकिस्तान छात्रों ने वीडियो जारी कर इमरान सरकार पर निशाना साधा है। छात्रों ने भारतीयों के वुहान से निकाले जाने का वीडियो दिखा कर कहा, “जल्द ही बांग्लादेश भी अपने लोगों को चीन से निकाल लेगा। इसके बाद सिर्फ हम पाकिस्तानी ही यहां फंसे रह जाएंगे, क्योंकि हमारी सरकार का कहना है कि चाहे तुम मृत हो या संक्रमित हो या सही सलामत हो, हम तुम्हें चीन से नहीं निकालेंगे। पाकिस्तान सरकार को शर्म आनी चाहिए। उसे भारत से कुछ सीखना चाहिए।

पाकिस्तानी सरकार ने छात्रों की मदद से इनकार किया था

पाकिस्तान की सरकार ने शुक्रवार को ही कहा था कि इस मुश्किल की घड़ी में हम चीन के साथ मजबूती से खड़े हैं और इसलिए हम अपने नागरिकों को वुहान से नहीं निकालेंगे। पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने कहा था- “बीमारी फैलने पर पैगंबर मोहम्मद के निर्देश आज भी बेहतर मार्गदर्शक हैं। अगर आप बीमारी फैलने वाली किसी जगह पर हों, तो उस जगह बिल्कुल न छोड़ें। बल्कि, हमें उनकी मदद करनी चाहिए जो वहां फंसे हैं।

पाकिस्तानी दूतावासहमारा फोन तक नहीं उठा रहा:छात्र

एक अन्य वीडियो में पाकिस्तानी छात्र कहते हैं- “हमारी यूनिवर्सिटी वुहान से 2-3 घंटे की दूरी पर शांज्यांग में है। पाकिस्तान में लोग यह भूल जाते हैं कि हमारे स्टूडेंट्स को चीन में कोई गंभीरता से नहीं ले रहा। हमारी कोई मदद नहीं कर रहा। चीनी सरकार ने कहा कि अपने दूतावास से संपर्क करो। हमारी एंबेसी ने कहा- मौत अल्लाह के हाथ में है, यहां हो या वहां हो वह आ ही जाएगी।” एक और छात्र ने कहा, “पाकिस्तानी मीडिया में खबरें चल रही हैं कि हमें यूनिवर्सिटी की तरफ से हमें खाना दिया जा रहा है। यह सब गलत हैं। हमारे पास सिर्फ अपना ही खाना बचा है। यहां दुकानों में खाना काफी महंगा है। सब्जियां सोने के रेट में मिलेंगी तो हम क्या करेंगे। पाकिस्तानी दूतावास हमारे फोन तक नहीं उठाती।”

मेडिकल सेवाओं की कमी की वजह से छात्रों को नहीं निकाल सकते: पाकिस्तानीराजदूत
दूसरी तरफ चीन में पाकिस्तान की राजदूत नगमाना हाशमी ने जिओ न्यूज को दिए इंटरव्यू में कहा कि पाकिस्तान के पास स्तरीय मेडिकल सुविधाएं नहीं हैं, ऐसे में हम छात्रों को चीन से नहीं निकाल सकते। हाशमी ने कहा कि कुछ छात्र परेशान हैं कि वुहान में खाने की कमी से उन पर असर होगा। हम जल्द ही हुबेई प्रशासन से संपर्क कर उनकी परेशानियां दूर करेंगे।

प्रशांत किशोर के अगले ‘प्रोजेक्ट’ का खुलासा, जेडीयू से बाहर होने के बाद अब इस पार्टी से जुड़ेंगे

स्टालिन के लिए चुनावी रणनीति बनाएगी I-PAC
स्टालिन ने किशोर से हाथ मिलाकर जताई खुशी

एमके स्टालिन के नेतृत्व वाली डीएमके ने अगले साल तमिलनाडु में होने वाले विधानसभा चुनाव में प्रचार अभियान की रुपरेखा बनाने के लिए रणनीतिकार प्रशांत किशोर से हाथ मिलाया है.

विधानसभा चुनाव की जीत हासिल करने के लिए द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर की संस्था इंडियन पोलिटिकल एक्शन कमेटी (I-PAC) की सहायता लेगी.

लगभग एक दशक तक विपक्ष में रही DMK, AIADMK से सत्ता छीनने की यथासंभव कोशिश कर रही है. पार्टी ने कहा कि I-PAC के कई युवा पेशेवर उसके साथ काम करने को तैयार हैं.

DMK अध्यक्ष एम. के. स्टालिन ने ट्विटर पर लिखा, ‘यह बताते हुए प्रसन्नता हो रही है कि तमिलनाडु के कई प्रतिभाशाली और युवा पेशेवर I-PAC के बैनर तले 2021 के चुनाव में हमारे साथ आ रहे हैं और तमिलनाडु को उसका पुराना गौरव वापस दिलाने की योजना में सहायता करेंगे.’

इसके जवाब में I-PAC ने ट्वीट किया, ‘इस अवसर के लिए एम. के. स्टालिन का धन्यवाद. I-PAC की तमिलनाडु टीम DMK के साथ काम करने के लिए उत्साहित है. I-PAC की टीम 2021 का चुनाव जीतने में सहायता करेगी और आपके नेतृत्व में राज्य को एक बार फिर विकास के पथ पर ले जाने में योगदान देगी.’

हाल ही में प्रशांत किशोर को जनता दल (यू) ने पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया था. बता दें कि प्रशांत नागरिकता संशोधित कानून समेत मोदी सरकार के अन्य फैसलों को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री तथा जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार से पिछले कुछ दिनों से मतभेद सामने आ रहे थे.

जदयू ने पार्टी उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर को बाहर का रास्ता दिखाते हुए उन पर कुमार के खिलाफ ‘अपमानजनक’ शब्दों के इस्तेमाल का तथा पार्टी अनुशासन का पालन नहीं करने एवं जदयू अध्यक्ष द्वारा उन्हें दिये गये सम्मान का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया था.

किशोर के निष्कासन की घोषणा करते हुए जदयू के मुख्य महासचिव के.सी त्यागी ने कहा कि पिछले कुछ समय में इनके आचरण ने साफ कर दिया है कि वे पार्टी के अनुशासन का पालन नहीं करना चाहते और इसके फैसलों तथा कार्यशैली के विरुद्ध काम करते आ रहे हैं. किशोर अकसर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) तथा राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के खिलाफ बोलते रहे हैं.

एयरपोर्ट के रन-वे में पहुंचा सिरफिरा, हेलीकॉप्टर पर पत्थर मारते हुए बोला- ‘देश की सेवा करना चाहता हूं’ और फिर…

भारी सुरक्षा व्यवस्था में सेंध लगाते हुए 25 वर्षीय एक व्यक्ति रविवार को यहां राजा भोज हवाईअड्डे से लगे मध्य प्रदेश सरकार के (स्टेट) हैंगर में घुस गया और एक हेलीकॉप्टर को नुकसान पहुंचा दिया. इसके बाद उसने हवाईअड्डा पर उड़ान भरने को तैयार स्पाइस जेट के एक विमान के आगे खड़े होकर उसे उड़ान भरने से रोक दिया. हालांकि, बाद में उसे पकड़ लिया गया और करीब एक घंटे के बाद विमान ने उदयपुर के लिए उड़ान भरी.
राजाभोज हवाईअड्डे पर तैनात सीआईएसएफ के डिप्टी कमांडेंट वीरेन्द्र सिंह ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘योगेश त्रिपाठी नाम का एक व्यक्ति स्टेट हैंगर में घुस गया। उसने पहले पार्किंग-बे पर हेलीकॉप्टर में तोड़फोड़ की. वह करीब 25 साल का है और स्थानीय निवासी है.”

उन्होंने कहा कि इसके बाद वह राजाभोज हवाईअड्डे पर ‘एप्रोन’ में चला गया और उदयपुर के लिए उड़ान भरने के लिए तैयार स्पाइस जेट विमान के सामने खड़ा हो गया. लेकिन उसे पकड़ लिया गया. सिंह ने बताया कि स्पाइस जेट के इस विमान में 46 यात्री सवार थे.

उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद स्पाइस जेट के इस विमान ने करीब एक घंटे की देरी से उदयपुर के लिए उड़ान भरी. उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि यह व्यक्ति मानसिक रूप से परेशान है. वह जोर-जोर से चिल्ला रहा था कि वह देश की सेवा करना चाहता है. इसके अलावा, ‘‘वह कह रहा था कि मैं कमांडो हूं और अपने स्किल बता रहा हूं.” सिंह ने बताया कि सीआईएसएफ ने बाद में इस व्यक्ति को भोपाल पुलिस को सौंप दिया.

लोकसभा में विपक्षी सांसदों का हंगामा, कहा- गोली मारना बंद करो, देश को तोड़ना बंद करो

नई दिल्ली, : जैसा कि देश में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए), एनआरसी और एनपीआर को लेकर कई विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं, ऐसे में संसद में भी इनपर बहस होने की पूरी संभावना है। विपक्ष आज सीएए, एनपीआर और एनआरसी से जुड़े मुद्दों पर संसद में सरकार को घेरने के लिए तैयार है। कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, वामपंथी दल, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कुछ अन्य पार्टियों ने राज्यसभा में स्थगन नोटिस दिया है, जिसमें सीएए, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) और एनआरसी पर तत्काल चर्चा की मांग की गई है।

राज्यसभा में, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद नियम 267 के तहत NRC पर बहस की मांग कर रहे थे। उपसभापति ने उनकी याचिका खारिज कर दी है। राज्यसभा को दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

लोकसभा में बोलते हुए AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘जामिया के छात्रों पर जुल्म हो रहे हैं। हम जामिया के बच्चों के साथ हैं। सरकार छात्रों के साथ अत्याचार कर रही है।’ ओवेसी ने आगे कहा कि इस सरकार को कोई शर्म नहीं है, वे छात्रों पर गोलियां चला रही हैं। हम जामिया के छात्रों के साथ खड़े हैं। यह सरकार केवल छात्रों पर गोलीबारी, उन पर अत्याचार करने में विश्वास रखती है।

राज्यसभा दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित

-स्पीकर ओम बिरला ने विरोध कर रहे सांसदों से कहा, ‘आपको संसद में सवाल पूछने के लिए भेजा गया है ना की नारे लगाने के लिए।’ हालांकि, तब भी विपक्षी सांसद गोली ना मारो के नारे को बुलंद करते रहे।

-विपक्षी सांसदों ने लोकसभा में ‘भारत बचाओ, हमारा लोकतंत्र बचाओ’ के नारे लगाए और सदन में हंगामा खड़ा किया। सांसद जामिया विश्वविद्यालय और शाहीन बाग में गोलीबारी की घटनाओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

भाजपा नेता अनुराग ठाकुर बोलने के लिए उठे, विपक्षी सांसदों ने लोकसभा में ‘गोरी मारना बंद करो’ के नारे लगाए। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने हाल ही में दिल्ली की एक चुनावी रैली में अपने भाषण में विवादित बयान को हवा दी थी। उन्होंने भीड़ से भड़काऊ नारे लगवाए थे।

-बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के सांसद सतीश चंद्र मिश्रा ने कानून को तत्काल निरस्त करने की मांग करते हुए नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर राज्यसभा में सस्पेंशन ऑफ बिजनेस नोटिस दिया है।

भाजपा सांसद विकास महात्मे ने राज्यसभा में जीरो आवर नोटिस दिया है जिसमें कोरोनावायरस के प्रकोप को रोकने के लिए एहतियाती कदम उठाने की मांग की गई है।

-लोकसभा में कुछ विपक्षी दलों के सांसद हंगामा कर रहे हैं। वे शोर मचाते हुए कहा रहे हैं, ‘गोली मारना बंद करो, देश को तोड़ना बंद करो’

-इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के सांसद पीके कुन्हालीकुट्टी ने जामिया मिलिया इस्लामिया में प्रदर्शनकारियों पर गोली की हालिया घटना और भाजपा सांसदों अनुराग ठाकुर और परवेश वर्मा के बयानों को लेकर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया है।

कांग्रेस के सांसद अधीर रंजन चौधरी,कोडिकुन्निल सुरेश और गौरव गोगोई ने देश में अशांति फैलने के बाद नागरिकता संशोधन अधिनियम पर पुनर्विचार करने के लिए और NRC व NPR की प्रक्रिया को रोकने के लिए लोकसभा में नोटिस दिया है।

दुल्हन बदल गई मामले ने पकड़ा तूल


दरअसल मध्य प्रदेश के भिंड में शादी के दौरान लड़का पक्ष ने दुल्हन बदलने की शिकायत की.

मध्य प्रदेश से एक ऐसी खबर सामने आई है जिसे पढ़कर आप सोच में पड़ जाएंगे कि भला कोई ऐसा करने की सोच भी कैसे सकता है. दरअसल मध्य प्रदेश के भिंड में शादी के दौरान लड़का पक्ष ने दुल्हन बदलने की शिकायत की. लड़का पक्ष का आरोप है कि उन्हें शादी से पहले दूल्हे के पिता को दूसरी दुल्हन दिखाई. परिजनों ने दुल्हन की गोद भराई भी कर दी. 16 जनवरी को शादी हुई तो टीके की रस्म से पहले दुल्हन बदल दी. दूल्हे के परिजन ने दुल्हन बदलने की बात कही तो उनसे कहा गया कि मेकअप से चेहरा बदला हुआ लग रहा होगा.

ऐसे में शादी की सभी रस्में पूरी कर दुल्हन दूल्हे के साथ विदा हुई. घर जाकर दूल्हे के परिजन ने देखा तो वाकई में दुल्हन बदली हुई थी. उन्होंने महिला परामर्श केंद्र में शिकायत की.

एसआई रत्ना जैन ने पड़ताल की. एसआई की पड़ताल के बाद गोहद थाना पुलिस ने दूल्हे के पिता की शिकायत पर दुल्हन के पिता, सहयोगियों सहित उस युवती को आरोपित बनाया है, जिसकी गोद भराई रस्म हुई थी.

गोहद टीआई संजय इक्का ने बताया अटेर के बढ़पुरा-बढ़पुरी गांव निवासी युवक ने रिपोर्ट कर बताया कि दिसंबर में संबंधी के दोस्त गोहद के परमाल वैशांदर की बेटी का रिश्ता बेटे के लिए लेकर आए थे. लड़की का नाम भावना बताया गया.

लड़की पसंद आने पर गोद भराई की रस्म पूरी की गई. 16 जनवरी को टीके की रस्म तय की गई. शादी समारोह में 16 जनवरी को टीके की रस्म से पहले दुल्हन को बदल दिया गया. उसके स्थान पर कोलकाता निवासी युवती को दुल्हन का जोड़ा पहना दिया गया.

टीआई का कहना है दूल्हे के पिता ने बताया कि टीके से पहले उन लोगों को दुल्हन बदले जाने का शक हो गया था. इस पर उन्होंने पूछा तो परमाल वैशांदर, पप्पू टेलर, सत्तार खान ने बताया कि मेकअप से चेहरा बदला हुआ लग रहा होगा. शादी की सभी रस्में पूरी कर दुल्हन को घर ले जाया गया. घर जाकर मालूम हुआ कि दुल्हन वाकई में बदली गई है.

इस पर दूल्हे के पिता ने महिला परामर्श केंद्र में शिकायत की. शिकायत केंद्र प्रभारी एसआई रत्ना जैन ने पड़ताल की तो पाया कि शिकायत सही है. इसके बाद शनिवार शाम को गोहद थाना पुलिस ने आरोपित परमाल वैशांदर, रामगोविंद नामदेव, सत्तार खान और भावना पर धोखाधड़ी करने का केस दर्ज किया है. टीआई का कहना है कि दुल्हन अभी ससुराल में ही है. पुलिस मामले में जांच कर रही है.

ग्‍वालियर मानव तस्‍करी मामले में हो रहे खुलासे


ग्वालियर  15 वर्षीय किशोरी की खरीद फरोख्त के मामले में मानव तस्कर गिरोह के सदस्यों के नाम सामने आते जा रहे हैं। बबली के बाद अब एक राज नाम की महिला का भी जिक्र इस पूरे कांड में सामने आया है। राज ही वह महिला है जिसने खरीदार को बबली से मिलवाया था। उसने 50 हजार रुपए बच्ची को खरीदने वाले से कमीशन भी लिया था। अब पुलिस के पास इसमें 3 लोगों की पहचान हो चुकी है। बबली, राज और एक वह युवक जिसने रेलवे स्टेशन से बच्ची को बबली तक पहुंचाया। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की पड़ताल कर रही है।

थाटीपुर से लापता 15 वर्षीय छात्रा को हरियाणा के कैथल जिले के पनवासा गांव से मुक्त कराने के बाद अब पुलिस इस पूरे कांड की परतें खोलने में लगी है। अभी तक गिरोह के तीन सदस्य सामने आए हैं। पहला वह युवक जिसने स्टेशन पर किशोरी को अकेला देखकर उसकी डिलेवरी बबली को की है। उसे कमीशन क्या मिला यह अभी जांच में चल रहा है। इसके बाद बबली दिल्ली, हरियाणा से लेकर पश्चिम बंगाल तक मानव तस्करी का गिरोह चलाती है। इस बच्ची को हरियाणा पनवासा गांव निवासी राजेश जाट ने खरीदा था। पर राजेश को बबली से मिलवाने वाली हरियाणा की राज नामक महिला थी।

इसने मिलवाने और पूरी डील कराने के बाद 50 हजार रुपए कमीशन लिया था। जैसा पुलिस को राजेश ने बताया है। बताते हैं यह राज भी हरियाणा की मानी हुई तस्कर है। इसका काम ही ऐसी बच्चियों की डील कराना है। फिलहाल पुलिस की लिस्ट में 3 नाम आ चुके हैं। इनकी तलाश शुरू कर दी गई है।

बबली के मोबाइल की सीडीआर से खुलेंगे राज

पुलिस ने बबली के बारे में और पता लगाने के लिए उसके नंबर की सीडीआर मांगी है। दो दिन में सीडीआर पुलिस के हाथ आ जाएगी। इसके बाद पुलिस एक-एक कॉल को स्कैन कर उसके गिरोह के सदस्यों का पता लगाएगी।

आरोपित जेल गया

पुलिस ने बच्ची को खरीदने वाले राजेश जाट को शुक्रवार को रिमांड पूरी होने के बाद कोर्ट में पेश किया था। जहां उसकी जमानत नहीं मांगने पर उसे जेल भेज दिया गया है। जबकि पीड़िता का मेडिकल भी कराया जा रहा है।