गिरफ्तार किए गए DSP दविंदर सिंह से जम्मू-कश्मीर पुलिस पदक वापस लिया गया

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर प्रशासन (Jammu-Kashmir Administration) ने आतंकवादियों (Terrorists) को जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से बाहर निकलने में मदद करने के आरोप में गिरफ्तार पुलिस उपाधीक्षक दविन्दर सिंह (Davinder Singh) को बहादुरी के लिए दिया गया शेर-ए-कश्मीर पुलिस पदक (Sher-e-Kashmir Police Medal) बुधवार को ‘‘वापस’’ ले लिया.

सरकारी आदेश (Government Order) के अनुसार, निलंबित अधिकारी का कदम विश्वासघात (Disloyalty) के बराबर है और उससे बल की छवि खराब हुई है. आदेश के अनुसार, सिंह को 2018 मे पुलिस पदक (Police Medal) दिया गया था.

हिजबुल के दो आतंकियों को घाटी पार कराते हुए किया गया गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर की पुलिस ने शनिवार को सर्च ऑपरेशन (Search Operation) के दौरान दो आतंकी और पुलिस ऑफिसर को जम्मू के कुलगाम ज़िले में गिरफ्तार किया था. ऑफिसर और आतंकी को उस वक्त पकड़ा गया, जब ये तीनों एक साथ एक कार में सवार होकर कहीं जा रहे थे. पुलिस सूत्रों के मुताबिक हिजबुल मुजाहिदीन (Hizbul Mujahideen) के दो मोस्ट वांटेड आतंकी पीछे की सीट पर बैठा था, जबकि कार की ड्राइविंग सीट पर DSP दविंदर सिंह बैठे थे. पकड़े गए आतंकियों में हिजबुल का टॉप कमांडर नवीद बाबू भी शामिल है. वहीं दूसरे आतंकी की पहचान अल्ताफ के तौर पर हुई है. DSP के घर से छापेमारी के दौरान दो AK-47 राइफल्स और ग्रेनेड मिले हैं.

कौन हैं DSP दविंदर सिंह?

DSP दविंदर सिंह इन दिनों श्रीनगर एयरपोर्ट (Srinagar Airport) पर तैनात थे. इससे पहले वो जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu-Kashmir Police) में एंटी हाईजैकिंग के सदस्य थे. इसके अलावा ये पुलिस ऑफिसर स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) में इंस्पेक्टर रहे हैं. SOG रहते हुए भी उन्हें काफी प्रमोशन मिले थे. सफल एंटी-टेरर ऑपरेशन के बाद उन्हें DSP बनाया गया था. पिछले साल उन्हें 15 अगस्त को राष्ट्रपति से मेडल भी मिला था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *