भारत में मिला एचआईवी का नया खतरनाक वायरस

आगरा। भारत में एचआईवी के नए खतरे ने दस्तक दे दी है। देश में एचआईवी के नए जानलेवा वायरस से एड्स फैल रहा है। यह नया खतरनाक वायरस पहले से एड्स का संक्रमण कर रहे एचआईवी वन और टू से मिलकर बना है। घाना के बाद भारत दूसरा देश है जहां पर एचआईवी का नया वायरस मिला है। आगरा स्थित केएनसीसी-फतेहाबाद में एसोसिएशन ऑफ फिजीशियन ऑफ इंडिया के 75वें वार्षिक सम्मेलन (एपीकॉन) में पद्मश्री भारत की एड्स विशेषज्ञ डॉ. अलका देशपांडे ने नए वायरस की जांच, इलाज और रोकथाम को लेकर एक विस्तृत रिपोर्ट पेश की।

नौ जनवरी तक चलने वाली एपीकॉन में तीसरे दिन बुधवार को जेजे हॉस्पिटल मुंबई के मेडिसिन विभाग की पूर्व विभागाध्यक्ष और एड्स मरीजों के लिए शुरू किए गए एंटी रिट्रो वायरल थैरेपी (एआरटी) सेक्शन की पूर्व हेड डॉ. अलका देशपांडे ने बताया कि भारत में एड्स रोगी 30 साल तकअच्छी जिंदगी जी रहे हैं। इन सभी मरीजों में एचआईवी का संक्रमण एचआईवी वन (ह्‌यूमन इम्यूनो डिफिशियंसी वायरस) और एचआईवी टू से फैल रहा था। इन दोनों केस में एआरटी के बहुत अच्छे नतीजे सामने आए हैं। लेकिन, अब एचआईवी का नया वायरस संक्रमण फैला रहा है। यह वायरस एचआईवी वन और टू दोनों से मिलकर बना है।

इस वायरस के अब तक 99 सर्कुलेटिंग रीकांबीनेंट फॉर्म सामने आ चुके हैं। घाना में एचआईवी के मरीजों में 66 फीसद नया वायरस मिल रहा है। भारत में भी बड़ी संख्या में नए वायरस से संक्रमित मरीज पाए जा रहे हैं। मगर, यहां एचआईवी वायरस की जांच के लिए वायरोलॉजी लैब नहीं है। यह पहले से ज्यादा घातक है और इसमें मरीज की जान बचाना ज्यादा मुश्किल होगा।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने इस मौके पर जीका, इबोला, निपाह व यलो फीवर फैलाने वाले वायरस को लेकर अलर्ट किया है। एपीकॉन में डॉक्टरों से इन वायरस से फैलने वाली बीमारियों के लक्षण, रोकथाम और इलाज पर काम करने के लिए कहा है।

क्या दिग्विजय सिंह ने अपने एक ब्यान से ज्योतिरादित्य सिंधिया को निशाने पर लिया है.


भोपाल  मध्यप्रदेश  के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह  ने कुछ कांग्रेसियों की आत्मा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की विचारधारा प्रवेश कर जाने की बात कही है. मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल  में कांग्रेस के सेवादल के प्रशिक्षण शिविर में हिस्सा लेने पहुंचे दिग्विजय सिंह ने बुधवार को प्रशिक्षणार्थियों को संबोधित करते हुए कहा, “कांग्रेस ‘सर्वधर्म समभाव’ के विचार को लेकर चलती है, उसे लेकर ही आगे बढ़ना होगा, हमें कांग्रेस के अंदर ऐसे लोगों को खोजना होगा, जिनकी आत्मा में संघ की विचारधारा प्रवेश कर गई है.”
पूर्व मुख्यमंत्री सिंह के बयान को पिछले दिनों कुछ कांग्रेस नेताओं द्वारा धारा 370 (Article 370) और केंद्र सरकार के अन्य फैसलों का समर्थन करने वालों से जोड़कर देखा जा रहा है. उनमें प्रमुख हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia), जिन्होंने धारा 370 को खत्म किए जाने का समर्थन किया था. सिंधिया ने अपने बयान में कहा था, “जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को लेकर उठाए गए कदम और भारत देश में उनके पूर्ण रूप से एकीकरण का मैं समर्थन करता हूं. संवैधानिक प्रक्रिया का पूर्ण रूप से पालन किया जाता तो बेहतर होता, साथ ही कोई प्रश्न भी खड़े नहीं होते, लेकिन ये फैसला राष्ट्रहित में लिया गया है और मैं इसका समर्थन करता हूं.”

➖➖➖➖ ▪प्रख्यात फिल्म पत्रकार जय सिंह रधुवंशी का सम्मान अमिताभ बच्चन करेंगे.


➖➖➖➖➖➖➖
मुंबई। पिछले 43 वर्षों से जय सिंह रघुवंशी (जय) फिल्म पत्रकारिता एवं पी. आर. करते आ रहे है.इनके फिल्म जगत मे योगदान के लिए आगामी 22 जनवरी को किया जायेगा .
जय सिंह रधुवंशी ने 300 से अधिक फिल्मों का प्रमोशन भी किया है। देश के अनेक समाचार पत्रों में आपने फिल्मी इन्टरव्यू कई कलाकारों के लिखते आए है। जैसे दैनिक नवभारत टाईम्स, दैनिक भास्कर, दैनिक राजस्थान पत्रिका, नईदुनिया,टिव्यून, नवभारत, स्वदेश, फ़िल्म लोक, स्पूतनिक, लोकमत, पावर आफ फैशन मेगज़ीन, अग्नि ब्लास्ट, आदि में3000से भी अधिक लेख प्रकाशित हुए हैl
जय सिंह रधुवंशी इन्दोर के निवासी है ओर फिल्म पत्रकार के रूप मे इन्होनें प्रतिष्ठा कर्मठ योगदान से प्राप्त की है.अनेकों सम्मान से इन्हें नवाजा गया है.
वर्तमान मे म.प्र. मे अनेकों फिल्मों, टी.वी.सीरियलों, वेब सीरीजों, शाट फिल्मों का निर्माण हो रहा है इन मे भी आपका योगदान जारी है.
समस्त पत्रकारों, गणमान्य नागरिकों ने इन्हें बधाई प्रदान की जा रही है.
▪▪▪▪▪▪▪

सोशल मीडिया कान्फ्रेंस 10जनवरी को जवलपुर मे.

डिजीटल मीडिया के पत्रकार सामिल होगे.

जवलपुर।सोशल मीडिया फाउंडेशन(रजि.)द्धारा सोशल मीडिया कान्फ्रेंस 10जनवरी को इन्डियन कॉफी हाउस,सुपर मार्केट,जवलपुर मे अपरान्ह 4से 5.30बजे तक आयोजित की गई है।इस कान्फ्रेंस की अध्यक्षता फाउंडेशन के नेशनल प्रसीडेंट बलराम शर्मा करेंगे, एवं एगजूटिव प्रसीडेंट प्रदीप शिवहरे ‘जोनू’ विशिष्ठ अतिथि होगे.जवलपुर के डिजीटल मीडिया के वरिष्ठ पत्रकार मुख्यअतिथि रहेंगे ।
प्रदेश कार्यालय प्रभारी अंजली ने जारी प्रेस नोट मे बताया कि उपरोक्त कान्फ्रेंस मे वेब न्यूज पोर्टल, यूट्यूब चैनल के पत्रकारो के हित मे सरकार द्धारा बनाये गये नियम,नीति के साथ अधिमान्यता के नवीन नियम, विज्ञापन के विषय मे भी विस्तार से बातचीत होगी।
कान्फ्रेंस मे समस्त डिजिटल मीडिया के पत्रकारों को आमंत्रित किया है।
➖➖➖➖➖
■■■■■■■■■■■■■

शहनाई के जादूगर बिस्मिल्लाह खां के नाम पर खुलेगा पहला सांस्कृतिक विश्वविद्यालय

बिहार के कला और संस्कृति मंत्री प्रमोद कुमार ने पटना में बताया कि बिहार के दिग्गज कलाकारों ने जिस तरह से विश्वभर में नाम रोशन किया है ऐसे में हम सबका दायित्व है कि इन विभूतियों के लिए कुछ करें.

पटना. बिहार सरकार ने विश्व विख्यात शहनाई वादक बिस्मिल्लाह खां (bismillah khan) के नाम पर बक्सर के डुमरांव में सांस्कृतिक विश्वाविद्यालय (Cultural University) खोलने का निर्णय किया है. इस प्रस्तावित यूनिवर्सिटी की स्थापना कला और संस्कृति विभाग की पहल पर होगी. इसके लिए तकरीबन 10 एकड़ जमीन का अधिग्रहण करने का प्रस्ताव दिया गया है.

दरअसल सरकार मशहूर कलाकारों के बारे मे भावी पीढ़ी को अवगत कराना चाहती है. इसी मकसद से इस विश्विद्यालय की स्थापना की जाएगी. इसमें डॉक्यूमेंट्री फिल्म से लेकर उनकी स्मृतियों  को  संजोने के लिए बहुत सारी गतिविधियों को मूर्त रूप देने की योजना है.

बिहार के कला और संस्कृति मंत्री प्रमोद कुमार ने पटना में बताया कि प्रथम चरण में सांस्कृतिक विश्विद्यालय की स्थापना की जाएगी. मंत्री ने  बताया कि बिहार के दिग्गज कलाकारों ने जिस तरीक़े से विश्वभर में नाम रोशन किया है ऐसे में हम सबका दायित्व है कि इन विभूतियों के लिए कुछ करें.

शहनाई के जादूगर

शहनाई की गूंज केवल अपने देश में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में पहुंचाने का श्रेय शहनाई के जादूगर भारत रत्न उस्ताद बिस्मिल्लाह खान को जाता है. शहनाई के जादूगर माने जाने वाले उस्ताद बिस्मिल्लाह खान के संगीत की उपलब्धियों को देखते हुए भारत सरकार ने 2001 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया. 1980 में पद्म विभूषण, 1968 में पद्म भूषण और 1961 में पद्मश्री सम्मान से भी उस्ताद को नवाजा गया था.

बता दें कि बिस्मिल्लाह खां का जन्म 21 मार्च 1916 को बिहार के डुमरांव में एक बिहारी मुस्लिम परिवार में हुआ था. बिस्मिल्लाह खां का बचपन का नाम क़मरुद्दीन था. वे अपने माता-पिता की दूसरी संतान थे. चूंकि उनके बड़े भाई का नाम शमशुद्दीन था इसलिए उनके दादा रसूल बख्श ने कहा ‘बिस्मिल्लाह’ जिसका मतलब था ‘अच्छी शुरुआत’.

डोनाल्ड ट्रंप के इस फैसले से घबराया भारत

खाड़ी क्षेत्र में अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव के जद में ईराक भी आ चुका है। ईराक की संसद ने एक प्रस्ताव पारित कर अमेरिकी सेना को वापस जाने का आदेश दे दिया है। इसके जवाब में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईराक पर भी अभी तक का सबसे बड़ा प्रतिबंध लगाने का ऐलान कर दिया है। दोनो देशों के बीच हालात बिगड़ने से सबसे ज्यादा भारत पर असर पड़ने की आशंका सरकार को सताने लगी है।

इसके पीछे वजह यह है कि अभी भारत सबसे ज्यादा कच्चा तेल ईराक से ही खरीद रहा हैं और अगर अमेरिकी प्रतिबंध लागू होता है या ईराक में तेल उत्पादन पर असर पड़ता है। भारत के दो प्रमुख तेल आपूर्तिकर्ता देश वेनेजुएला व ईरान पहले से ही संकट में है। ईराक पर संकट गहराता है तो यह देश की अर्थव्यवस्था के लिए बेहद चिंताजनक खबर होगी। सोमवार को शेयर बाजार की मंदी और मुद्रा बाजार में रुपये की कीमत में आइ गिरावट के लिए भी मुख्य तौर पर इसी चिंता को वजह बताया जा रहा है।

भारतीय तेल कंपनियों ने ईराक से तेल खरीदने का किया सौदा

तेल कंपनियों के अधिकारियों का कहना है कि ईरान व अमेरिका के बीच युद्ध जैसे हालात बनने के बावजूद हमें तेल आपूर्ति को लेकर बहुत ज्यादा चिंता नहीं है क्योंकि भारत अभी ईरान से कोई तेल नहीं खरीद रहा है। दूसरी तरफ ईराक वर्ष 2018-19 में सबसे बड़ा तेल आपूर्तिकर्ता देश था और इस साल भी रहने के आसार है। हालांकि अभी तक सरकारी व निजी क्षेत्र की तेल कंपनियों को ईराक से होने वाली तेल आपूर्ति में भी कोई बाधा नहीं आई है। हकीकत में पिछले तीन-चार दिनों के दौरान भी भारतीय तेल कंपनियों ने ईराक से तेल खरीदने का सौदा किया है। वर्ष 2019-20 के पहले छह महीनों में भारतीय तेल कंपनियों ने ईराक से 2.60 करोड़ टन कच्चे तेल की खरीद की है। वर्ष 2017-18 से ही ईराक भारत का सबसे बड़ा तेल आपूर्तिकर्ता देश बना हुआ है। वर्ष 2018-29 में 4.6 करोड़ टन क्रूड खरीदा गया था।

क्रूड ऑयल की कीमत 5 फीसद बढ़ी

उक्त अधिकारियों के मुताबिक पेट्रोलियम मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और वित्त मंत्रालय के बीच लगातार संपर्क बना हुआ है। अभी देश के समक्ष तेल की आपूर्ति को निर्बाध रखने को सुनिश्चित करना है। कीमतों में हो रही वृद्धि अभी दूसरी वरीयता पर है। सनद रहे कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में पिछले दो कारोबारी दिनों में क्रूड की कीमत तकरीबन 5 फीसद बढ़ी है और सोमवार को बेंट क्रूड की कीमत 69.62 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंची है।

भारत के लिए ज्यादा चिंता की बात इसलिए भी है कि वह जिन छह देशों से सबसे ज्यादा तेल खरीदता था उनमें से तीन देशों (वेनेजुएला, ईरान और ईराक) संकट में फंस चुके हैं। ईरान से भारत तेल खरीदना बंद कर चुका है, वेनेजुएला के हालात की वजह से उससे तेल खरीद एक तिहाई रह गया है। ईराक पर संकट मंडरा रहा है। भारत के पास रूस, अमेरिका और नाइजीरिया का विकल्प बचता है।

नाइजीरिया आपातकालीन परिस्थितियों में एक विश्वस्त आपूर्तिकर्ता नहीं माना जाता। ऐसे में रूस और अमेरिका ही बचते हैं। पिछले वर्ष भारत ने अमेरिका से 62 लाख टन क्रूड खरीदा था जबिक अप्रैल-सितंबर, 2019 में ही 54 लाख टन की खरीद हो चुकी है और लगातार नए सौदे हो रहे हैं। रूस से अचानक भारत ज्यादा क्रूड नहीं खरीद सकता है।

मैडम का तालीबानी आदेश बालिकाओं को भूख से तड़पाया.


शिवपुरी खबर पोहरी के एक छात्रावास से बालिकाओ की भूख से तडपने की आ रही हैं। एक छात्रावास की अधिक्षिका की शिकायत बच्चो ने क्या कर दी। मेंडम ने जेलर का रूप धारण कर दिया और अपने रसोईयो को तालीबानी फरमान जारी कर दिया कि आज से इन छ़ात्राओ का खाना बंद। ऐसा आदेश देकर मेडम छात्रावास से चली गई।

बताया जा रहा हैं कि शाम तक छात्राओ का हाल भूख से तडप—तडप कर बेहाल हो गया। किसी छात्रा के पास एसडीएम पोहरी पल्लवी वैदय का मोबाईल नंबर था उसने एसडीएम मेडम को फोन पर पूरी जानकारी दी और कहा कि हम सुबह से भूखे हैं मेडम ने हमारा खाना बंद करवा दिया हैं हमने मेंडम की शिकायत जनसुनवाई में की थी।

बताया जा रहा हैं कि शासकीय कन्या अनुसूचित जाति छात्रावास भटनावर की छात्राओ ने किसी मामले को लेकर छात्रावास की अधीक्षिका राजमुमारी कोली की शिकायत कलेक्टर मेंडम को थी। इसी बात से गुस्सा होकर अधीक्षिका ने छात्राओ का खाना बंद कर दिया। बताया गया है कि इस छात्राबास में 20 छात्राए रहती है।

छात्राओ की जानकारी पर एसडीएम पोहरी ने पोहरी में खाने के पैकेट बनबाए। जिन्हें लेकर वह शाम को छात्राबास में पहुंची। जहां भूख से तडप रही छात्राओ को अपने साथ ही खाना खिलाया। बताया जा रहा है एसडीएम पोहरी ने अधीक्षिका से संपर्क करने की कोशिश भी की लेकिन संपर्क नही हो सका। अब इस मामले में अधीक्षका की इस लापरवाही को लेकर जांच प्रतिबेदन बनाकर शिवपुरी कलेक्टर को भेज दिया गया हैंं।

इनका कहना है
रसोईए का कहना था कि मैडम में छात्राओं को खाना देने की मना कर दिया था। जिसके चलते उसने खाना नहीं बनाया। इसकी सूचना जैसे ही हमें मिली हम पोहरी से खाने के पैकेट बनबाकर लेकर गए। जहां पहुंचकर हमने छात्राओं को खाना खिलाया। उसके बाद मेंने मौके का पंचनामा बनबाकर जांच प्रतिवेदन कलेक्टर मैडम के पास भेज दिया है। साथ ही रसोईए को कहकर आए है कि कल छात्राओं को खाना देने की जिम्मेदारी है। उसका जो भी खर्चा होगा वह स्वयं वहन करेंगी। इस छात्रावास में 20 छात्राएं है। जिसपर से हम 25 पैकेट बनबाकर ले गए थे। सभी छात्राओं को भरपेट भोजन कराकर आए है।
पल्लवी वैद्य,एसडीएम पोहरी। 

शुक्रवार को पौष पूर्णिमा और मांद्य चंद्र ग्रहण; शुरू होंगे माघ मास के स्नान, इस दिन करें विष्णुजी की पूजा


पूर्णिमा पर भगवान सत्यनारायण की कथा करने की और इस तिथि पर पवित्र नदी में स्नान करने की परंपर

 शुक्रवार, 10 जनवरी को पौष मास की अंतिम तिथि पूर्णिमा है। इस दिन मांद्य चंद्र ग्रहण भी होगा। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार इस ग्रहण का सूतक नहीं रहता है और इसका धार्मिक महत्व भी नहीं है। इस वजह से शुक्रवार और पूर्णिमा के योग में पूरे दिन पूजा-पाठ किया जा सकेगा। पौष मास की पूर्णिमा से माघ मास के स्नान भी शुरू हो जाते हैं। माघ मास में पवित्र नदियों में स्नान करने की परंपरा पुराने समय से चली आ रही है। जानिए शुक्रवार को कौन-कौन से शुभ काम किए जा सकते हैं…हर माह पूर्णिमा तिथि पर भगवान सत्यनारायण की कथा करने का विशेष महत्व है। सत्यनारायण भगवान श्रीहरि का ही एक स्वरूप है। घर की सुख-समृद्धि के लिए इनकी विशेष पूजा पूर्णिमा पर की जाती है। आप स्वयं कथा का पाठ कर सकते हैं या किसी ब्राह्मण से भी करवा सकते हैं। ऐसा करने से घर की पवित्रता और सकारात्मकता बनी रहती है।शनिवार, 11 जनवरी से माघ मास शुरू हो जाएगा। इस माह में पवित्र नदियों में स्नान करने की परंपरा प्रचलित है। शुक्रवार को पौष माह की पूर्णिमा से माघ मास के स्नान शुरू हो जाएंगे। पवित्र नदियों में स्नान कर जरूरतमंद लोगों को धन और अनाज का दान करना चाहिए। इस समय ऊनी वस्त्रों का दान भी कर सकते हैं।शुक्रवार और पूर्णिमा के योग में देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु का पूजन करें। पूजा में दक्षिणावर्ती शंख से भगवान का अभिषेक करें। इसके लिए केसर मिश्रित दूध का उपयोग करना चाहिए।पूर्णिमा पर बाल गोपाल की भी पूजा करनी चाहिए। पूजा में माखन-मिश्री का भोग लगाएं। भोग में तुलसी के पत्ते भी अवश्य रखें।श्रीराम के परम भक्त हनुमानजी के मंदिर में दीपक जलाकर हनुमान चालीसा का पाठ करें। अगर आपके पास समय पर्याप्त हो तो सुंदरकांड का पाठ करें। आप चाहें तो ऊँ ऐं हनुमते रामदूताय नमः मंत्र का जाप भी कर सकते हैं।

शुक्रवार, 10 जनवरी को साल 2020 का पहला चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। यह चंद्र ग्रहण शुक्रवार, 10 जनवरी की रात 10 बजकर 38 मिनट से शुरू होकर रात के 2 बजकर 42 मिनट तक रहेगा। इस चंद्र ग्रहण की अवधी 4 घंटे से अधिक की रहेगी और यह भारत में भी दिखाई देगा। इस चंद्र ग्रहण को लेकर लोग कहीं तरह की दुविधा में हैं। कुछ लोगों का कहना है कि चंद्र ग्रहण लगेगा और कुछ का कहना है चंद्र ग्रहण नहीं लगेगा। आज हम आपकी इस दुविधा को दूर करते हैं…

आमतौर पर चंद्र ग्रहण से 9 घंटे पहले सूतक काल लग जाता है। सूतक काल में सभी मंदिरों के कपाट बंद कर दिए जाते हैं और ग्रहण के खत्म हो जाने के बाद ही मंदिरों के कपाट खोले जाते हैं। परंतु इस बार यह चंद्र ग्रहण नहीं है यह केवल उपछाया चंद्र ग्रहण है। जिस वजह से मंदिरों के कपाट भी खुले रहेंगे और धार्मिक कार्यों में किसी तरह की कोई रुकवाट भी नहीं आएगी क्योंकि भारतीय ज्योतिशास्त्र और पंचांग के अनुसार उपछाया चंद्र ग्रहण को चंद्र ग्रहण की श्रेणी में नहीं रखा जाता है। आइए, अगली स्लाइड्स में आपको ज्योतिष के नज़र से उपछाया चंद्र ग्रहण के बारें में बताते है

उपछाया चंद्र ग्रहण ज्योतिष नजर से ज्योतिषशास्त्र के अनुसार चंद्र ग्रहण से पहले चंद्रमा पृथ्वी की उपछाया में प्रवेश करता है जिसे चंद्र मालिन्य कहा जाता है। इसके उपरांत चांद पृथ्वी की वास्तविक छाया भूभा में प्रवेश करता है। जब चांद पृथ्वी की वास्तविक छाया भूभा में प्रवेश करता है तब चंद्र ग्रहण लगता है। लेकिन इस बार चंद्रमा उपछाया में प्रवेश करने के बाद उपछाया संकु से ही बहार निकल जाएगा और भूभा में प्रवेश ही नहीं करेगा, जिस वजह से उपछाया के समय चंद्रमा का विंभ केवल धुंधला पड़ेगा।  चंद्र ग्रहण के समय चंद्रमा का विंभ वैसे पूरा काला हो जाता है परंतु इस बार केवल धुंधलापन नजर आयेगा.