सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अर्थव्यवस्था को लेकर एक बार फिर सरकार पर निशाना साधा

नई दिल्ली: बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अर्थव्यवस्था को लेकर एक बार फिर सरकार पर निशाना साधा है. अक्सर मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों की आलोचना करने वाले स्वामी ने कहा है कि जब तक भारत 10 प्रतिशत की विकास दर को लक्षित नहीं करता, तब तक वह अगले 10 सालों में बेरोजगारी को दूर करने में सक्षम नहीं होगा. स्वामी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की नीतियों की भी आलोचना की.

अपने बयानों को लेकर अक्सर विवाद पैदा करने वाले स्वामी ने कहा, ”भारत डबल डिजिट में ग्रोथ कर सकता है क्योंकि इसकी उच्च बचत दर और एक बड़ी युवा आबादी है. उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को रीसेट करने की आवश्यकता है.” स्वामी ने कहा कि सरकार ने पिछले पांच सालों में मैक्रो-इकोनॉमिक प्रणाली को गड़बड़ कर दिया है.

सुब्रमण्यम स्वामी ने बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार को व्यापक आर्थिक मुद्दे से निपटने के लिए दोषी ठहराया और कहा कि अर्थव्यवस्था को चलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कई लोगों को लाया गया, लेकिन उन्हें इसके बारे में कोई जानकारी नहीं थी. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बारे में पूछे जाने पर स्वामी ने कहा, सीतारमण के साथ भी यही समस्या जारी है. उन्होंने सरकार के बैंकों के विलय और कॉर्पोरेट टैक्स की दर को कम करने के फैसले के बारे में भी आलोचना की.

बता दें कि इससे पहले भी सुब्रमण्यम स्वामी ये दावा कर चुके हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री को अर्थव्यवस्था की जानकारी नहीं है. हार्वर्ड से अर्थशास्त्र विषय में पीएचडी करने वाले और वहां यह विषय पढाने वाले स्वामी अक्सर सरकार की आलोचना करते रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!