वाराणसी: मालिक की हत्या के बाद कई घंटे तक शव के पास बैठा रहा मोर

वाराणसी 
इंसान तो इंसान, पशु-पक्षियों में भी काफी संवदेना होती है। रिश्‍तों को वह भी समझते और निभाते हैं। ऐसा ही एक वाकया मंगलवार को काशी हिन्‍दू विश्‍वविद्यालय (बीएचयू) में देखने को मिला। यहां एक चाय विक्रेता की हत्‍या के बाद उसके शव के पास पालतू मोर कई घंटे तक बैठा रहा। इस दौरान सुरक्षाकर्मी डंडा पटकते रहे, लेकिन वह घटनास्थल से हटा नहीं।बीएचयू कैंपस में आयुर्वेद विभाग के पास चाय की दुकान चलाने वाले रामजतन साहनी (65) की सोमवार देर रात सोते समय अज्ञात बदमाशों ने ईंट से सिर कूचकर हत्‍या कर दी। रामजतन का पालतू मोर सुबह ही दुकान के बाहर पहुंचा तो चारपाई पर पड़ी लाश के पास बैठा रहा। 

सुरक्षाकर्मी करते रहे कोशिश, नहीं हटा मोर 
अपने मालिक की मौत से दुखी मोर काफी देर तक यहीं बैठा रहा। इस दौरान सुरक्षाकर्मियों ने मोर को हटाने के लिए कई बार डंडा पटका, लेकिन मोर पर इसका कोई असर नहीं हुआ। बाद में जब पुलिस ने शव कब्‍जे में लेकर पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेजा तब मोर उड़कर कहीं चला गया। 

पक्षियों से था बहुत लगाव 
बीएचयू के लोग बताते हैं कि रामजतन को पशु-पक्षियों से काफी लगाव था। हर दिन मोर के साथ ही कई पक्षी उनकी दुकान पर दाना-पानी के लिए आते रहते थे। रामजतन इन्‍हें बड़े प्रेम से ब्रेड और नमकीन खिलाते थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!