क्या देश में फिर से पैर फैला रहा स्वाईन फ्लु.

क्या होता है स्वाइन फ्लू

स्वाइन फ्लू श्वसन तंत्र से जुड़ी बीमारी है, जो ए टाइप के इनफ्लुएंजा वायरस से होती है। इसे 1919 में एक महामारी के रूप में मान्यता दी गई थी। स्वाइन फ्लू का कारण एच1एन1 वायरस है। इसकी शुरुआत सुअरों से हुई थी। इसके लक्षणों में बुखार, खांसी, गले में खराश, ठंड लगना, कमजोरी और शरीर में दर्द आदि हैं। इससे बचने के लिए साफसफाई पर ध्यान देने की विशेष जरूरत होती है।

लक्षण

स्वाइन फ्लू का उपचार

बरतें अतिरिक्त सावधानी

स्वाइन फ्लू एक संक्रामक बीमारी है, जो छींकने, खांसने, छूने आदि से फैलती है। इसके वायरस स्टील, प्लास्टिक में 24 से 48 घंटे, कपड़े और पेपर में आठ से 12 घंटे, टिश्यू पेपर में 15 मिनट और हाथ में 30 मिनट तक सक्रिय रहते हैं। इस वायरस को खत्म करने के लिए डिटर्जेंट, अल्कोहल, ब्लीच या साबुन का उपयोग किया जा सकता है।

भारत में एच1एन1 (स्वाइन फ्लू) वायरस फिर पैर फैला रहा है। आए दिन देश में इससे प्रभावित लोगों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल की एक रिपोर्ट में 2012 से लेकर अब तक इससे प्रभावित लोगों के आंकड़े पेश किए गए हैं। सर्वाधिक प्रकोप के वर्ष 2015 और 2017 के बाद अब 2019 में फिर से एक बार इसके मामलों में बढ़ोतरी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!