अचानक संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन में पहुंचे डोनाल्ड ट्रंप, सुना पीएम मोदी का भाषण


संयुक्त राष्ट्र. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सोमवार को बिना किसी निर्धारित कार्यक्रम के संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन  में पहुंचे. जहां उन्होंने जलवायु परिवर्तन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  का भाषण सुना. डोनाल्ड ट्रंप का इस सम्मेलन में हिस्सा लेने का कोई कार्यक्रम नहीं था. राष्ट्रपति ने धार्मिक आजादी संबंधी कार्यक्रम के लिए रवाना होने से पहले दस मिनट तक ध्यान से भाषण सुना. जलवायु सम्मेलन संयुक्त राष्ट्र महासभा  का हिस्सा है और उसमें सामूहिक राष्ट्रीय आकांक्षा में एक लंबी छलांग लगाने पर चर्चा करने की योजना है.

डोनाल्ड ट्रंप बार बार वैश्विक तापमान के कृत्रिम कारणों पर संपूर्ण वैज्ञानिक सहमति बनने के बारे में बार बार संदेह प्रकट कर चुके हैं. उन्होंने ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन में कमी लाने पर केंद्रित अंतरराष्ट्रीय समझौते से अमेरिका को अलग कर लिया है.

पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप की दोस्ती कई मौकों पर जाहिर होती रही है.

पीएम मोदी ने कहा आदतों में बदलाव लाने की जरूरत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिहाज से आदतों में बदलाव लाने के लिए एक वैश्विक जन आंदोलन की जरूरत बताई और भारत के गैर-परंपरागत ईंधन उत्पादन के लक्ष्य को दोगुने से अधिक बढ़ाकर 400 गीगावाट तक पहुंचाने का संकल्प व्यक्त किया.

पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण में घोषणा की थी कि पेरिस जलवायु समझौते  के तहत अपनी प्रतिबद्धता का पालन करते हुए भारत 175 गीगावाट अक्षय ऊर्जा का उत्पादन करेगा.

Howdy Modi में ट्रंप ने दिया था भाषण

पीएम मोदी ने सोमवार को घोषणा की कि भारत सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, पनबिजली जैसे गैर-परंपरागत ईंधन के उत्पादन में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाएगा. उन्होंने कहा, ‘‘2022 तक हम अपनी अक्षय ऊर्जा उत्पादन की क्षमता को 175 गीगावाट के लक्ष्य से बहुत आगे 400 गीगावाट तक ले जाएंगे.’’

एक दिन पहले ही मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ रविवार को ह्यूस्टन में ‘हाऊडी मोदी’ नामक भव्य समारोह में मंच साझा किया था और आतंकवाद से लड़ने का समान दृष्टिकोण साझा करते हुए दोनों ने मित्रतापूर्ण संबंध झलकाए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!