ह्यूस्टन में हाउडी मोदी की धूम रही, यादगार पलों को दुनिया याद रखेगी

ह्यूस्टन
अमेरिका के टेक्सस का ह्यूस्टन शहर। 22 सितंबर की सुबह (स्थानीय समयानुसार) यहां का एनआरजी स्टेडियम करीब 50,000 भारतीय-अमेरिकियों से ठसाठस भरा हुआ था। ‘हाउडी मोदी’ के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप आने वाले थे। इस ऐतिहासिक लम्हे का इंतजार हो रहा था। मंच पर अमेरिका के तमाम राज्यों के गवर्नर और अमेरिकी सांसद भारत-अमेरिका संबंधों की नई ऊंचाई का खुद गवाही दे रहे थे। सांसदों में रिपब्लिकन भी थे और डेमोक्रैट्स भी। …जब स्टेडियम पहुंचे पीएम मोदी

भारत में रात के साढ़े 9 बज रहे थे। ‘हाउडी मोदी’ के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप का बेसब्री से इंतजार किया जा रहा था। करीब 10 मिनट बाद प्रधानमंत्री मोदी स्टेडियम पहुंचते हैं। उनके दस्तक के साथ ही स्टेडियम में लोगों का जोश और उत्साह सातवें आसमान पर चढ़ जाता है। पीएम मंच पर आते हैं और वहां मौजूद हजारों भारतीय-अमेरिकियों का झुककर सलाम करते हैं। वह मंच पर बारी-बारी से अमेरिकी सांसदों और गवर्नरों से मुलाकात करते हैं। अमेरिकी नेता गर्मजोशी से भारतीय प्रधानमंत्री का इस्तकबाल करते हैं। स्वागत के बाद ह्यूस्टन के मेयर सिल्वेस्टर टर्नर ने पीएम मोदी को ह्यूस्टन शहर की प्रतीकात्मक चाबी भेंट की, जो देश की उन जगहों में से एक है जहां भारतीय-अमेरिकी समुदाय की संख्या बहुत ज्यादा है।

ट्रंप को विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने किया रिसीव
पीएम मोदी के आने के बाद अब सभी को इंतजार है अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप का। थोड़ी देर में ट्रंप का काफिला एनआरजी स्टेडियम पहुंचता है। गेट पर विदेश मंत्री एस. जयशंकर अमेरिकी राष्ट्रपति का स्वागत के लिए मौजूद रहते हैं। दोनों हाथ मिलाते हैं और कुछ सेकंड आपस में बात करते हैं। यहां से ट्रंप स्टेडियम में बने मंच के लिए आगे बढ़ते हैं।

मंच पर एक साथ आते हैं मोदी-ट्रंप
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को लेकर मंच पर पहुंचते हैं। उससे पहले ट्रंप स्वागत के लिए खड़े एक बच्चे के पास थोड़ी देर के लिए रुकते भी हैं और दोनों नेता उसके साथ सेल्फी भी लेते हैं। जोश से लबरेज भीड़ मोदी-मोदी और ट्रंप के नारों के साथ दोनों नेताओं का स्वागत करती है। प्रधानमंत्री मोदी ट्रंप का हाथ उठाकर भीड़ का अभिवादन करते हैं, ठीक वैसे ही जैसे भारत की रैलियों खासकर चुनावी रैलियों में नेता एकता और अपनेपन के इजहार के लिए एक दूसरे का हाथ पकड़कर ऊपर उठाते हैं।

मोदी ने ‘विशेष मेहमान’ के तौर पर कराया ट्रंप का परिचय
दोनों नेता मंच पर हैं। अब प्रधानमंत्री मोदी माइक पकड़ते हैं और अंग्रेजी में अपने ‘दोस्त’ का परिचय ऐसे शख्स के तौर पर कराते हैं, जो परिचय का मोहताज नहीं है और जिसका नाम दुनिया के घर-घर में जाना जाता है। मोदी मंच से ट्रंप और अमेरिका की शान में कसीदे पढ़ते हैं, बगल में खड़े अमेरिकी राष्ट्रपति बीच-बीच में मुस्कुरा देते हैं।

मोदी याद दिलाते हैं- अबकी बार, ट्रंप सरकार
ट्रंप को संबोधन के लिए बुलाने से पहले प्रधानमंत्री मोदी उनके परिचय में ही एक संक्षिप्त भाषण दे देते हैं। इसमें वह बताते हैं कि ‘दोस्त’ ट्रंप के साथ उनके संबंध कितने मधुर हैं और भारत व अमेरिका के रिश्ते ऐतिहासिक ऊंचाई पर हैं। मोदी ट्रंप के नारे ‘मेक अमेरिका ग्रेट अगेन’ का जिक्र तो करते ही हैं, अपने भी बहुचर्चित नारे ‘अबकी बार, मोदी सरकार’ के तर्ज पर ‘अबकी बार, ट्रंप सरकार’ का भी जिक्र करते हुए वाइट हाउस में ट्रंप के दिवाली सेलिब्रेशन की याद दिलाते हैं। ध्यान रहे, अमेरिका में अगले साल राष्ट्रपति चुनाव होने हैं।

ट्रंप का संबोधन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्रंप को मंच पर बुलाते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने अमेरिका के विकास में भारतीयों के योगदान की तारीफ के साथ भाषण की शुरुआत करते हैं। वह भारत और अमेरिका के मजबूत होते संबंधों का जिक्र करते हैं। वह बताते हैं कि किस तरह वह ‘अमेरिका को एक बार फिर महान बनाने’ के अपने सपने को साकार कर रहे हैं। वह जोर देकर कहते हैं कि उनके नेतृत्व में अमेरिका और मजबूत हुआ है और साथ में यह भी याद दिलाते हैं कि भारत में उनके दोस्त मोदी भी इसी तरह भारत को मजबूत कर रहे हैं। वह दुनिया के सबसे बड़े चुनाव भारतीय आम चुनाव का जिक्र करते हुए कहते हैं कि 60 करोड़ से ज्यादा लोगों ने उसमें हिस्सा लिया और प्रधानमंत्री मोदी को दोबारा चुना। ट्रंप ने पीएम मोदी को चुनाव में मिली जीत और हाल में 17 सितंबर को बीते उनके जन्मदिन की भी बधाई देते हैं।

जब ट्रंप की एक बात पर तालियों की गड़गड़ाहट से देर तक गूंजता रहा स्टेडियम
डॉनल्ड ट्रंप ने भारत-अमेरिका संबंधों की गर्मजोशी और दोनों देशों की साझा चुनौती का जिक्र करते हुए आतंकवाद पर हमला बोलते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति जब यह कहते हैं कि भारत और अमेरिका कट्टर इस्लामी आतंकवाद से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं, तो पूरा स्टेडियम देर तक तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज जाता है। लोग स्टैंडिंग ओवेशन देते हैं। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी खड़े होकर तालियां बजाते दिखते हैं। इसके बाद ट्रंप ने इशारों-इशारों में अनुच्छेद 370 में किए गए बदलावों को लेकर भारत का समर्थन करते हैं। वह कहते हैं कि सीमा सुरक्षा अमेरिका के साथ-साथ भारत के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है। ट्रंप कहते हैं कि सीमा सुरक्षा को लेकर वह भारत की चिंताओं को समझते हैं और इस मुद्दे पर दोनों देश साथ है.

‘हाउडी मोदी’ का पीएम ने दिया जवाब, भारत में सबकुछ अच्छा
ट्रंप का भाषण खत्म होने के बाद प्रधानमंत्री मोदी का संबोधन शुरू होता है। प्रधानमंत्री ‘हाउडी मोदी’ के जवाब में हिंदी समेत कई भारतीय भाषाओं में बताते हैं कि भारत में सबकुछ ठीक है। ट्रंप इस दौरान मुस्कुराते रहते हैं। पीएम मोदी अपने भाषण में अपनी सरकार की उपलब्धियों का बखान करते हैं और भारतीयों की आकांक्षाओं को सलाम करते हैं। भारतीयों के बारे में वह कहते हैं- लक्ष्य ऊंचा है और उपलब्धियां उससे भी ऊंची।

पीएम ने ट्रंप को बताया ‘आर्ट ऑफ डील’ का मास्टर
पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्रंप की तारीफ करते हुए कहा, राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप मुझे टफ नेगोशिएटर बुलाते हैं, लेकिन वह खुद आर्ट ऑफ डील के मास्टर हैं। मैं उनसे बहुत कुछ सीख रहा हूं।

मोदी ने 370 और आतंक पर पाकिस्तान को घेरा
मोदी ने अमेरिका की धरती से पाकिस्तान पर उसका नाम लिए बिना करारा हमला बोला। प्रधानमंत्री ने कहा कि 9/11 हो या मुंबई में 26/11 हो, उसके साजिशकर्ता कहां पाए जाते हैं? उन्होंने कहा कि इन लोगों ने भारत के प्रति नफरत को ही अपनी राजनीति का केंद्र बना दिया है, ये वो लोग हैं, जो अशांति चाहते हैं। प्रधानमंत्री जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने पर पाक के विरोध को लेकर भी तंज कसते हैं। वह कहते हैं कि भारत अपने यहां जो कर रहा है, उससे कुछ ऐसे लोगों को भी दिक्कत हो रही है, जिनसे खुद अपना देश संभल नहीं रहा है। इस दौरान भीड़ का जोश चरम पर पहुंच जाता है।

आखिर में ट्रंप ने मोदी को लेकर स्टेडियम का लगाया चक्कर
मोदी अपना भाषण खत्म करते हैं। भारत में आधी रात हो चुकी होती है। इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप प्रधानमंत्री मोदी को लेकर स्टेडियम का चक्कर लगाते हैं। दोनों नेता उत्साहित भीड़ का अभिवादन करते हैं। इस तरह मेगा ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम यादगार छाप छोड़ते हुए संपन्न हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!