मध्‍य प्रदेश: परिवार के सदस्‍यों के हाथ और पैर में 12 उंगलियां, अचरज में लोग

बैतूल 
मध्‍य प्रदेश के एक परिवार में जेनेटिक गड़बड़ी उनके लिए मुसीबत का सबब बन गई है। इसकी वजह से न तो उन्‍हें जॉब मिल रही है और न ही उनकी पढ़ाई पूरी हो पा रही है। बैतूल के अथनेर तहसील में रहने वाले इस परिवार के कुछ सदस्‍यों के हाथ और पैर में 10 से ज्‍यादा उंगलियां हैं। इस जेनेटिक गड़बड़ी ने उनके जीवन को नरक बना दिया है।भुक्‍तभोगी परिवार के एक सदस्‍य बलदेव यावले ने बताया कि उनके परिवार में कुल 25 लोग हैं और हरेक को 10 से ज्‍यादा उंगलियों की समस्‍या है। उन्‍होंने कहा, ‘मेरे बच्‍चे स्‍कूल गए लेकिन वे अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए। स्‍कूल के बच्‍चे मेरे बच्‍चों को परेशान करते थे। मुझे सरकार से मदद की जरूरत है। मेरे पास जमीन नहीं है। हम बेहद गरीब हैं।’ 

बलदेव के बेटे संतोष यावले ने कहा कि वह अपनी शारीरिक गड़बड़ी की वजह से पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए और अब नौकरी भी नहीं मिल पा रही है। उन्‍होंने कहा, ‘सामान्‍य स्‍लीपर या जूते मेरे पैरों में फिट नहीं होते हैं। मैंने कक्षा 10 तक पढ़ाई की। मैं एक बार सेना की परीक्षा में गया था लेकिन शारीरिक परीक्षा में फेल हो गया। मैं चाहता हूं कि सरकार हमारी मदद करे। मेरे हाथ में 12 उंगलियां हैं और पैरों में 14 उंगलियां हैं। मैं इस वजह से नौकरी नहीं पा सका। मुझे गांव की पंचायत से भी कोई मदद नहीं मिल रही है।’ 

हालांकि इस पूरी समस्‍या का एक सुखद पहलू भी है। यावले परिवार ने अपने गांव को दूर-दूर तक फेमस कर दिया है। आसपास गांवों और सटे हुए जिलों से लोग उन्‍हें देखने के लिए आते रहते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!