जबलपुर में फर्जी मैट्रीमोनियल साइट बनाकर ठगी करने वाले पकड़े गये

गिरोह के 4 सदस्यों को धर दबोचा है, जिसमें दो युवतियां भी शामिल हैं.

जबलपुर. मध्यप्रदेश के जबलपुर  में साइबर सेल की टीम  ने फर्जी मैट्रीमोनियल साइट  बनाकर ठगी करने वाले गिरोह के 4 सदस्यों को धर दबोचा है, जिसमें दो युवतियां भी शामिल हैं. गिरोह के सदस्य लोगों को शादी के नाम पर रजिस्ट्रेशन  कराने का झांसा देकर फंसाते और बाद में लड़कियों से बात कराकर लोगों से रुपये ऐंठते थे. छत्तीसगढ़ के राजनादगांव से संचालित होने वाले गिरोह ने मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार और छत्तीसगढ़ के लोगों के साथ ठगी (Fraud) कर लाखों रुपए हड़पे हैं. फिलहाल पुलिस सभी आरोपियों से पूछताछ में जुटी है.

ठगों ने युवक को इस तरह फंसाया

राज्य साइबर सेल को मिली शिकायत के अनुसार जबलपुर के एक युवक ने शादी के लिए जीवन साथी डॉट कॉम पर रजिस्ट्रेशन कराया था. रजिस्ट्रेशन के कुछ महीने बाद जीवन जोड़ी मैट्रीमोनियल से फोन कर आवेदक को शादी (Wedding) करने के लिये जीवन जोड़ी मैट्रीमोनियल साइट पर रजिस्ट्रेशन फीस 5000 रुपये भरवायी गयी और शादी के लिए लड़कियों के फोटोग्राफ्स भेजे गए. युवक को लड़की की फोटो पंसद आई तो जीवन जोड़ी मैट्रीमोनियल द्वारा लड़की का मोबाइल नंबर उसे दे दिया गया.

युवक से ठगे 6 लाख 50 हजार रुपए

लड़की ने खुद को रीवा निवासी तनुजा ठाकुर बताकर युवक को झांसे में लिया और खुद की जरूरतों को पूरा करने के लिए ठगी कर तकरीबन 6 लाख 50 हजार रुपए विभिन्न खातों पर ट्रांसफर करा लिए. युवक को जब लगा कि उसके साथ ठगी की गई है तो उसने इसकी शिकायत साइबर सेल से की. साइबर सेल की टीम को जांच के दौरान यह जानकारी मिली कि छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव से यह फर्जीवाड़ा संचालित किया जा रहा है. पुलिस ने छत्तीसगढ़ पहुंचकर चारों आरोपियों को एक घर से गिरफ्तार किया. पुलिस पूछताछ में खुलासा हुआ कि बेस्ट मैट्रीमोनी और जीवन जोड़ी डॉट कॉम के नाम से फर्जी मैट्रीमोनियल ऑफिस का संचालन अक्टूबर 2018 से किया जा रहा था.

साइबर सेल ने छत्तीसगढ़ से पकड़े 4 आरोपी

कई राज्यों में चलाया जा रहा था फर्जी मैट्रोमोनियल ऑफिस

पुलिस ने बताया कि चारों आरोपियों ने छत्तीसगढ़, बिहार, उत्तर प्रदेश में भी फर्जी मैट्रोमोनियल साइट का आफिस संचालित कर रखा है. आरोपी अन्य मैट्रीमोनी साइट्स से इच्छुक व्यक्तियों के नाम फोटो और अन्य जानकारी निकालकर उनसे संपर्क कर शादी करने के लिये फर्जी लड़कियों के फोटोग्राफ्स भेजा करते थे. ऑफिस मे काम करने वाली लड़कियां ही शादी के लिए बात कर प्रलोभन देती थी और अलग- अलग खातों में पैसे ट्रांसफर करवाती थीं. सायबर सेल ने इस जालसाजी में इस्तेमाल किए गए मोबाइल, एटीएम कार्ड और धोखाधड़ी कर प्राप्त ठगी की राशि जब्त कर ली है, जबकि इनके अन्य साथियों की तलाश जारी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *