एक साल में 4058 किलो सोना जब्त किया कस्टम विभाग ने

नई दिल्ली कस्टम अधिकारियों ने अप्रैल से जून की तिमाही में तस्करी का करीब 1200 किलो सोना जब्त किया है. यह पिछले साल के इसी अवधि के मुकाबले 23 फीसदी ज्यादा है.

हाल के महीनों में देश में गोल्ड की तस्करी बढ़ी है और इसको रोकने को लेकर काफी सख्त कदम भी उठाए जा रहे हैं. इन सख्त प्रयासों का ही नतीजा है कि भारतीय कस्टम अधिकारियों ने अप्रैल से जून की तिमाही में 1197.7 किग्रा तस्करी का सोना जब्त किया है. यह पिछले साल के इसी अवधि के मुकाबले 23.2 फीसदी ज्यादा है.

भारत गोल्ड का दूसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जुलाई में पेश बजट में सोने पर आयात कर 10 से बढ़ाकर 12.5 फीसदी कर दिया है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इसकी वजह से तस्करों को अब ज्यादा फायदा हो रहा है. आयात कर में इस बढ़त की वजह से मध्य-पूर्व के देशों से भारत में तस्करी बढ़ी है. यही नहीं, इस तस्करी की वजह से विदेशी मुद्रा का अवैध लेन-देन भी बढ़ा है.

गौरतलब है कि साल 2013 में भारत सरकार ने गोल्ड पर आयात कर बढ़ाकर 10 फीसदी कर दिया था ताकि मांग पर अंकुश लग सके. देश के बढ़ते चालू खाते के घाटे की वजह से ऐसा करना जरूरी था, क्योंकि ज्यादातर सोना आयात किया जाता है. इसके बाद साल 2017 में गोल्ड पर 3 फीसदी का सेल्स टैक्स लगा दिया गया. इन सबकी वजह से तस्करों को भारत में अच्छा अवसर दिखने लगा जो टैक्स बचाने के लिए चोरी से यहां सोना लाकर बेच देते हैं.

एक साल में 4058 किलो सोना जब्त

31 मार्च को खत्म पिछले वित्त वर्ष में कस्टम अधिकारियों ने 4,058 किलो सोना जब्त किया था और उसके भी पिछले वित्त वर्ष यानी 2017-18 में 3,223.3 किग्रा सोना जब्त किया गया था. इस तरह तस्करी करने वाले करीब सोने की कीमत पर करीब 15.5 फीसदी लगने वाला टैक्स बचा लेते हैं और उनका सोना काफी सस्ता पड़ता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *