RRB Group D: आईआईटी बॉम्बे का स्टूडेंट बना ट्रैकमैन, जानिए क्यों चुनी रेलवे ग्रुप डी की नौकरी

नई दिल्ली: RRB Group D: सरकारी नौकरी (Sarkari Naukri) की अहमियत का अंदाजा तो आप इस बात से लगा सकते हैं कि एक आईआईटी (IIT) से पढ़े छात्र ने रेलवे ग्रुप डी (RRB Group D) की नौकरी ज्‍वॉइन की है. बिहार के श्रवण कुमार (Shrawan Kumar) ने बहु राष्ट्रीय कंपनियों में नौकरी करने की जगह रेलवे में नौकरी करने का फैसला किया. श्रवण ने साल 2010 में आईआईटी बॉम्बे (IIT Bombay) के मेट्रोलॉजी एंड मैटेरियल साइंस ब्रांच में इंटीग्रेटेड डुअल डिग्री कोर्स में एडमिशन लिया था. साल 2015 में उन्हें बीटेक और एमटेक की डिग्री दी गई. पढ़ाई पूरी होने के बाद उन्होंने रेलवे ग्रुप डी परीक्षा की तैयारी कर उसे क्रैक किया. अब वह धनबाद रेलवे स्टेशन पर ट्रैकमैन का काम देख रहे हैं, उनकी पोस्‍टिंग 30 जुलाई को धनबाद रेल मंडल में की गई हैं.

लेकिन आखिर आईआईटी बॉम्बे से पढ़े श्रवण कुमार ने बहु राष्ट्रीय कंपनियों में नौकरी की जगह रेलवे ग्रुप डी के पद पर नौकरी करने की क्यों सोची? इसके पीछे श्रवण का कहना है कि सरकारी नौकरी में जॉब सिक्योरिटी होती है. मेरे कई दोस्त प्राइवेट सेक्टर में हैं, लेकिन वह सरकारी नौकरी ही करना चाहते थे.

श्रवण कहते हैं मुझे पूरी उम्मीद है कि मैं भविष्य में एक दिन बड़ा अधिकारी बनूंगा. फिलहाल श्रवण रेलवे की ओर से मिली जिम्मेदारी का वहन कर रहे हैं. बता दें कि श्रवण के बड़े भाई रंजीत कुमार पटना में पीडब्ल्यूडी में नौकरी करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *