‘पैगाम-ए-अमन’ बस सेवा सोमवार से फिर शुरू हो गई.

जम्मू-कश्मीर के पुंछ और पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) स्थित रावलकोट के बीच ‘पैगाम-ए-अमन’ बस सेवा सोमवार से फिर शुरू हो गई. इस बस सेवा को एक सप्ताह के लिए रद्द कर दिया गया था. इसके दोबारा शुरू होने से 46 फंसे लोग अपने घरों के लिए रवाना हुए. इनमें 40 लोग पीओके से थे.

ये साप्ताहिक बस सेवा 19 अगस्त को रद्द कर दी गई थी. क्योंकि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के अधिकारियों ने बस को नियंत्रण रेखा के पार भेजने को लेकर भारतीय अधिकारियों को कोई जवाब नहीं दिया था. बता दें कि हर सोमवार को चलने वाली यह बस सेवा पाकिस्तान की ओर से बार-बार किए जाने वाले संघर्षविराम उल्लंघन से उत्पन्न तनाव के बीच भी नहीं रुकी थी.

पुंछ जिला विकास आयुक्त राहुल यादव ने कहा ‘पैगाम-ए-अमन’ बस शुरू हो गई है. सोमवार को पाक अधिकृत कश्मीर के 40 और 6 भारतीय यात्री अपने-अपने घरों को रवाना हुए. उन्होंने कहा कि ईद-उल-अजहा से एक सप्ताह पहले अपने रिश्तेदारों से मिलने जम्मू-कश्मीर के पुंछ पहुंचे दो अन्य पीओके यात्रियों का परमिट खत्म होने वाला है. साथ ही दोनों तरफ से कोई नया यात्री नहीं है.

गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 कमजोर किए जाने और केंद्र शासित प्रदेश बनाने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति है. इससे पहले अप्रैल 2005 में कश्मीर में श्रीनगर-मुजफ्फराबाद और जून 2006 में जम्मू क्षेत्र में पुंछ-रावलकोट मार्ग पर बस सेवा शुरू की गई थी, ताकि एलओसी के दोनों ओर विभाजित परिवार मिल सके.

इसके अलावा अक्टूबर 2008  कश्मीर में बारामूला का सलामाबाद और जम्मू में पुंछ के चाकन-दा-बाग में व्यापार को बढ़ावा देने की पहल हुई थी. हालांकि सरहद पार से हथियारों की सप्लाई, नकली नोट और मादक पदार्थ तस्करी बढ़ने पर भारत ने रोक लगा दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *