जम्मू-कश्मीर के प्रधान सचिव बोले- घाटी में 96 में से 17 टेलीफोन एक्सचेंज चालू, 35 इलाकों में ढील

जम्मू और कश्मीर में शनिवार से फोन सेवाएं फिर से बहाल हो गई हैं. जम्मू में जहां टू जी स्पीड के साथ इंटरनेट सेवा शुरू हो गई तो वहीं कश्मीर के श्रीनगर के कई क्षेत्रों में लैंडलाइन सेवाएं शुरू कर दी गई हैं. हालांकि कश्मीर में इंटरनेट सेवा बहाल होने में वक्त लग सकता है.

प्रधान सचिव रोहित कंसल ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य हो रहे हैं. घाटी के 35 इलाकों में ढील दी गई. सार्वजनिक परिवहन सेवा भी शुरू कर दी गई है. श्रीनगर के कई इलाकों में टेलीफोन सेवा बहाल किया जा चुका है. प्रधान सचिव ने बताया कि कश्मीर के 96 में से 17 टेलीफोन एक्सचेंज चालू हो गए हैं. घाटी में कई दिनों से बंद स्कूल अब सोमवार से खुल जाएंगे.

राजौरी में धारा में 144 में ढील

जम्मू के अलावा साम्बा, कठुआ, उधमपुर में टू जी स्पीड के साथ इंटरनेट सेवाएं शुरू की गई हैं. राजौरी क्षेत्र में भी प्रतिबंधों में ढील दी गई है. राजौरी में धारा 144 के तहत रात नौ से सुबह पांच तक ही सीमित रहेगा. इस संबंध में राजौरी के डीएम ने आदेश भी जारी किया है.

जम्मू क्षेत्र के 10 में से 5 जिलों में 2G सेवाएं बहाल कर दी गई हैं. राज्य के जम्मू, साम्बा, कठुआ, उधमपुर और रेसाई जिले में सेवाएं बहाल कर दी गई हैं. हालांकि, राजौरी, पुंछ, डोडा, रामबन और किश्तवाड़ जिले में इंटरनेट सेवाओं पर लगी रोक अब भी जारी है.

जम्मू-कश्मीर में पिछले पांच अगस्त से टेलीफोन सेवा बंद दी. धारा 370 हटाने के बाद एहतियातन सरकार ने फोन और इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी थी. मीडिया रिपोर्टस के अनुसार राज्य प्रशासन ने प्रदेश के सभी स्कूल-कॉलेज और सरकारी दफ्तरों को भी सोमवार 19 अगस्त से खोलने के निर्देश दिए हैं.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर को विशेषाधिकार देने वाला अनुच्छेद 370 मोदी सरकार की ओर से हटाने के मद्देनजर घाटी में धारा 144 लागू कर दिया गया था. जिसके कारण पिछले 12 दिनों से घाटी मे संचार सेवाओं को ठप करने के साथ स्कूल-कॉलेज भी बंद थे. जैसे-जैसे हालात ठीक हो रहे हैं, वैसे ही सख्ती में ढील दी जा रही है.

16 अगस्त को जम्मू कश्मीर प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया से कहा था कि अब स्थिति शांतिपूर्ण हैं. घाटी के ज्यादातर हिस्सों में लोगों की आवाजाही पर पाबंदियों में भी ढील दी गयी है. अभी तक स्थिति शांतिपूर्ण है. उन्होंने बताया कि सुरक्षाबलों की तैनाती पहले की तरह ही है. लोगों को शहर के आसपास और अन्य शहरों में आवाजाही की इजाजत दी गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *