कांग्रेस का नया अध्यक्ष कौन? मिलिंद देवड़ा ने की सचिन पायलट या ज्योतिरादित्य सिंधिया की पैरवी

नई दिल्ली: राहुल गांधी के पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफे के बाद से कांग्रेस का नया अध्यक्ष कौन होगा यह एक बड़ा सवाल बना हुआ है. पार्टी के कई नेता किसी युवा के हाथों में कांग्रेस अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंपने की वकालत कर रहे हैं. इन सबके बीच अब ऐसी संभावनाएं जताई जा रही हैं कि इस महीने की 10 तारीख को होने वाली कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक में नए अध्यक्ष के नाम को लेकर सहमति बन सकती है और इसका ऐलान हो सकता है. एक तरफ पार्टी के कई वरिष्ठ नेताप्रियंका गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की वकालत कर चुके हैं, वहीं दूसरी ओर मिलिंद देवड़ा ( ने राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट या फिर ज्योतिरादित्य सिंधिया के नाम की पैरवी की है.

हाल ही में मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे चुके मिलिंद देवड़ा ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया के नाम की पैरवी की. देवड़ा ने कहा कि वह पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस बयान से सहमत हैं कि अध्यक्ष किसी युवा को होना चाहिए, जिसके पास चुनावी, प्रशासनिक और सांगठनिक अनुभव हो और जिसका पूरे देश में प्रभाव हो. उन्होंने कहा कि मेरे विचार से सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया में ये सारी खूबियां हैं और वे पार्टी को मजबूती दे सकेंगे.

इसके साथ ही देवड़ा ने यह भी कहा कि कम से कम सचिन पायलट या ज्योतिरादित्य सिंधिया को कार्यकारी अध्यक्ष बना दिया जाना चाहिए और गांधी परिवार को खुलकर इसका समर्थन करना चाहिए. हालांकि मिलिंद देवड़ा बाद में अपने बयान पर सफाई देते भी दिखे. देवड़ा ने न्यूज एजेंसी ANI से कहा, ‘मुझे खुशी होगी अगर वह (प्रियंका) आगे आएं और पार्टी का नेतृत्व करें. हालांकि, जब गांधी परिवार स्पष्ट कर चुका है कि अगला अध्यक्ष गांधी परिवार से नहीं होना चाहिए तो इस बात की संभावना की नहीं है.’

इन सबसे बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता कर्ण सिंह ने न्यूज एजेंसी PTI को दिए इंटरव्यू में कहा कि प्रियंका पार्टी प्रमुख के रूप में सबको ‘एकजुट करने वाली ताकत’ होंगी और इससे पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार होगा. सिंह ने यह भी कहा कि नेतृत्व मुद्दे पर निर्णय न होने से कांग्रेस को ‘निश्चित रूप से नुकसान पहुंचा है.’ उन्होंने आगाह किया कि आगे और नेतृत्वविहीन रहना पार्टी के लिए गंभीर रूप से हानिकारक होगा. कांग्रेस नेता ने इंटरव्यू में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और कांग्रेस सांसद शशि थरूर द्वारा हाल में व्यक्त किए गए इस विचार से सहमति जताई कि किसी युवा नेता को पार्टी अध्यक्ष बनाना अधिक उपयुक्त होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *