ICC World Cup 2019: धौनी से नाखुश हुए सचिन तेंदुलकर, जानें क्यों

अफगानिस्तान के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजों ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाजों के प्रदर्शन पर सचिन तेंदुलकर ने निराशा जताई है। उन्होंने महेंद्र सिंह धौनी और केदार जाधव के ऊपर भी सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा था कि दोनों में सकारात्मक इरादों की कमी थी। अफगानिस्तान की टीम के स्पिनर्स ने मोहम्मद नबी की अगुआई में भारतीय टीम को 224 पर रोक दिया।

सचिन ने कहा, ‘मुझे मैच में काफी निराशा हुई। यह काफी बेहतर हो सकता था। मैं केदार और धौनी की साझेदारी से भी खुश नहीं हूं, यह बहुत धीमा था। बल्लेबाजों ने स्पिन गेंदबाजी के खिलाफ खेले 34 ओवर में सिर्फ 119 रन बनाए। यह वह जगह हैं,जहां हम अच्छा नहीं कर रहे हैं। 30वें ओवर में विराट के आउट होने से लेकर 45वें ओवर तक हमने ज्यादा रन नहीं बनाए। हर ओवर में 2 से 3 डॉट बॉल खेली गईं। मध्यक्रम के बल्लेबाजों को इससे पहले के मैचों में ज्यादा मौके नहीं मिले थे, जिससे उन पर दबाव बन गया। हालांकि, उन्हें सकारात्मक इरादे से खेलना चाहिए था।’

बता दें कि धौनी ने 36 गेंदों में 24 रन बनाए और जाधव ने 48 गेंदों में 31 रन बनाए। उन दोनों 5 विकेट के लिए 84 गेंदों में 57 रनों की साझेदारी की। उन्होंने काफी धीमी पारी खेली। टीम इंडिया ने 225 रनों का लक्ष्य रखा। भारतीयों गेंदबाजों ने अच्छे प्रदर्शन के दम पर अफगानिस्तान को 11 रनों से हरा दिया। मोहम्मद शमी ने हैट्रिक के साथ कुल चार विकेट और जसप्रीत बुमराह ने दो विकेट चटकाया।

अभिभाषक संघ के जिलाध्यक्ष बने विनोद धाकड

शिवपुरी। जिला अभिभाषक संघ के प्रतिष्ठापूर्ण चुनाव हेतु आज सुबह 11 बजे से न्यायालय परिसर में मतदान प्रारंभ हो गया है। मतदान के लिए अभिभाषकों में अच्छा उत्साह देखने को मिल रहा है। शाम 4:30 बजे के बाद मतदान समाप्त होने के पश्चात मतगणना शुरू हुई। जिसके परिणाम देर शाम घोषित हो गए। इस प्रतिष्ठापूर्ण चुनाव में विनोद धाकड ने 14 मतों से शैलेन्द्र समाधिया को हराया है। इस चुनाव के लिए वरिष्ठ अभिभाषक मदन बिहारी श्रीवास्तव को निर्वाचन अधिकारी बनाया गया था।
जिला अभिभाषक संघ के चुनाव में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव और कोषाध्यक्ष पद हेतु चुनाव हो रहे हैं जबकि सहसचिव और लायब्रेरियन पद हेतु निर्विरोध निर्वाचन संपन्न हो चुका है। 11 कार्यकारिणी सदस्यों में से 7 निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं जबकि शेष कार्यकारिणी सदस्यों का मनोनयन निर्वाचित अध्यक्ष द्वारा किया जाएगा। अध्यक्ष पद के लिए त्रिकोणीय संघर्ष था । मुकाबले में शैलेंद्र समाधिया, विनोद धाकड़ और जीतेंद्र सिकरवार थे जिसमें विनोद धाकड नेे 14 मतों से शैलेन्द्र समाधिया को पटकनी दी है ।
समाधिया को समर्थन वरिष्ठ अभिभाषक विजय तिवारी द्वारा किया जा रहा है। जबकि विनोद धाकड़ के लिए पूर्व अध्यक्ष स्वरूपनारायण भान और धर्मेंद्र शर्मा प्रचार कर रहे हैं। अध्यक्ष पद हेतु 1-1 वोट के लिए संघर्ष छिड़ा हुआ है। उपाध्यक्ष पद के लिए शंकरलाल गोबिल और निखिल सक्सैना के बीच सीधा मुकाबला था जिसमें शंकरलाल गोबिल ने 1 मत से निखिल सक्सेना को हराया है। जबकि सचिव पद हेतु राधावल्लभ शर्मा ने पंकज आहूजा को 23 मतों से हराया है। कोषाध्यक्ष पद के लिए चतुष्कोणीय संघर्ष में गोपाल व्यास ने भरत ओझा हराया है। जिला अभिभाषक संघ के चुनाव में मतदाताओं की संख्या 446 है।

ये पदाधिकारी हुए निर्विरोध निर्वाचित
सहसचिव पद हेतु रीतेश निगम, लायब्रेरियन पद हेतु साहब सिंह कुशवाह निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं। जिन सात कार्यकारिणी सदस्यों का निर्विरोध निर्वाचन हुआ है उनके नाम हैं सुनील व्यास, श्रीमति सुमन जाट, संजय शर्मा, दीवान सिंह तोमर, सादिक मोहम्मद, आलोक श्रीवास्तव और जेआर श्रीवास्तव।

नगर पालिका अध्यक्ष का काला कारनामा, पिता पुत्र को लुटा दी बिना टेंडर प्रक्रिया के लाखों की राशि



शिवपुरी। जिन श्रीमंत के भरोसे शिवपुरी की जनता ने नगर पालिका अध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाहा को चुना तब ये बात किसी को नही पता थी कि उन्ही श्रीमंत के भविष्य के लिए ये अध्यक्ष अभिशाप बनेगे ।अभिशाप आखिर बने क्यो नही ?उन्होंने काम ही कुछ अपने कार्यकाल में ऐसे किये है कि उन्होंने शुरुआत से ही सिंधिया की छबि को धूमिल किया है प्राम्भ में ही जब बीपीएल कांड में मुन्ना लाल जेल गए तो उस समय सिंधिया ने अध्यक्ष पर उस लगाम लगाई होती तो आज ये दिन श्रीमंत को कमसे कम शिवपुरी शहर से हार का तो नही देखना होता इसी का नतीजा है कि नगरपालिका अध्यक्ष मुन्नालालजी पर घोलमाल के कई आरोप लग चुके है मामला चाहे बड़े टेंकरो का हो,केविल खरीदी का हो या सप्लाई का हो कही किसी पार्षद ने कही किसी ठेकेदार ने तो कही उनके ही अधिकारियों ने उन पर आरोप लगाए। ओर सूत्रों की माने तो जो आरोप नगर पालिका अध्यक्ष पर लगाये है वो सही भी है क्यो की अभी हाल ही में नगर पालिका अध्यक्ष मुन्ना लाल जी के मौखिक आदेश पर जिसकी कोई भी प्रशासनिक स्वीकृति नही ली गई और न ही कोई टेंडर प्रक्रिया अपनाई गई और पिता पुत्र को चार लाख पांच हज़ार दो सौ तीस रुपये का भुगतान तात्याटोपे ग्राउंड पर स्वास्थ मिशन अंतर्गत मिनी मैराथन 5km के नाम से से लवित टेंट हाउस को 42700,आकांक्षा टेंट हाउस को 316030ओर ठाकुरजी प्रिटिंग जॉन के बिना बिल के 46500 का भुगतान कर दिया जबकि एक लाख से अधिक के भुगतान पर पहले प्रशासनिक स्वीकृति ली जाती है उसके टैंटर निकाले जाते है विज्ञप्ति जारी की जाती है ओर टेंडर आने पर खोले जाते है लेकिन यहाँ इस प्रक्रिया में कोई भी नियमानुसार कार्य नगर पालिका अध्यक्ष, प्रभारी सीएमओ,ओर बाबू ने नही किये बल्कि साठगांठ कर पिता पुत्र को लाखों रुपये लुटा दिए इसका मुख्य कारण यह भी है कि उक्त टेंट व्यबसाई पिता पुत्र नगर पालिका अध्यक्ष और उनके पुत्र की सेवा में जी हजूरी पर लगे रहते है 
40320 रुपये में पानी की 1440 बोतलें खरीदी का किया भुगतान !नगरपालिका शिवपुरी के प्रभारी सीएमओ,बाबू ओर नगरपालिका अध्यक्ष ने जिन पिता पुत्र को यह भुगतान किया है उसमें सबसे बड़ा घोटाला ये है कि जिस बड़ी बोतल की बाजार में कीमत फुटकर में 20 रुपये हुआ करती है उसकी कीमत 28 रुपये 1लीटर बोतल बिल के हिसाब से भुगतान किया गया है जबकि हकीकत पर जाए तो वहाँ जो पानी की बोतल वितरण की गई है उनकी कीमत लगभग 6 रुपये 250 ml है 
जिस तात्याटोपे ग्राउंड से मिनी मैराथन का आयोजन किया गया था उस स्थान से सारे शिवपुरी शहर को 10 बड़े गेट जिनकी राशि 51000 हज़ार,ओर 12 छोटे गेट जिनकी राशि 25200 का भुगतान शहर को दुल्हन की तरह सजाने में किया गया कुल मिलाकर 76200 रुपये के 22 गेट शहर की जनता ने भी तो देखेंगे होंगे कि कहा लागए गए है इस तरह के कई भुगतान है जो नगर पालिका पिता पुत्र को पिता पुत्र की जी हजूरी के लिए लगातार करते आ रहे हैं.

महिला मंत्री ने अपनी बेटी के साथ दादागिरी करने वाले को यूं सिखाया सबक

सोशल मीडिया पर अपने सुख और दुख को बांटना एक साधारण बात हो गई है एक आम व्यक्ति हो या कोई खास हर कोई अपने सुख और दुख या अपने कोई विचार सोशल मीडिया पर व्यक्त करता ही है कुछ ऐसा ही कपड़ा और महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने भी किया वह पहले भी इस प्रकार के पोस्ट अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर करती रही है उन्होंने सीबीएसई बोर्ड में पास होने पर अपनी बेटी जोईसी ईरानी के साथ एक सेल्फी लेकर ट्वीट करते हुए अपनी बेटी को बधाई देते हुए एक पोस्ट शेयर की थी अभी हाल ही में उन्होंने अपनी बेटी के साथ एक सेल्फी पोस्ट की जिसमें उन्होंने लिखा था कि –

“मेरी बेटी सफल खिलाड़ी है लिम्का बुक्स में उसका नाम है कराटे में ब्लैक बेल्ट हैं और विश्व चैंपियनशिप में उसे दो बार कांस्य पदक मिल चुका है वह बहुत ही प्यारी बेटी है और हां बहुत सुंदर भी।”

उनकी इस पोस्ट पर जोईश इरानी के क्लासमेट ने उन्हें बुली किया जिससे दुखी होकर उन्होंने अपनी मां स्मृति ईरानी से कहा कि मां आप यह पोस्ट इंस्टाग्राम से डिलीट कर दो और स्मृति ईरानी ने अपनी बेटी की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए पोस्ट डिलीट कर दिया। क्योंकि स्मृति ईरानी का कहना है कि मैं अपनी बेटी की आंखों में आंसू नहीं देख सकती। बाद में इसमें उन्हें ऐसा लगा कि पोस्ट को डिलीट करने का अर्थ है कि उसकी बेटी को बुली करने वालो को सपोर्ट देना है इसलिए उन्होंने वह पिक इंस्टाग्राम पर फिर से शेयर की।
शेयर करते हुए उन्होंने लिखा कि
” मैंने कल अपनी बेटी की एक सेल्फी को डिलीट कर दिया था क्योंकि एक बेवकूफ उसे क्लास में बुली करता है उसके लुक्स का मजाक बनाते हैं और क्लास के अपने दोस्तों से कहता है कि वह भी उसे ,मां के इंस्टाग्राम पर पोस्ट की गई फोटो के लिए शर्मिंदा करें और अपनी पोस्ट को अंतिम लाइन देते हुए उन्होंने लिखा कि तुम जितना चाहो मेरी बेटी को बुली करो ,वह इतनी सक्षम है कि वह वापस लड़ेगी वह जोईश इरानी है और उसे मुझे उसकी मां होने पर गर्व है”

स्मृति ईरानी ने ऐसा लिख कर जब यह पोस्ट शेयर किया तो तुरंत ही इस पोस्ट को 14000 से भी अधिक लोगों ने लाइक किया और लिखे हुए कमेंट के लिए उन्हें बधाई देते हुए उनका समर्थन भी किया ।सही है हमें किसी और की बातों से ऐसा प्रभावित नहीं होना चाहिए।

मध्य प्रदेश: नीमच जेल से 4 कैदी फरार, पुलिस में हड़कंप

मध्य प्रदेश में जेल प्रशासन की असफलता का एक मामला सामने आया है. नीमच जिला जेल से चार कैदी रविवार सुबह भागने में कामयाब हो गए. ऐसे में पुलिस की सतर्कता और जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठना तय है. जेल से कैदियों के फरार होने के बाद पुलिस प्रशासन सकते में है और कैदियों की तलाशी के लिए अभियान चला रहा है. घटना के विस्तृत ब्यौरे की प्रतीक्षा है.

शुरुआती जानकारी के मुताबिक नीमच जिले की जेल से सुबह चार कैदी भागने में कामयाब हो गए. फिलहाल फरार कैदियों की पहचान के बारे में कोई जानकारी नहीं है. साथ ही ये कैदी कैसे भागे इस बात की भी कोई सूचना नहीं मिली है. पुलिस फरार कैदियों की तलाश के लिए मध्य प्रदेश के चप्पे पर नजर बनाए हुए है ताकि जल्द से जल्द फरार कैदियों को गिरफ्तारी हो सके.

नीमच जिला जेल में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहते हैं. इसके चप्पे पर पुलिस तैनात है. ऐसे में चार कैदियों का जेल से फरार होना जेल की सुरक्षा-व्यवस्था पर सवाल खड़े करता है. पुलिस प्रशासन दल बल के साथ फरार कैदियों की तलाशी के लिए अभियान चला रहा है.

आधार से कर सकेंगे रजिस्ट्रेशन, जीएसटी काउंसिल ने लिए कई अहम फ़ैसले

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) काउंसिल की शुक्रवार को हुई बैठक में फ़ैसला लिया गया कि कटौती का लाभ उपभोक्ताओं को नहीं देने वाली कंपनियों पर 10 प्रतिशत तक जुर्माना लगाया जाएगा। इसके अलावा जीएसटी एंटी-प्रॉफ़िटीयरिंग अथॉरिटी के कार्यकाल को भी 2 साल के लिए (30 नवंबर 2021 तक) बढ़ा दिया गया है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में यह बैठक हुई। इसके अलावा 1 जनवरी 2020 से कारोबारियों को केवल एक पेज का रिटर्न फ़ॉर्म भरना होगा।

जीएसटी काउंसिल की 35वीं बैठक के बाद राजस्व सचिव ए. बी. पांडे ने कहा कि आधार के जरिए जीएसटी रजिस्ट्रेशन करने का फ़ैसला लिया गया है। इसका मतलब यह हुआ कि कोई भी नया कारोबारी अब आधार के जरिए जीएसटी में अपना रजिस्ट्रेशन कर सकेगा।राजस्व सचिव ने कहा कि जीएसटी काउंसिल ने सालाना रिटर्न फ़ाइल करने की समय सीमा को 2 महीने बढ़ाकर 30 अगस्त 2019 तक कर दिया है। उन्होंने बताया कि नया जीएसटी रिटर्न फ़ाइलिंग सिस्टम 1 जनवरी 2020 से लागू होगा।

जीएसटी काउंसिल ने एक और अहम फ़ैसला लेते हुए मल्टिप्लेक्सेस में इलेक्ट्रॉनिक इनवाइसिंग सिस्टम और ई-टिकटिंग को भी मंजूरी दे दी है। बता दें कि केंद्रीय वित्त मंत्री की अगुवाई वाली जीएसटी काउंसिल में सभी राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के प्रतिनिधि शामिल हैं।

पांडे ने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों पर जीएसटी की दर को 12 से घटाकर 5 प्रतिशत और इलेक्ट्रिक चार्जर पर 18 से घटाकर 12 प्रतिशत करने का प्रस्ताव फ़िटमेंट समिति को भेज दिया गया है। बता दें कि जीएसटी को एक जुलाई, 2017 को लागू किया गया था।

सलमान खुर्शीद बोले- मोदी सुनामी में सब बह गए, कोई नहीं कर पाया लोकप्रियता का मुकाबला

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की करारी हार के बाद पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के सामने कोई खड़ा नहीं हो पाया. पीएम मोदी की सुनामी में सब कुछ बह गया.

मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए सलमान खुर्शीद ने कहा कि केंद्र सरकार सबरीमाला मंदिर के फैसले को पलटने को तैयार है, जबकि सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा है कि सबरीमाला मंदिर में महिलाओं का प्रवेश नहीं रोका जाना चाहिए. महिलाओं को सबरीमाला मंदिर में प्रवेश करने देना चाहिए. मोदी सरकार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानना चाहिए. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे के पेशकश पर उन्होंने कहा कि राहुल गांधी हम सबको छोड़कर नहीं जाएं, वो कांग्रेस के अध्यक्ष बने रहें.

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद मोदी सुनामी को स्वीकर करते हुए कहा कि आज तो हम यही जानते हैं चुनाव हुआ और चुनाव में पीएम की लोकप्रियता इतनी थी कि उसके सामने कोई खड़ा नहीं हो पाया, लेकिन एक अच्छी बात है कि सुनामी आई उसने सबकुछ बहा दिया लेकिन कम से कम हम जिंदा रहे और आपसे बात तो कर सकते हैं.

संसद में मोदी सरकार द्वारा तीन तलाक बिल लाए जाने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि तीन तलाक को सुप्रीम कोर्ट पहले ही समाप्त कर चुका है. दुनिया में तीन तलाक कहीं नहीं है. हिंदुस्तान में भी तीन तलाक कहीं नहीं है. देश में तीन तलाक को गलत समझा गया है, जो देश में है ही नहीं, उस पर तीन साल की सजा दी जा रही है.
पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद चुनाव हारने के बाद शनिवार को अपने गृह क्षेत्र फर्रुखाबाद पहुंचे, जहां उन्होंने  लोगों का धन्यवाद किया. साथ ही अपने पुराने रिश्तों को और मज़बूत करने की बात कही. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में सलमान खुर्शीद की जमानत तक जब्त हो गई थी. उनको कुल 55 हज़ार वोट मिले थे और वो चौथे स्थान पर रहे. लोकसभा चुनाव हारने के बाद शनिवार को पहली बार जनता के बीच पहुंचे.

अफगानिस्तान के उलटफेर से बाल-बाल बचा भारत, ये रहे मैच के टर्निंग पॉइंट

टीम इंडिया ने आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 में शनिवार को रोमांचक मैच में अफगानिस्तान को 11 रनों से हरा दिया. अफगानिस्तान ने गेंद से बेहतरीन प्रदर्शन कर भारत को 50 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 224 रनों पर रोक दिया था, लेकिन उसके बल्लेबाज लक्ष्य हासिल नहीं कर पाए और 49.5 ओवरों में 213 रनों पर ढेर हो गए. अफगानिस्तान के खिलाफ भारत को जीत के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ी. लेकिन अंत में शमी की हैट्रिक और बुमराह की कसी गेंदबाजी से टीम इंडिया ने बाजी मार ली. इस मैच में तीन ऐसे टर्निंग पॉइंट थे जिससे टीम इंडिया की जीत संभव हो पाई, नहीं तो तस्वीर कुछ और भी हो सकती थी.

  1. मोहम्मद शमी की हैट्रिक: मौजूदा वर्ल्ड कप में चार मैच नहीं खेलने के बाद शमी को पहली बार मौका मिला था. शमी को भुवनेश्वर के चोटिल होने के बाद इस मैच में टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया और उन्होंने आते ही उन्होंने कमाल कर दिया. मोहम्मद शमी ने इस मैच में हैट्रिक लगाकर भारत को अफगानिस्तान के खिलाफ 11 रनों से जीत दिला दी. 225 रनों का पीछा करने उतरी अफगानिस्तान को आखिरी ओवर में 16 रनों की जरूरत थी. नबी ने पहली गेंद पर चौका मार अपना अर्धशतक पूरा किया और भारत के माथे पर शिकन ला दी, लेकिन शमी ने अगली गेंद खाली निकाली और ओवर की तीसरी गेंद पर नबी को लोग ऑन पर हार्दिक पांड्या के हाथों कैच कर मैच भारत के पक्ष में कर दिया. अगली दो गेंदों पर शमी ने अफताब आलम और मुजीब उर रहमान के विकेट ले अफगानिस्तान को 49.5 ओवरों में 213 रनों पर ढेर कर भारत को इस विश्व कप में चौथी जीत दिलाई. शमी ने शानदार वापसी कर न सिर्फ अपना नाम इतिहास में दर्ज कराया बल्कि भारत को उलटफेर का शिकार होने से बचा लिया. 
  2. बुमराह के सटीक यॉर्कर: इस मैच में जो टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ा टर्निंग पॉइंट साबित हुआ वह स्टार गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की गेंदबाजी थी. बुमराह ने अहम मौकों पर सटीक और खतरनाक यॉर्कर डालकर अफगानिस्तान बल्लेबाजों को बड़े शॉट लगाने से महरूम रखा. यही दोनों टीमों के बीच में अंतर रहा. आखिरी दो ओवरों में अफगानिस्तान को जीत के लिए 21 रन चाहिए थे. यहां बुमराह ने 49वां ओवर फेंका और सिर्फ पांच रन दिए. बुमराह के इस किफायती ओवर की वजह से अफगानिस्तान को आखिरी ओवर में 16 रन बनाने की चुनौती मिली. फिर शमी के आखिरी ओवर की पहली गेंद पर चौका पड़ने से अफगानिस्तान को और बल मिल गया था लेकिन शमी ने शानदार वापसी कर अफगानिस्तान को 212 रन पर ढेर कर दिया. इस मैच में बुमराह ने 2 विकेट लिए. लेकिन, उनकी धारदार गेंदबाजी से ही भारत को जीत मिली.   
  3. कोहली-जाधव का अर्धशतक: मैच में विराट कोहली और केदार जाधव ने अर्धशतक लगाकर भारत का स्कोर 224 रनों तक पहुंचाया. अगर कोहली और जाधव ये पारियां नहीं खेलते तो भारत की परेशानियां और भी बढ़ सकती थी. कोहली ने 67 और जाधव ने 52 रन बनाए. अफगानिस्तान के गेंदबाजों ने भारत की कड़ी परीक्षा ली. भारत के सिर्फ दो बल्लेबाज विराट कोहली (67) और केदार जाधव (52) ही अर्धशतक जमा पाए.

द न्यूज़ लाइट के कैमरामैन खान बस दुर्घटना में घायल


करुणेश शर्मा
शिवपुरी द न्यूज़ लाइट के कैमरामैन श्री साबिर खान भोपाल से शिवपुरी आते समय ब्यावरा में बस के टायर फटने से बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई जिसमें अन्य यात्रियों के साथ साथ द न्यूज़ लाइट के कैमरामैन साबिर खान घायल हो गए हैं जिनका उपचार शासकीय जिला चिकित्सालय शिवपुरी में किया जा रहा था किंतु डॉक्टरों की घोर लापरवाही के कारण उनका इलाज ढंग से नहीं किया जा रहा था इस कारण उन्हें सिद्धिविनायक अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां पर वह स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं जब मीडिया कर्मियों को भी जिला चिकित्सालय में चिकित्सीय सुविधाएं ढंग से प्रदान नहीं की जाती हैं तो आम जनता कितनी परेशान होगी इस बात का अंदाज लगाया जा सकता है क्योंकि भर्ती मरीजों को डाक्टरों द्वारा ढंग से नहीं देखा जाता है ना उनकी ओर ज्यादा ध्यान दिया जाता है बल्कि जो व्यक्ति डॉक्टरों को मोटी फीस देकर घर दिखाता है उसे चिकित्सीय सुविधाएं घर पर ही उपलब्ध कराई जाती हैं द न्यूज़ लाइट इस अंधेर गर्दी का आने वाले समय में भंडाफोड़ करेगा डॉक्टरों ने जनता के साथ फीस के नाम पर जो लूट कसूट मचा रखी है उसका खुलासा करेगा मुख्यमंत्री कमलनाथ व स्वास्थ्य मंत्री को अवगत कराया जाएगा क्योंकि इंटेंसिव केयर यूनिट जिला चिकित्सालय शिवपुरी में मरीजों का कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है.