प्रियंका चोपड़ा ने अपने ससुर के साथ तस्वीर शेयर करके उन्हें इस बात के लिए शुक्रिया कहा है

मुंबई: अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा जोनास ने अपनी सास डेनिस और ससुर केविन जोनास को अपनी बेटी की तरह प्यार देने के लिए शुक्रिया कहा। रविवार को फादर्स डे के मौके पर प्रियंका ने अपने ससुर के साथ ट्विटर पर एक तस्वीर साझा की। उसका कैप्शन था, “फादर्स डे की शुभकामनाएं पापा केविन जोनास, मैं भाग्यशाली हूं जो आप और मां डेनिस जोनास मेरी जिंदगी में आए। मुझे अपनी बेटी की तरह प्यार करने के लिए आपका शुक्रिया। ढेर सारा प्यार, हैप्पी फादर्स डे।”

प्रियंका ने अपने पॉप गायक पति निक जोनास से 2018 में दिसंबर में शादी की थी। इस जोड़े ने उमेद भवन पैलेस में ईसाई और हिंदू रीति-रिवाजों से शादी की थी। अभिनेत्री ने इसके साथ ही अपनी मां मधु चोपड़ा के जन्मदिन पर भी उनकी तस्वीर साझा कर जन्मदिन की बधाई दी।
वहीं अगर फिल्मों की बात करें तो प्रियंका ने हाल ही में सोनाली बोस की फिल्म ‘द स्काई इज पिंक’ की शूटिंग पूरी की है। इसमें फरहान अख्तर और जायरा वसीम भी हैं।

चुनाव से पहले बेंजामिन नेतन्याहू को बड़ा झटका, पत्नी सारा भ्रष्टाचार मामले में दोषी करार

यरुशलम, एजेंसी। इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की पत्नी सारा नेतन्याहू को भ्रष्टाचार मामले में दोषी करार दिया गया है। अदालत ने सारा को सार्वजनिक धन के दुरुपयोग के मामले में दोषी ठहराया है। इससे नेतन्याहू को चुनाव से पहले बड़ा झटका लगा है। सारा ने सुनवाई के दौरान धन के दुरुपयोग की बात स्वीकार ली है।

हालांकि, अदालत ने सारा (60) पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप रद कर दिए। उन पर 2800 डॉलर (करीब दो लाख रुपये) का जुर्माना लगाया गया है। सारा पर सरकारी धन का इस्तेमाल कर रेस्तरां से एक लाख डॉलर (करीब 70 लाख रुपये) का खाना मंगाने का आरोप था। उन पर यह झूठा बयान देने का भी आरोप था कि प्रधानमंत्री आवास में बावर्ची नहीं होने के कारण उन्हें ऐसा करना पड़ा था। 

इस मामले में उनके खिलाफ पिछले साल जून में धोखाधड़ी और विश्वासघात का केस दर्ज किया गया था। सारा को दोषी करार देने के बाद यरुशलम मजिस्ट्रेट कोर्ट के जज अवितल चेन ने उन्हें सरकारी खजाने में 12,500 डॉलर (करीब आठ लाख रुपये) का हर्जाना भरने का भी आदेश दिया। सारा यह रकम नौ किस्तों में भर सकती हैं। फैसला सुनाते हुए जज ने कहा कि अपराध की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए ही सजा सुनाई गई है।

सारा नेतन्याहू  पहले भी अपने कार्य-कलापों के चलते चर्चा में रही हैं। उन पर अपने प्रभाव का इस्तेमाल करने के मामले सामने आते रहे हैं। ताजा मामले से उनके पति का राजनीतिक करियर प्रभावित होने की आशंका है।

संसद में PM मोदी के शपथ लेने के बाद मोदी सरकार के मंत्री रामदास अठावले ने कांग्रेस से पूछा- कहां हैं राहुल गांधी?

नई दिल्ली: 17वीं लोकसभा के पहले सत्र में सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित नवनिर्वाचित सदस्यों ने निचले सदन की सदस्यता की शपथ ली. शपथ लेने के लिए जैसे ही प्रधानमंत्री का नाम पुकारा गया सदस्यों ने मेजें थपथपाकर उनका स्वागत किया जबकि भाजपा के कई सदस्यों ने ‘मोदी..मोदी’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाये. मोदी ने सदन के नेता होने के कारण सबसे पहले शपथ ली. उन्होंने हिन्दी में शपथ ली. पीएम मोदी के शपथ लेने के तुरंत बाद मोदी सरकार में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास अठावले ने कांग्रेस की तरफ इशारा करते हुए पूछा, ‘राहुल गांधी कहां हैं?’

वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, रसायन एवं उर्वरक मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा, मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी शपथ ली. इससे पहले कार्यवाहक अध्यक्ष वीरेन्द्र कुमार ने पीठासीन अध्यक्षों के पैनल की घोषणा की जिनमें के सुरेश, ब्रजभूषण शरण सिंह एवं बी महताब शामिल हैं

पहला सत्र शुरू होने पर कार्यवाहक अध्यक्ष वीरेन्द्र कुमार ने सभी नवनिर्वाचित सदस्यों को बधाई दी. सत्र का प्रारंभ राष्ट्रगान की धुन बजाये जाने के साथ हुआ. इसके बाद कार्यवाहक अध्यक्ष वीरेन्द्र कुमार ने सदन की परंपरा के अनुसार कुछ क्षणों का मौन रखने के लिए सदस्यों से कहा। सदस्यों ने अपने स्थानों पर खड़े होकर कुछ क्षणों का मौन रखा. इसके बाद कुमार ने सभी नवनिर्वाचित सदस्यों को बधाई दी। कार्यवाहक अध्यक्ष ने इसके बाद पीठासीन अध्यक्षों के नामों की घोषणा की.

इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को सात बार सांसद रहे वीरेन्द्र कुमार को लोकसभा के कार्यवाहक अध्यक्ष के रूप में शपथ दिलाई. बुधवार को नए लोकसभा अध्यक्ष की नियुक्ति के बाद उनकी भूमिका संपन्न हो जाएगी. कुमार ने भाजपा के टिकट पर मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ से लोकसभा चुनाव जीता है. वह पहली मोदी सरकार में राज्य मंत्री थे. कार्यवाहक अध्यक्ष के तौर पर कुमार लोकसभा के इस सत्र की पहली बैठक की अध्यक्षता करेंगे और नवनिर्वाचित सासंदों को शपथ दिलाएंगे. लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव भी उनकी निगरानी में किया जाएगा. नवगठित लोकसभा का पहला सत्र 17 जून से 26 जुलाई तक चलेगा.

मध्यप़ेश पुलिस ऐसे करेगी आपकी मदद ऑनलाईन ठगी का शिकार होने पर.

अगर आप ऑनलाइन ठगी के शिकार हो गए हैं और आपके लाखों रुपए फंस गए हैं तो मध्य प्रदेश की सायबर पुलिस आपकी मदद के लिए तैयार है. ऑनलाइन ठगी के शिकार हुए लोगों को तत्काल मदद देने के लिए स्टॉप बैंकिंग फ्रॉड नाम का ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तैयार किया है.इस प्लेटफॉर्म के जरिए फ्रॉड ट्रांसक्शन के दस से 12 घंटे के अंदर जानकारी मिलने पर फ्रॉड की राशि को बचा लिया जाता है. पुलिस अब तक ऐसे लोगों को साढ़े 7 करोड़ रुपए वापस दिला चुकी है.

घबराएं नहीं-यदि आपके साथ ऑनलाइन फ्रॉड होता है, तो घबराने की जरूरत नहीं है. फौरन मध्यप्रदेश की सायबर पुलिस को जानकारी देने से आपका पैसा बच सकता है. दरअसल, राज्य सायबर पुलिस ने स्टॉप ब्रैंकिंग फ्रॉड नाम से ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तैयार किया है.ये प्लेटफॉर्म एक सोशल मीडिया पर बनाया गया ग्रुप है.इसमें पूरे भारत के पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ ई कॉमर्स कंपनियों के नोडल अधिकारी को जोड़ा गया है.इस ग्रुप को हरियाणा सरकार ने डिजिटल इनोवेशन एंड साइबर सिक्योरिटी का ऑल इंडिया लेवल प्रथम पुरुस्कार दिया है.

ऐसे मिलेगी ऑनलाइन फ्रॉड में मदद

-ऑनलाइन फ्रॉड होने पर तत्काल या फिर 10 से 12 घंटे के अंदर सायबर पुलिस को जानकारी दें

-WWW.cyberfrauhelp.in वेबसाइट से मदद ली जा सकती है.

-फ्रॉड की जानकारी स्टॉप बैंकिंग फ्रॉड ग्रुप पर आने के बाद तत्काल ठगों के खातों में ट्रांसक्शन हुई राशि को ब्लॉक कर दिया जाता है.

-राशि ब्लॉक हो जाने से व्यक्ति ठगी का शिकार होने से बच जाता है.

-पिछले कुछ महीनों में सायबर पुलिस ने धोखाधड़ी का शिकार हुए लोगों को सात करोड़ 15 लाख रुपए उनके ई वॉलेट और क्रेडिट कार्ड खातों में वापस कराए

-ऑनलाइन फ्रॉड अधिकांश गिफ्ट कार्ड बेचने वाली कंपनियों के प्लेटफॉर्म और ई वॉलेट पर हो रहा है.

-ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर बनाए गए स्टॉप बैकिंग फ्रॉड ग्रुप को मध्यप्रदेश सायबर पुलिस संचालित करती है.

आज से संसद का सत्र शुरु,17वींं लोकसभा पर एक नजर.

नरेंद्र मोदी सरकार 2.0 बनने के बाद 17 वीं लोकसभा का सोमवार (17 जून) से पहला संसद सत्र शुरू होगा. 26 जुलाई तक चलने वाले इस सत्र में पांच जुलाई को बजट पेश होगा. शुरुआती दो दिन तक प्रोटेम स्पीकर की ओर से सांसदों को शपथ दिलाई जाएगी. 19 जून को लोकसभा स्पीकर का चुनाव होगा. फिर संसद के दोनों सदनों के संयुक्त सत्र की बैठक में राष्ट्रपति का अभिभाषण होगा. 17 वीं लोकसभा की कई चीजें अहम हैं. दागी सांसदों की संख्या बढ़ने जैसी निगेटिव बात भी है. कुछ निगेटिव कुछ चीजें पहली बार नजर आएंगी. जानिए 17 वीं लोकसभा की कुल छह अहम बातें-

नहीं दिखेंगे दिग्गज नेता

17 वीं लोकसभा में कई दिग्गज नेता नहीं दिखेंगे. इसमें वे नेता भी शुमार हैं, जिनकी आवाज पिछले तीन दशक से भी अधिक समय तक संसद में गूंजती रही. बीजेपी के सबसे वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, सुषमा स्वराज, सुमित्रा महाजन, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा, मल्लिकार्जुन खड़गे, ज्योतिरादित्य सिंधिया इस बार लोकसभा में नहीं दिखेंगे. ये सभी नेता या तो चुनाव मैदान में नहीं उतरे या फिर चुनाव हार गए.

आजादी के बाद सबसे ज्यादा महिलाएं

इस बार कुल 78 महिलाएं सांसद बनीं हैं. आजादी के बाद से यह आंकड़ा सर्वाधिक है. कुल सदन संख्या का 14.8 प्रतिशत महिलाएं होंगी. 2014 में महिला सांसदों की संख्या 62 थी. इस लोकसभा चुनाव में कुल 719 महिलाएं चुनाव मैदान में उतरी थीं. जिसमें 78 चुनाव जीतने में सफल रहीं. 2019 के लोकसभा चुनाव में 267 सांसद पहली बार चुनाव जीते हैं.

युवा संसद

2014 वीं लोकसभा, देश के संसदीय इतिहास में सबसे बूढ़े सांसदों वाली लोकसभा में से एक रही. तब 543 सांसदों में 253 की औसत उम्र 55 साल से अधिक थी. इस बार सांसदों की औसत उम्र 54 साल है. इस प्रकार देखें तो 2014 की तुलना में यह ‘युवा संसद’ है. ओडिशा की चंद्राणी मुर्मू सबसे युवा सांसद हैं. 25 साल 11 महीने की उम्र में वह सांसद बनीं.

कांग्रेस ने नहीं खोला पत्ता

17 वीं लोकसभा में कांग्रेस का नेता कौन होगा, इसको लेकर कांग्रेस ने अभी तक स्थिति साफ नहीं की है. उधर बीजेपी ने भी अभी लोकसभा स्पीकर को लेकर अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है. अटकलें लगाई जा रहीं हैं कि प्रोटेम स्पीकर वीरेंद्र कुमार को ही स्पीकर बनाया जा सकता है.

दागी सांसदों की संख्या बढ़ी

17 वीं लोकसभा में 88 प्रतिशत करोड़पति सांसद हैं.  542 में से 475 करोड़पति सांसद सदन में पहुंचे हैं. इसमें बीजेपी के पास सर्वाधिक 265 करोड़पति हैं. वहीं कांग्रेस के 43 सांसद करोड़पति हैं. बीजेपी की सहयोगी शिवसेना के 18 और जदयू के 15 सांसद करोड़पति हैं. जबकि डीएमके के 22,तृणमूल के 20 और जगन मोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआईर के 19 सांसद करोड़पति हैं. 2014 की तुलना में इस बार दागी सांसदों की संख्या बढ़ी है. इसी तरह कुल 233 दागी नेता भी सांसद बने हैं. 2014 में 34 प्रतिशत सांसदों पर केस थे. सबसे ज्यादा बीजेपी के 116 सांसदों पर केस हैं, वहीं 29 दागियों के साथ कांग्रेस दूसरे स्थान पर है.

महत्वपूर्ण बिल

16 वीं लोकसभा में पारित होने के अभाव में 46 बिल लैप्स हो गए थे. इस बार 17 वीं लोकसभा में कई महत्वपूर्ण बिल पर सभीकी निगाहें रहेंगी. इनमें तीन तलाक, मोटर व्हीकल बिल, आधार नंबर के पहचान पत्र के रूप में प्रयोग से जुड़ा बिल, चिकित्सा शिक्षा में पारदर्शिता से जुड़े मेडिकल काउंसिल बिल अहम हैं.

360 ग्राम अफीम कीमती 43 हजार के साथ एक आरोपी को गिरफ्तार

शिवपुरी। पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश सिंह चंदेल ने समस्त थाना प्रभारियो को नशीले मादक पदार्थ रखने वाले एवं उसका परिवहन करने वाले लोगों के खिलाफ शक्ती से कार्यवाही करने के निर्देश दिये है जिसके परिणामस्वरूप  थाना फिजीकल  ने बड़ी कार्यवाही करते हुए 43000 रूपये की अफीम के साथ एक आरोपी के विरूद्ध एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही की गई।
दिनांक 15.06.2019  को थाना फिजीकल पर मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि खिन्नी नाका फक्कड कालोनी के पास आदिवासी छात्रावास के पास एक संधिग्ध व्यक्ति मादक पदार्थ लिये है सूचना पर से थाना फिजीकल की उनि दीप्ती तोमर व्दारा वरिष्ट अधिकारियो को अवगत कराया विरिष्ट अधिकारियो के मार्गदर्शन मे उनि दीप्ती तोमर मय फोर्स के मुखविर के बताये स्थान पर पहुंची तो देखा वहां एक व्यक्ति खडा है जो पुलिस को अपनी ओर आता देख भागने लगा हमराह फोर्स की सहायता से घेराबंदी कर आरोपी को पकडा नाम पता पूछने पर अपना नाम सोनू कुशवाह पुत्र रामजीलाल कुशवाह उम्र 24 साल निवासी टी व्ही टावर के नीचे आकाशवाणी के पास शिवपुरी की होना बताया जिसके पास से सफेद मादक पदार्थ स्मैक 360 ग्राम कीमती 43 हजार की जप्त कर आरोपी के खिलाफ एन डी पी एस की कार्यवाही कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया।
पुलिस द्वारा नशीले मादक पदार्थ के विरूद्ध कार्यवाही 
448 ग्राम गांजा कीमती 4800 रु. के साथ 2 आरोपियो को किया गिरफ्तार
शिवपुरी। पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश सिंह चंदेल ने समस्त थाना प्रभारियो को नशीले मादक पदार्थ रखने वाले एवं उसका परिवहन करने वाले लोगों के खिलाफ

शक्ती से कार्यवाही करने के निर्देश दिये है जिसके परिणामस्वरूप   थाना कोतवाली एवं थाना देहात ने बड़ी कार्यवाही करते हुए  थाना कोतवाली, थाना देहात ने 4800 रु. गांजा के साथ दो आरोपियों के विरूद्ध एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही की गई।
दिनांक 15.06.19 को थाना प्रभारी कोतवाली को मुखबिर व्दारा सूचना प्राप्त हुई की पोहरी बस स्टेण्ड के पास एक संदिग्ध व्यक्ति अबैध गांजा  लिए खड़ा है है और बेचने के फिराक में हैं । सूचना पर से थाना प्रभारी कोतवाली वादाम सिंह यादव  व्दारा मुकबिर की सूचना से वरिष्ट अधिकारियों को अवगत कराकर विरिष्ट अधिकारियो के निर्देशन मे थाना प्रभारी कोतबाली व्दारा पोहरी बस स्टेण्ड पर पहुंच कर देखा तो मुखबिर व्दारा बताये हुलिये का एक व्यक्ति दिखा जिससे पूछ ताछ की तो अपना नाम दीपक पुत्र देवेन्द्र गुप्ता उम्र 28 साल निवासी किला रोड पोहरी जिला शिवपुरी का होना बताया जिसकी विधिवत तलाशी लेने  पर  उसके कब्जे से 230 ग्राम अबैध गांजा कीमती 2300 रु. का जप्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर आरोपी के खिलाफ एन डी पी एस की कार्यवाही की गई
इसी क्रम में थाना देहात पर मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई की गौशाला पुलिया  के पास   एक संदिग्ध व्यक्ति अबैध गांजा  लिए खड़ा है है और बेचने के फिराक में हैं । सूचना पर से थाना प्रभारी देहात व्दारा मुकबिर की सूचना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराकर वरिष्ठ अधिकारियो के निर्देशन मे थाना प्रभारी देहात द्वारा उपनिरीक्षक अंजली सिंह के नेतृत्व में एक टीम बनाकर मुखबिर द्वारा बताए स्थान पर रवाना की मुखबिर द्वारा बताए स्थान पर जाकर देखा तो वहां एक संदिग्ध व्यक्ति खड़ा दिखा संदेह होने पर पूछताछ की आरोपी ने अपना नाम विष्णु उर्फ सोनू नामदेव पुत्र काली चरण नामदेव नि. गणेश गली नीलघर चौराहे का होना बताया आरोपी के कब्जे से 218 ग्राम अबैध गांजा कीमती 2500 रु. का जप्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर आरोपियो के खिलाफ एन डी पी एस की कार्यवाही की गई।

घटयात्रा एवं ध्वजारोहण के साथ शुरु हुआ विश्व शांति महायज्ञ एव श्रीसिद्ध चक्र महामंडल विधान, विधायक सुरेश रांठखेड़ा ने किया ध्वजारोहण.

शिवपुरी-पोहरी नगर में श्री सात दिवसीय सिद्धचक्र महामंडल विधान एवं विश्व शांति महायज्ञ की शुरूआत घटयात्रा एव ध्वजारोहण के साथ हुई। प्रेस को जारी विज्ञप्ति में जैन समाज के कोषाध्यक्ष योगेन्द्र जैन पत्रकार ने बताया कि प्रात:काल श्री 1008 चंदप्रभु जिनालय से कलशों में जल भर कर महिलाएं पीली साड़ी पहने सिर पर कलश लेकर आगे छोटे छोटे बच्चे जैन धर्म की धर्मध्वज लेकर एवं पुरुष श्री जिनेंद्र देव को बड़े धूमधाम एवं बैंड बाजे के साथ नगर से मुख्य मार्गो से होते हुए जैन धर्म एवं भगवान आदिनाथ के जयकारों के साथ घटयात्रा कार्यक्रम स्थल अग्रवाल धर्मशाला पहुंचे। कार्यक्रम स्थल पर ब्रह्मचारी संजीव जैन कटंगी, ब्रह्मचारी अरुण भैया जी ने श्री जिनेंद्र देव का अभिषेक एवं शांति धारा भक्तों द्वारा की गई। कार्यक्रम में ध्वजारोहण पोहरी विधायक सुरेश रांठखेड़ा द्वारा किया गया । ध्वजारोहण के साथ ही श्री सिद्ध चक्र महामंडल विधान एव विश्व शांति महा यज्ञ का आयोजन शुरू हो गया है ।
पोहरी क्षेत्र में जैन समाज मे 20 साल बाद बड़े ही धूम धाम के साथ पुण्यार्जक कोमलचंद,लक्ष्मण लाल जैन मनोज जैन,अभय जैन चकराना परिवार के पुण्य उदय से सिद्धों की महा आराधना कराने का अवसर जैन समाज को मिल रहा है। इस विधान में लगातार सात दिनों तक  सिद्धों की महा आराधना की जा रही है। अग्रवाल धर्मशाला में सात दिवसीय श्री सिद्ध चक्र महा मंडल विधान एव विश्वशांति महायज्ञ का आयोजन आचार्य विद्यासागर सागर महाराज के आशीर्वाद ,मुनि श्री निश्चित सागर महाराज की प्रेरणा एव बह्मचारी संजीव भैया जी एवं अरुण भैया जी के निर्देशन में विधान का आयोजन चल रहा है। आयोजक परिवार द्वारा कार्यक्रम स्थल पर बाहर से पधारे भक्तों के भोजन की व्यबस्था की गई है।