प्रशांत कनौजिया ने रिहाई के बाद कहा- ‘मुझे संविधान पर पूरा भरोसा’


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित अभद्र टिप्पणी करने के मामले में गिरफ्तार फ्रीलांस पत्रकार प्रशांत कनौजिया जेल से रिहा हो गए हैं. जेल से निकलने के बाद कनौजिया ने कहा, ‘‘मुझे संविधान पर पूरा भरोसा है. मैं पहले सुप्रीम कोर्ट का ऑर्डर पढ़ूंगा फिर विस्तार से मीडिया से बात कर के सब बताऊंगा.’’

प्रशांत कनौजिया को बीस-बीस हजार के दो निजी मुचलके भरवाने के बाद रिहा किया गया है. साथ ही तीन शर्तों के बाद ही प्रशांत की रिहाई को मंजूरी मिली है.

ये तीन शर्तें हैं:

कोर्ट के आदेश पर बुलाने पर हाजिर होनासबूतों के साथ छेड़छाड़ न करनाआगे से ऐसी किसी भी गतिविधि में दोबारा संलिप्त न होना

सुप्रीम कोर्ट ने दिए थे प्रशांत की रिहाई के ऑर्डर

प्रशांत कनौजिया की पत्नी ने रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था. जस्टिस इंदिरा बनर्जी ने उत्तर प्रदेश सरकार को प्रशांत की रिहाई के आदेश दिए थे. सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक प्रशांत की गिरफ्तारी गैर-जरूरी थी.

जस्टिस इंदिरा बनर्जी और अजय रस्तोगी की बेंच ने कहा, “हम राज्य की ओर से पत्रकार को गिरफ्तार करने की कार्रवाई के बाद उसकी स्वतंत्रता छीना जाना नामंजूर करते हैं.”

साथ ही अदालत ने उत्तर प्रदेश के वकील की कनौजिया की गिरफ्तारी को सही ठहराने की कोशिश को नामंजूर करते हुए कहा, “हम उस देश में रहते हैं जिसका एक संविधान है और यह दुनिया में सबसे बेहतरीन है.”

वकील ने बहस के दौरान कहा कि कनौजिया ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट से किसी के अधिकार का हनन किया लेकिन अदालत ने कहा कि इसे किसी व्यक्ति को सलाखों के पीछे डालकर सही नहीं ठहराया जा सकता.

ऐसी कैसी योजना है जो 11 साल में भी पूरी नहीं हो पाई मड़ीखेड़ा सिंध पेयजल योजना पर सांसद के पी यादव ने पूछा.

शिवपुरी गुना लोकसभा सीट पर सिंधिया परिवार के अपराजित गढ़ का मिथक तोड़कर बड़ी जीत हासिल करने वाले सांसद केपी यादव पहली बार शिवपुरी दौरे पर आए और कलेक्ट्रेट में विभिन्ना विभागों के अधिकारियों की बैठक ली। यूं तो यह बैठक सभी विभागों से जुड़ी थी, लेकिन सांसद का फोकस शिवपुरी की महत्वाकांक्षी मड़ीखेड़ा सिंध पेयजल योजना पर रहा। सांसद ने नपा के अधिकारियों से योजना की वस्तु स्थिति जानना चाही तो हमेशा की तरह नपा के अधिकारी योजना की स्थिति और कब तक पूरी होगी इसे लेकर सटीक जवाब तो नहीं दे पाए, बल्कि एक बार फिर सांसद के सामने फंड का रोना रो डाला। सांसद ने भी बेहद सहज ढंग से यह कह डाला कि मुझे इस योजना के बारे में जानने की उत्सुकता है कि आखिर ये कैसी योजना है, जो 11 साल में पूरी नहीं हो पाई। सांसद का यह बयान उनकी ही पार्टी में चर्चा का विषय बन गया, क्योंकि पिछले 11 साल से प्रदेश में भाजपा की ही सरकार थी।

कॉलेज में प्रवेश के लिए छात्राओं को किया जागरूक, निकाली रैली

कॉलेज चलो अभियान के तहत कन्या कॉलेज में मौजूद छात्राएं व प्रोफेसर।

नवीन सत्र में छात्र-छात्राएं कॉलेज में प्रवेश लें,इसके लिए शहर के दोनों बड़े कॉलेज के प्रबंधन की चिंताएं बढ़ गई है। प्रवेश प्रभारी प्राध्यापक जहां छात्र-छात्राओं को जागरुक करने की नसीहत दे रहे हैं,वहीं शहर के मुख्य मार्गों से रैली निकालकर भी जागरुकता का संदेश देने छात्रों को प्रेरित कर रहे है। 

प्रियदर्शनी इंदिरा गांधी कन्या महाविद्यालय में कॉलेज छात्राओं को नसीहत देते हुए प्राचार्य डॉ एन के जैन ने कहा कि यह महाविद्यालय आपका है,आप इसमें पढ़ रही है और कई लोग यहां आकर पूछते हैं कि क्या कॉलेज में छात्राओं के लिए कामर्स संकाय भी यहां है। जबकि यहां लंबे अर्से से कॉमर्स क्लास चल रही है। पर अभिभावकों को यह जानकारी नहीं। मेरा आपसे आग्रह है कि महाविद्यालय एक परिवार है और इसमें छात्राओं की भी उतनी ही भूमिका है जितनी भूमिका प्राचार्य या प्राध्यापकों की है। इसलिए आप अपने आसपास के लोगों को जागरुक करें। कॉलेज में संचालित होने वाले कोर्सेस के बारे में भी बताएं।इनके साथ ही कॉलेज की डॉ ज्योत्सना सक्सेना ने छात्राओं से महाविद्यालय में संचालित होने वाले कोर्स बीए,बीएससी के मैथ्स और बायो तथा कॉमर्स सैक्शन की जानकारी देने को कहा। 

कॉलेज चलो अभियान के अंतर्गत शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में रैली का आयोजन संयोजक डॉ जी पी शर्मा के निर्देशन में किया गया। रैली में महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य प्रोफेसर महेंद्र कुमार के साथ नोडल अधिकारी डॉ यूसी गुप्ता, सदस्य डॉ पदमा शर्मा, प्रोफेसर पवन श्रीवास्तव, प्रवेश प्रभारी डॉ हरीश अंब, डॉ एम एस हिंडोलिया, डॉ रामजीदास राठौर , प्रोफेसर केदार श्रीवास के साथ स्टाफ के अन्य सदस्य उपस्थित रहे। रैली के पूर्व डॉ.रामजी दास राठौर ने कहा कि 12 वी उत्तीर्ण छात्रों को महाविद्यालय में प्रवेश लेने प्रेरित करें।इसके बाद महाविद्यालय में कॉलेज चलो अभियान की एक रैली निकाली गई जिसमें छात्र-छात्राओं द्वारा पढ़ने के लिए-कॉलेज चलो,आगे बढ़ने- कॉलेज चलो,राष्ट्र निर्माण के लिए- कॉलेज चलो,और समाज सेवा के लिए-कॉलेज चलो के नारे लगाए गए। 

निःशुल्क आयुर्वेद चिकित्सा शिविर 14 जून को

शिवपुरी, शासकीय 30 शैय्या जिला आयुर्वेद चिकित्सालय पुरानी शिवपुरी द्वारा 14 जून को वार्ड नम्बर 17 मदकपुरा लुधावली एवं 19 जून 2019 को वार्ड क्रमांक 24 अयोध्या हरिजन बस्ती में निःशुल्क आयुर्वेद चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया जाएगा। 
शासकीय 30 शैय्या जिला आयुर्वेद चिकित्सालय पुरानी शिवपुरी के अधीक्षक (एम.एस.) डाॅ.विपिन सिंह तोमर ने बताया कि शिविर में समाप्त रोगों का उपचार विशेषज्ञ आयुर्वेद द्वारा किया जाएगा। शिविर सुबह 08 बजे से 12 बजे तक आयोजित होगा। अधिक से अधिक संख्या में पहुंचकर शिविर का लाभ लें।