सीएम कमलाथ 10 जून को लेंगे विधायक पद की शपथ, तैयारियां पूरी

मुख्यमंत्री कमलनाथ 10 जून को विधायक पद की शपथ लेगें. मध्य प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति कमलनाथ को सुबह 10 बजे कमलनाथ को शपथ दिलाएंगे.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ 10 जून को विधायक पद की शपथ लेगें. मध्य प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति कमलनाथ को सुबह 10 बजे कमलनाथ को शपथ दिलाएंगे. बता दें 17 दिसम्बर को कमलनाथ ने मुखमंत्री पद की शपथ ली थी. उस वक्त कमलनाथ विधानसभा के सदस्य नहीं थे. इसके बाद लोकसभा चुनाव के साथ ही छिंदवाड़ा में विधानसभा के लिए भी चुनाव हुए थे, जिसमें कमलनाथ ने जीत हासिल की थी. नियमों के अनुसार उन्हें मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के 6 महीनों के अंदर मध्य प्रदेश विधानसभा में विधायक बनना जरुरी है.

सात बार रह चुके हैं सांसद-

कमलनाथ ने स्कूली शिक्षा देहरादून स्कूल से की. इसके बाद सेंट जेवियर कॉलेज कोलकाता से उन्होंने कॉमर्स में ग्रेजुएशन किया. वह 1979 में पहली बार छिंदवाड़ा से सांसद चुने गए. इसके बाद 1984, 1990, 1991, 1998, 1999, 2004, 2009 और 2014 में वे लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए.

केंद्र सरकार में निभाईं अहम जिम्मेदारियां-

मध्य प्रदेश का सीएम बनने से पहले कमलनाथ 1991 से 1994 तक केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री, 1995 से 1996 केंद्रीय कपड़ा मंत्री, 2004 से 2008 तक केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री, 2009 से 2011 तक केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री, 2012 से 2014 तक शहरी विकास एवं संसदीय कार्य मंत्री रह चुके हैं. उन्होंने भारत की शताब्दी एवं व्यापार, निवेश, उद्योग नामक पुस्तक भी लिखी है.

कांग्रेस के संगठन में निभाए खास दायित्व-

1968 में वे युवक कांग्रेस में शामिल हुए. 1976 में उत्तर प्रदेश युवक कांग्रेस का उन्हें प्रभार मिला. 1970 – 81 तक वे अखिल भारतीय युवा कांग्रेस की राष्ट्रीय परिषद के सदस्य रहे. 1979 में युवा कांग्रेस की ओर से महाराष्ट्र के पर्यवेक्षक, 2,000-2018 तक वे अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और वर्तमान मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हैं. 2006 में रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर ने उन्हें डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया.

कोलारस विधान सभा मेंं कूड़ा जागीर के कुलदीप शर्मा ने पोलिंग पर सिंधिया को विजय दिलवाई : इनसे मिलिए में

इनसे मिलिए कार्यक्रम में आज हम आपकी मुलाकात कांग्रेस के एक ऐसे कार्यकर्ता कुलदीप शर्मा से करा रहे हैं जिन्होंने कूड़ा जागीर टपरा कोलारस विधानसभा के पोलिंग बूथ क्रमांक 16 व 17 पर अभूतपूर्व कार्य करके श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया को इन दोनों बूथों से विजयश्री दिलवाई. कुलदीप शर्मा कांग्रेस की एक ऐसे कार्यकर्ता हैं जिन्होंने तन मन धन से इन दोनों दोनों बूथों पर कार्य किया जहां पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने विजयश्री हासिल की लोकसभा चुनाव में जहां पर ज्योतिरादित्य सिंधिया अधिकांश पोलिंग हारे हैं शिवपुरी में विशेष तौर से अधिकांश बूथों पर उनको हार का सामना करना पड़ा है ऐसी मोदी लहर में व कठिन परिस्थितियों में कुलदीप शर्मा ने अभूतपूर्व कार्य करके कूड़ा जागीर टपरा की दोनों पोलिंग पर ज्योतिरादित्य सिंधिया को विजयश्री दिलाई दूसरी ओर कांग्रेस के हवा हवाई नेता बड़े बड़े नेता अपने पोलिंग से ज्योतिरादित्य सिंधिया को विजय नहीं करवा पाए वहीं कुलदीप शर्मा ने यह अभूतपूर्व कार्य कर ज्योतिरादित्य सिंधिया को इन पोलिंग से विजयश्री दिलवाई आज हम आपकी मुलाकात कुलदीप शर्मा कूड़ा जागीर से करवा रहे हैं जो युवा कर्मठ हैं साहसी हैं इनसे भेंट करते हैं

जनसम्पर्क विभाग में तबादले,अनूप सिंह भारती की जगह सुश्री प्रियंका लेंगी।

भोपाल। मध्य प्रदेश में तबादलों का दौर जारी है। शुक्रवार देर रात राज्य सरकार ने जनसंपर्क विभाग में आधा दर्ज से अधिक अफसरों के तबादले आदेश जारी किए हैं। इनमें 9 अफसरों के तबादले किए गए हैं।

सूर्य के मृगशिरा में प्रवेश से 22 जून तक नहीं मिलेगी गर्मी से राहत, जम्मू-कश्मीर रहेगा चर्चा में

सूर्यदेव का मंगल के नक्षत्र मृगशिरा में प्रवेश 8 जून 2019 को शाम 6:13 मिनट पर होगा। वह 22 जून 2019 को सायंकाल 5:19 मिनट पर मृगशिरा को छोड़ कर अगले नक्षत्र आर्दा में प्रवेश करेंगे। मेदिनी ज्योतिष की दृष्टि से ग्रहों का राजा सूर्य प्रकृति के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। सूर्य देव अग्नि तत्व के स्वामी है इनकी गर्मी जीवन जीने के लिए लाभदायक है। मंगल भी ऊर्जा का कारक है और सूर्य भी, लिहाजा लोगों को 22 जून तक गर्मी से कोई खास निजात नहीं मिलने वाली है।

ऑल इंडिया फेडरेशन ऑफ एस्ट्रोलॉजर्स सोसाइटी (AIFAS) के कानपुर चैप्टर के असिस्टेंट प्रोफेसर शील गुप्ता ने बताया कि अन्न एवं वनौषधि के बीज बोने के बाद उसका पोषण, वृद्धि और उसे भोजन योग्य तैयार करने में प्राकृतिक वातावरण में जो भी परिवर्तन है, उसका विचार सूर्य से किया जाता है। मौसम, भूकंम्प, खाद्य एवं मसाले एवं सभी प्रकार की उपज या अन्य कोई कारण, जिससे जनमानस प्रभावित हो इसका विचार सूर्य से होता है.

इन नक्षत्रों में रहेंगे अन्य ग्रह

मृगशिरा नक्षत्र के स्वामी मंगल है। सूर्य के मृगशिरा नक्षत्र में वास के समय अन्य ग्रहों की स्थितियां भी महत्वपूर्ण हो जाती हैं। इस अवधि में मंगल पुनर्वसु नक्षत्र में, बुध 13 जून तक आर्द्रा नक्षत्र में, गुरु ज्येष्ठा नक्षत्र में, शुक्र कृतिका नक्षत्र में, शनि पूर्व षाढ़ा नक्षत्र में, राहु पुनर्वसु नक्षत्र में, केतु भी पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में गोचर करेगे। धनु राशि में शनि-केतु की युति व इसके सामने मिथुन राशि मे मंगल-राहु की युति अंगारक योग का निर्माण कर रही है.

बढ़ेगी गर्मी और तपन

20 जून तक बुध भी राहु-मंगल के साथ इस युति में शामिल रहेंगे। इस अवधि में शनि व गुरु वक्री रहेंगे। मेदिनीय ज्योतिष में अग्नि तत्व के मंगल धरती के कारक हैं। सूर्य की अग्नि जीवन दायिनी है, तो मंगल की अग्नि विध्वंसक है। राहु के साथ मिल कर इनकी अग्नि का प्रभाव कई गुना विध्वंसकारी हो जाता है। मिथुन राशि वायु तत्व की राशि है। अग्नि को वायु का साथ मिले, तो ज्वालामुखी जैसा प्रभाव हो सकता है।

लिहाजा, इस अवधि में तेज गर्म हवाएं चल सकती है। धरती की तपन भी बढ़ सकती है। राहु के प्रभाव से भूमि पर दरारें भी पड़ सकती हैं। भूगर्भ जल स्तर भी सामान्य से अधिक कम हो सकता है और जन व पशु हानि हो सकती है। बुध भी 20 जून तक अपनी मिथुन राशि मे ही रहेंगे और मंगल-राहु की युति से पीड़ित रहेंगे। इस अवधि में हरी खाद्य सब्जियां का उत्पादन कम हो सकता है इनके मूल्य बढ़ सकते हैं।

इन वर्गों के लोग रहें सावधान

बुध कम्युनिकेशन, मीडिया, राजदूत, बौद्धिक वर्ग, व्यापार व आपसी बातचीत का कारक है। इस अवधि में इनसे सम्बंधित भी अशुभ घटनाएं व उग्रता तनातनी देखने को मिल सकती है। शनि-केतु के प्रभाव से मजदूर वर्ग, जमीदार, वृद्ध पुरुष आदि सामूहिक रूप से प्रभावित हो सकते हैं। सूर्य का मृगशिरा नक्षत्र में गोचर सर्वतोभद्र चक्र के अनुसार, उत्तराषाढ़ा नक्षत्र को अपनी सन्मुख दृष्टि से वेध कर रहा है।

जम्मू-कश्मीर रहेगा चर्चा में 

कूर्मचक्र के अनुसार, उत्तराषाढा नक्षत्र देश के उत्तरी पश्चमी हिस्से का प्रतिनिधित्व करता है, जिसमें जम्मू-कश्मीर व इससे लगा भू-भाग आता है। सूर्य का वेध इस स्थान पर होने से केंद्र सरकार इस क्षेत्र से विषय मे महत्वपूर्ण प्रशासनिक निर्णय ले सकती है। सूर्य का मृगशिरा नक्षत्र में गोचर के सम्पूर्ण काल अवधि में देश का ये हिस्सा चर्चा में रह सकता है।

मंगल और राहु, दोनों पुनर्वसु नक्षत्र में गोचर कर रहे हैं। सर्वतोभद्र चक्र के अनुसार, ये दोनों सामान्य गति करते हुए अपनी सन्मुख दृष्टि से मूल नक्षत्र का वेध कर रहे हैं। मूल नक्षत्र कूर्म चक्र के अनुसार, देश के पश्चमी हिस्से का प्रतिनिधित्व करता है। तो इस प्रकार देश के पश्चमी हिस्से में अत्यधिक गर्मी, तपन, जन उपद्रव, आगजनी आदि की आशंका है।

खाद्यान्नों की काला बाजारी संभव

वक्री शनि पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में केतु के साथ हस्त नक्षत्र का वेध कर रहा है, जो कूर्म चक्र में दक्षिण हिस्से में आती है। अतः इस भाग में मानसून देर से प्रवेश कर सकता है। वक्री गुरु का गोचर ज्येष्ठा नक्षत्र वृश्चिक राशि मे हो रहा है, जो गुप्त और छुपे स्थानों की राशि है। अतः अन्न धान्य का गुप्त रूप से अवैध भंडारण काला बाजारी के लिए किया जा सकता है।

नवागत एसपी ने पुलिस महकमे को चेेेेताया, बैठक में दिये सख्‍त निर्देश

पुलिस अधीक्षक शिवपुरी राजेश सिंह चंदेल एवं अति. पुलिस अधीक्षक गजेन्द्र सिंह कंवर द्वारा पुलिस कण्ट्रोल रूम शिवपुरी में क्राइम मीटिंग ली गई । जिसमें सभी एसडीओपी एवं थाना प्रभारियों को अपराधों की रोकथाम हेतु अपनी कमर कसकर बेहतरीन ढंग से कार्य करने के निर्देश दिए। पुलिस अधीक्षक शिवपुरी के द्वारा क्राईम मीटिंग के दौरान निम्न बिन्दुओंपर निर्देश दिए –

सभी थाने लंबित अपराध /मर्ग/चालान की संख्या अधिक है अधिक से अधिक निराकरण करें ।जुआ/सट्टा, स्मैक, गांजा, अबैध बसूली/आदि पर पूर्णतः रोक लगाई जावे।किसी भी थाना क्षैत्र मे अबैध उत्खनन किसी भी सूरत मे बरदास्त नही होगा ।अबैध उत्खनन को पूर्णतः बंद करें ।सम्पत्ती संबंधी अपराध, मर्ग, हत्या, आदि गंभीर अपराधो मे थाना प्रभारी स्वयं घटना स्थल जाकर घटनास्थल का मुआयना करेंगे ।महिला संबंधी अपाराधो मे कमी लाने के लिये कोचिंग सेन्ट्रों पर जाकर पास्को एक्ट, ई-कोप एप एवं महिला जागरुकता के बारे मे जानकारी दें।थानो पर प्राप्त शिकायतों का निराकरण 15 दिन से भीतर करना सुनिश्चित करें।थाना प्रभारी अपने क्षैत्र के कस्बो मे भी ट्राफिक व्यवस्था लगायें ताकि आम जन को ट्राफिक संबंधी समस्य़ा न हो ।

इस अवसर पर जिला शिवपुरी के समस्त एस.डी.ओ.पी.,रक्षित निरीक्षक शिवपुरी एवं जिले के समस्त थाना प्रभारी,कण्ट्रोल रूम प्रभारी एवं पुलिस अधीक्षक कार्यालय के अधिकारी उपस्थित रहे।