योग गुरु बाबा रामदेव का पीएम मोदी को लेकर ‘यू- टर्न’, कहा- बीजेपी को जीताकर नरेंद्र मोदी को ही बनाए पीएम

नई दिल्ली: योग गुरु बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने पीएम मोदी (PM Modi) को एक बार फिर देश का पीएम बनाने की कवायत की है. उन्होंने (Baba Ramdev) जयपुर में कहा कि इस चुनाव में आम लोगों को बीजेपी के लिए मतदान करना चाहिए. वह यहां केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर के नामांकन के लिए पहुंचे थे. बाबा रामदेव (Baba Ramdev) के इस बयान को यू-टर्न के रूप में देखा जा रहा है. बता दें कि कुछ महीने पहले ही बाबा रामदेव ने पीएम मोदी (PM Modi) के दोबारा पीएम (PM Modi) बनने को लेकर बयान दिया था. उस दौरान उन्होंने कहा था कि आगामी लोकसभा चुनाव के बाद देश का पीएम कौन होगा यह नहीं कहा जा सकता है. उस समय बाबा रामदेव (Baba Ramdev) के इस बयान को पीएम मोदी (PM Modi) के खिलाफ माना जा रहा था. 
राज्यवर्धन सिंह राठौर के नामांकन प्रक्रिया के पूरे होने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए बाबा रामदेव ने कहा कि अगर भारत को वैश्विक अर्थव्यवस्था और देश को अगले 20 से 25 साल में सुपर पावर बनाना है तो हमें किसी भी तरह मोदी को मजबूत बनाना होगा. यह देश उनके हाथों में सुरक्षित है. उनके होने से जवानों का भविष्य सुरक्षित होंगी, महिलाएं सुरक्षित होंगी और किसानों की खेती भी सुरक्षित रहेगी. उन्होने आगे कहा कि पीएम मोदी एक मात्र ऐसे नेता है जो इस देश को सुरक्षित रख सकते है. भारत माता को नरेंद्र मोदी पर गर्व होता होगा. 
इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर भी जमकर हमला बोला. बाबा रामदेव ने कांग्रेस पार्टी के न्याय योजना पर भी टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है जब जनता कांग्रेस को सजा देगी. अब हर बूथ पर ‘न्याय’ करने की जरूरत है. हर बूथ पर जतना कांग्रेस के विरोध में ‘न्याय’ करेगी. अब मतदाता खुद न्याय करेंगे. 
बता दें कि कुछ समय पहले बाबा रामदेव ने खुदको बीजेपी  से अलग कर लिया था. पिछले साल सितंबर में एनडीटीवी के युवा कॉनक्लेव में जब उनसे पूछा गया था कि क्या वह आगामी लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लिए प्रचार करेंगे तो बाबा रामदेव ने कहा था कि मैं ऐसा क्यों करूंगा. मैंने खुदको राजनीति से दूर रखने का फैसला किया है. मैं या तो सभी पार्टियों के साथ हूं या फिर किसी भी पार्टी के साथ नहीं हूं. 

भोपाल से दिग्विजय के सामने प्रज्ञा का नाम, कांग्रेस ने इंदौर से संघवी को उतारा

भोपाल। मालेगांव ब्लास्ट के बाद सुर्खियों आई और लंबी कानूनी प्रक्रिया से गुजर चुकीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार होंगी। हाईकमान से लेकर प्रदेश स्तर तक इस पर सहमति बन गई। भोपाल के स्थानीय नेताओं को भी सूचना दे दी गई है। प्रज्ञा ठाकुर के नाम की घोषणा आज हो सकती है। इस फैसले से साफ है कि मप्र की हॉट सीट बन चुकी भोपाल में कांग्रेस उम्मीदवार व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के सामने पहली बार साध्वी चुनाव मैदान में होंगी

इधर, कांग्रेस ने प्रदेश की इकलौती बची हाई प्रोफाइल इंदौर लोकसभा सीट से पंकज संघवी को प्रत्याशी घोषित किया है। इंदौर से प्रत्याशी घोषित होने के साथ ही कांग्रेस ने सभी 29 सीटों पर प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। कांग्रेस का गढ़ रही गुना संसदीय सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार ज्योतिरादित्य सिंधिया को भाजपा के केपी यादव टक्कर दे सकते हैं। यादव के नाम पर भी तकरीबन मुहर लग गई है। भोपाल सीट पर वोटिंग 12 मई को वोटिंग है, इस लिहाज से प्रज्ञा ठाकुर को प्रचार के लिए काफी कम वक्त मिलेगा। 

शिवराज सहित कई नामों पर चर्चा लेकिन संघ ने प्रज्ञा का नाम बढ़ाया: बताया जा रहा है कि प्रज्ञा के नाम पर सहमति बनाने में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अहम भूमिका निभाई। यह उनका पहला चुनाव होगा। इस सीट से पूर्व में नरेंद्र सिंह तोमर, शिवराज सिंह चौहान, महापौर आलोक शर्मा और वीडी शर्मा के नाम पर पार्टी स्तर पर खासी मशक्कत हुई, लेकिन संघ ने प्रज्ञा का नाम बढ़ा दिया। इस पर अब जाकर सहमति बनी। 

इंदौर पर पेंच : ललवानी, शेखावत या नेमा में हो सकता है कोई एक 
इंदौर के मामले में प्रदेश संगठन एक बार लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से बात करेगा। यहां शंकर ललवानी, भंवर सिंह शेखावत और गोपीकृष्ण नेमा से एक तय होना है। शंकर ललवानी की संभावना ज्यादा है। 75 साल से ज्यादा उम्र होने के कारण सुमित्रा महाजन को पार्टी ने टिकट नहीं दिया है। कयास लगाए जा रहे हैं उनके ही किसी समर्थक को पार्टी मैदान में उतार सकती है। 

सागर में खींचतान खत्म राजेंद्र सिंह पर मुहर :सागर संसदीय सीट की खींचतान भी लगभग समाप्त हो गई। यहां पार्टी ने पूर्व मंत्री भूपेंद्र सिंह के करीबी पूर्व मंडी अध्यक्ष व कांग्रेस से 2008 में भाजपा में शामिल हुए राजेंद्र सिंह मोकलपुर को उम्मीदवार बनाया जाना तय कर लिया है। यहां राजेंद्र सिंह के साथ राज बहादुर सिंह और पूर्व मंत्री जयंत मलैया का नाम चर्चा में था।

विदिशा में शिवराज के करीबी रमाकांत पर सहमति : सुषमा स्वराज के पीछे हटने के बाद विदिशा संसदीय सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पत्नी साधना ने अपना दावा पेश किया था। उनके नाम पर सहमति नहीं बनी तो पूर्व मंत्री रामपाल सिंह समेत तोरण सिंह दांगी और रमाकांत भार्गव का नाम सामने आया। इन सभी को शिवराज सिंह का करीबी माना जाता है। बताया जा रहा है कि पार्टी रमाकांत के नाम पर सहमत हो गई है। 
1998 में महाजन से सिर्फ 49 हजार वोटों से हारे थे संघवी : पंकज संघवी को सीएम कमलनाथ का समर्थक माना जाता है। वे गुजराती समाज के अध्यक्ष हैं। इंदौर में गुजराती समाज के डेढ़ लाख से ज्यादा वोट हैं। संघवी ने 1998 में इंदौर लोकसभा से चुनाव लड़ा था, तब वे सुमित्रा महाजन (ताई) से 49 हजार वोटों से हार गए थे। इसके बाद उन्होंने 2009 में महापौर का चुनाव लड़ा तब भाजपा के कद्दावर नेता कृष्ण मुरारी मोघे से महज 3200 वोटों से हारे। संघवी ने 2013 में इंदौर पांच नंबर विधानसभा से चुनाव लड़ा, इस चुनाव में वे महेंद्र हार्डिया से 11 हजार वोटों से हारे। 

विवादित बोल: नवजोत सिंह के खिलाफ FIR दर्ज, कहा था- ‘मुस्लिम एकजुट होकर वोट डालें तो सुलट जाएगा मोदी’

पटना: : पंजाब के मंत्रीनवजोत सिंह सिद्धू के एक चुनावी सभा को संबोधित करने के दौरान विवादित भाषण देकर चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने पर उनके खिलाफ कटिहार के बारसोई थाना में मंगलवार को प्राथमिकी दर्ज की गई. अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि उक्त मामले में फ्लाइंग स्क्वाड टीम द्वारा बारसोई थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गई है. उन्होंने बताया कि इस मामले में आवश्यक कार्रवाई के लिएनिर्वाचन आयोग को रिपोर्ट भेज दिया गया है.

विपक्षी महागठबंधन में शामिल कांग्रेस  प्रत्याशी तारिक अनवर के पक्ष में मुस्लिम बहुल कटिहार में आयोजित एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए सिद्धू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए मुसलमानों से कहा ‘ये बांट रहे हैं आपको.’ कटिहार के पडोसी किशनगंज लोकसभा सीट जहां से असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम ने अपना उम्मीदवार उतरा है की ओर इशारा करते हुए सिद्धू ने कहा ‘मुस्लिम भाईयों ये यहां पर ओवैसी साहेब जैसे लोगों को लाकर आपलोगों के वोट बांटकर ये जीतना चाहते हैं.’

सिद्धू ने मुसलमानों से कहा ‘यहां अल्पसंख्यक बहुसंख्यक में है. अगर तुम लोग एकजुट होकर वोट डाला तो सब पलट जाएगा. मोदी सलट जाएगा. छक्का लग जाएगा.’ इस मामले में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के आपत्ति जताए जाने के साथ मंगलवार शाम भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने पटना स्थित मुख्य निर्वाचान पदाधिकारी पहुंचकर सिद्धू द्वारा की गई टिप्पणी को लेकर उनके खिलाफ कार्रवाई किए जाने के लिए लिखित शिकायत की थी.
भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष देवेश कुमार ने कहा था, ‘हम नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा की गई टिप्पणी की कड़ी निंदा करते हैं. उनकी टिप्पणियां कांग्रेस की अल्पसंख्यक तुष्टिकरण की नीति और पार्टी की एक आसन्न हार की चिंता का परिणाम हैं.’ साथ ही देवेश ने कहा था, ‘एक तरफ, मोदी के नेतृत्व में हमारी पार्टी सबका साथ, सबका विकास के आदर्श के साथ काम कर रही है और दूसरी तरफ कांग्रेस के पास विभाजनकारी राजनीति के अलावा कुछ भी नहीं है. हम कांग्रेस नेता द्वारा इस निंदनीय कृत्य की निंदा करते हैं. हम चुनाव आयोग से भी आग्रह करेंगे कि वह उनके बयानों के खिलाफ संज्ञान लें और उचित कार्रवाई करे.’

उत्तराखंड, बिहार व वेस्ट यूपी में तूफान और ओले गिरने की चेतावनी

देश के तीन राज्यों उत्तराखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश के कई जिलों में तेज तूफान के साथ ओले गिरने की आशंका है। बिहार के बेगूसराय, लखीसराय, पटना, सेखपुर, जामुई, नालंदा, मुंगेर, बांका और भागलपुर में मंगलवार रात तेज तूफान और गरज के साथ ओले गिरने का अलर्ट जारी हुआ है। वहीं, मौसम विभाग ने उत्तराखंड के कई जिलों में अगले 36 घंटों के भीतर ओलावृष्टि और तूफान की चेतावनी जारी की है।

बिहार के कई जिलों में ओले गिरने का अलर्ट
बिहार की राजधानी पटना सहित 9 जिलों में मंगलवार रात तेज तूफान के साथ गरज और ओले गिरने की आशंका जताई है। मौसम विभाग के अनुसार इन जिलों में 60-70 KM/H की रफ्तार से तेज हवा चलने की आशंका जताई है।
वेस्ट यूपी में भी अलर्ट जारी
वेस्ट उत्तर प्रदेश में भी आज तूफान के साथ ओेले गिरने के आशंका जताई गई है। सोमवार देर रात भी मेरठ और आसपास के जिलों में तेज आंधी आई के साथ बारिश भी हुई थी। इस आंधी के कारण कई जगहों पर दुकानों के हॉर्डिंग और पेड़ गिर गए। मेरठ समेत आसपास के जिलों में बिजली के तार टूटने के कारण रात भर कई इलाकों की बत्ती भी गुल रही थी।
उत्तराखंड में अगले 36 घंटे तूफान और ओलावृष्टि का अलर्ट
पश्चिमी विक्षोभ के चलते उत्तराखंड में गर्मी से बड़ी राहत मिल गई है। देहरादून, हरिद्वार और ऊधमसिंहनगर में तापमान बढ़ने लगा था, जिसमें मंगलवार को गिरावट दर्ज की गई है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, अभी दो दिन और बारिश की संभावना बनी हुई है, जिससे तापमान 30 डिग्री सेल्सियस से कम ही रहेगा। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि अगले 36 घंटों में ओलावृष्टि और तूफानी की चेतावनी जारी की गई है। इसमें अधिकतम 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवायें चल सकती हैं, जिससे नुकसान हो सकता है। वहीं, 18 अप्रैल को भी राज्य के अधिकांश इलाकों में बारिश होने की संभावना है।
केदारनाथ में हुई हल्की बर्फबारी
केदारनाथ धाम और ऊंची पहाड़ियों में हल्की बर्फबारी हुई, जबकि निचले इलाकों में बारिश हुई, जिससे मौसम सुहावना हो गया। केदारनाथ धाम सहित इसके करीब की पहाड़ियों में दोपहर बाद हल्की बर्फबारी हुई। हालांकि केदारनाथ और पैदल मार्ग में बर्फ हटाने का काम लगातार जारी है पर मौसम ने राहत दल के काम में कुछ परेशानियां पैदा की। इधर जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग सहित जिले के अनेक स्थानों पर दोपहर बाद बारिश हुई।

दिल्ली-NCR में बारिश की संभावना
मौसम विभाग का अनुमान है कि मंगलवार की रात दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में बारिश हो सकती है। जबकि, बुधवार को बादल और बारिश का क्रम बना रह सकता है। इस दौरान तेज हवा के झोंके भी बीच-बीच में आ सकते हैं। अनुमान है कि बारिश के चलते बुधवार को तापमान और नीचे आ सकता है। अधिकतम तापमान 28 और न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।

गुना संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में दो उम्मीदवारों ने प्रस्तुत किए नाम निर्देशन पत्र

शिवपुरी, 16 अप्रैल 2019/ गुना संसदीय निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 04 में नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति के पहले दिन आज दो उम्मीदवारों द्वारा अपने नाम निर्देशन पत्र कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती अनुग्रहा पी के समक्ष कलेक्ट्रेट कोर्टरूम शिवपुरी में अपने नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत किए। नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करने वालों में सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर आफ इंडिया (कम्यूनिस्ट) पार्टी से उम्मीदवार श्री मनीष श्रीवास्तव ने और निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में श्री चन्द्र कुमार श्रीवास्तव ने अपने-अपने नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत किए। इस मौके पर सहायक रिटर्निंग आफिसर के रूप में श्री अतेन्द्र सिंह गुर्जर उपस्थित थे। नाम निर्देशन पत्र 23 अप्रैल को अपराह्न 03 बजे तक प्राप्त किए जा सकेंगे।
भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी लोकसभा निर्वाचन-2019 कार्यक्रम के अनुसार गुना संसदीय क्षेत्र 04 के लिए 18, 20, 22 और 23 अप्रैल 2019 को सुबह 11 से अपरान्ह 3 बजे तक नाम निर्देशन पत्र प्राप्त होंगे। जबकि 17 अप्रैल को ‘‘महावीर जयंती’’, 19 अप्रैल को ‘‘गुडफ्राइडे’’ और 21 अप्रैल को रविवार होने के कारण इन दिनाको में नामांकन नहीं भरे जायेंगे। 24 अप्रैल को प्रातः 11 बजे से प्राप्त नाम निर्देशन पत्रों की समीक्षा(जांच) की जाएगी। 26 अप्रैल अपराह्न 03 बजे तक नाम वापसी की अंतिम दिनांक रहेगी। 12 मई को प्रातः 07 बजे से सांय 06 बजे तक मतदान होगा। जबकि 23 मई 2019 को प्रातः 08 बजे से मतगणना शुरू होगी।

कुदरत का कहर जारी,प्रदेश में अब तक 10 मौत,रुठियाई में गिरे ओले



ग्वालियर।दो दिन से प्रदेश में मौसम के मिजाज बदले हुए हैं। मंगलवार रात 9 बजे के बाद भोपाल में आधा घंटा तेज बारिश हुई। एक घंटा थमने के बाद बारिश फिर शुरू हो गई, जो देर रात तक जारी रही।शिवपुरी में भी लगातार बारिश का दौर जारी है। मौसम विभाग ने 9:30 बजे तक 9.7 मिमी बारिश दर्ज की। शाजापुर, उज्जैन, जबलपुर, राजगढ़, ग्वालियर ,शिवपुरी,में भी अांधी के साथ बारिश जारी है। शाजापुर,रुठियाई, में 20 मिनट तक ओले। कई जगह समर्थन मूल्य पर खरीदा गया गेंहूं भींग गया। प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में बिजली गिरने से 10 लोगों की मौत हो गई। राजधानी में दिन के तापमान में 5.70 की गिरावट अाई अाैर तापमान 34.10 पर ठहर गया। यह सामान्य से 4.80 कम था। जबकि, रात का तापमान 3.40 की गिरावट के साथ 23.90 रहा।

बिजली गिरने से प्रदेश में 10 लोगों को अपना शिकार बनाया।
इंदाैर 3
बदनावर 2
खरगोन 2
रतलाम 1
शाजापुर 1
श्योपुर 1
इसलिए मप्र में बारिश… राजस्थान से आ रही नम हवा : पश्चिमी राजस्थान के ऊपर करीब 1.5 किमी की ऊंचाई पर कम दबाव का क्षेत्र बना हुअा है। यहीं नहीं, पश्चिमी राजस्थान से महाराष्ट्र तक करीब 0.9 किमी की ऊंचाई पर एक ट्रफ लाइन बनी है, जाे पश्चिमी मध्यप्रदेश से हाेकर गुजर रही है। इससे मिल रही नमी के कारण बारिश की स्थिति बनी अाैर इंदाैर, देवास, शाजापुर, सीहाेर, राजगढ़, गुना अाैर विदिशा में अांधी के बाद गरज-चमक के साथ ही बारिश भी हुई।
पचमढ़ी से भी ठंडा ग्वालियर…ग्वालियर में दिन का तापमान 11.5 डिग्री की गिरावट के साथ 30.1 डिग्री रिकाॅर्ड हुअा। यह पचमढ़ी के तापमान 33 डिग्री के मुकाबले तीन डिग्री कम था।