नाम निर्देशन पत्र एवं अन्य जानकारी प्राप्त किए जाने हेतु अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जवाबदेही सुनिश्चित की गई है।

शिवपुरी, 13 अप्रैल 2019/ कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती अनुग्रहा पी द्वारा लोकसभा निर्वाचन 2019 के अंतर्गत संसदीय क्षेत्र 04 गुना में उम्मीदवारों से नाम निर्देशन पत्र एवं अन्य जानकारी प्राप्त किए जाने हेतु अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जवाबदेही सुनिश्चित की गई है। जिन्हें आज प्रशिक्षण प्रदाय किया गया।
अपर कलेक्टर श्री आर.एस.बालोदिया ने जिलाधीश कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित प्रशिक्षण को संबोधित करते हुए नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति हेतु नियुक्त सभी अधिकारी एवं कर्मचारी को निर्देश दिए कि नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति के दौरान संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी को जो दायित्व सौंपे गए है, उसे पूरी सावधानी, सर्तकता एवं ईमानदारी के साथ संपादित करें, जरा सी चूक बड़ी समस्या बन सकती है। इसलिए नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति के संबंध में उन्हें जो दायित्व सौंपे गए है, उस संबंध में आयोग के दिशा-निर्देशों का पूरी गंभीरता के साथ अध्ययन करें।
प्रशिक्षण में बताया गया कि नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करने के उपरांत चेक लिस्ट के अतिरिक्त अभ्यर्थियों को आदर्श आचरण संहिता निर्देशिका की एक प्रति अभ्यर्थियों के निर्वाचन व्यय विवरण दाखिल करने के संबंध में निर्देश पुस्तिका, निर्वाचन व्यय लेखा रजिस्ट्रर, निर्वाचन अभिकर्ता, प्रारूप 8 एवं 9 में, मतदान अभिकर्ता प्रारूप 10 एवं 11, अभ्यर्थी एवं निर्वाचन अभिकर्ता के पहचान पत्र हेतु प्रारूप एवं भारतीय दण्ड विधान की धारा 127 की प्रति उपलब्ध कराए जाने के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई।
अनु.जाति एवं जनजाति वर्ग के उम्मीदवार को 12500 निक्षेप राशि जमा करानी होगी
प्रशिक्षण में बताया गया कि उम्मीदवार द्वारा जमा की जाने वाली राशि में सामान्य वर्ग के उम्मीदवार द्वारा 25 हजार रूपए, अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के उम्मीदवार द्वारा निक्षेप राशि के रूप में 12 हजार 500 रूपए की मूल रसीद जमा करनी होगी।
लोकसभा निर्वाचन में नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करने वाले अभ्यर्थियों को आवश्यक समस्त जानकारियां देने लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के तहत आने वाले सभी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की मतदाता सूचियों में अभ्यर्थियों से प्राप्त नाम निर्देशन पत्रों को नामावली में शोध कर अभ्यर्थी एवं प्रस्तावक के भाग संख्या एवं क्रम संख्या के नाम का मिलाने करना एवं संबंधित पृष्ठ पर फ्लेग लगाने की जानकारी दी।
प्रशिक्षण में बताया गया कि अभ्यर्थी द्वारा नामांकन पत्र प्रस्तुत करने के तत्काल पश्चात नाम निर्देशन पत्र की प्रारंभिक जांच, अभ्यर्थी द्वारा नाम निर्देशन पत्र जमा करने के पश्चात चेक लिस्ट प्रदाय करना, जाति प्रमाण-पत्र के संबंध में सक्षम अधिकारी का जाति प्रमाण-पत्र, 24 अप्रैल 2019 को समीक्षा होने के समय तक जमा कराना।
प्रशिक्षण में बताया गया कि प्रतिदिन प्राप्त होने वाले नाम निर्देशन पत्रों एवं शपथ पत्रों की सूचना, प्रारूप 3क/3ए में तैयार कर, आरओ के नोटिस बोर्ड पर चस्पा कराना, सीईओ कार्यालय को भेजना, शपथपत्र की एक प्रति उपसंचालक जनसंपर्क को प्रदाय करना, समीक्षा के उपरांत नाम वापसी पश्चात शेष बचे उम्मीदवारों की सूची प्रारूप 4 में आरओ के नोटिस बोर्ड पर चस्पा करना एवं मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय को भेजना, सुविधा प्रोर्टल पर प्रतिदिन प्राप्त होने वाले नाम निर्देशन पत्रों एवं शपथ पत्रों को आॅनलाईन दर्ज करना, समीक्षा एवं नाम वापसी उपरांत अभ्यर्थियों की सूची को सुविधा पोर्टल पर दर्ज कराना।
प्रशिक्षण में उपजिला निर्वाचन अधिकारी श्री मकसूद अहमद, अनुविभागीय दण्डाधिकारी शिवपुरी श्री अतेन्द्र सिंह गुर्जर, डिप्टी कलेक्टर श्री आर.बी.सिंडोस्कर, डिप्टी कलेक्टर श्री पल्ल्वी वैध, प्रोफेसर श्री श्याम सुंदर खण्डेलवाल, श्री प्रशांत शर्मा, नायब तहसीलदार श्री जी.एस.बैरवा सहित नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति के कार्य में लगे कर्मचारीगण उपस्थित थे।
इन दिनांकों को प्रस्तुत होंगे नाम निर्देशन पत्र
भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी लोकसभा निर्वाचन-2019 कार्यक्रम के अनुसार गुना संसदीय क्षेत्र 04 के लिए 16 अप्रैल, 18, 20, 22 और 23 अप्रेल 2019 को सुबह 11 से अपरान्ह 3 बजे तक नाम निर्देशन पत्र प्राप्त होंगे। 17 अप्रेल को महावीर जयंती, 19 अप्रेल को गुडफ्राइडे और 21 अप्रैल को रविवार होने के कारण इन दिनाको में नामांकन नहीं भरे जायेंगे।

पुलिस अधिकारी बोले दादाजी वोट करो, दादा ने कहा पहले हरी बत्ती जलवाओ

पोहरी। एसडीएम मुकेश सिंह के निर्देशन में मतदाताओं को जागरूक करने की दृष्टि से तहसील पोहरी में ईवीएम-वीवीपैट मशीन को प्रदर्शन के लिए रखा गया है। क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों से आए हुए महिला-पुरुष अपने कार्यों के साथ-साथ वोट डालने की प्रकिया भी सीख रहे हैं।
एमटी दिनेश कुमार गुप्ता ने तहसील परिसर एवं कार्यालय के खुले भाग में बैठकर निर्धारित समय तक मतदाताओं को “आप वोट कैसे करेंगे” थीम पर समझाते हुए जागरूक किया। पुलिस एवं जेल अधिकारी ने भी उपस्थित मतदाताओं की शंकाओं का समाधान करते हुए कहा कि चुनाव में हमेशा निष्पक्ष मतदान होता है। आप देश के एक जागरूक नागरिक और मतदाता हैं, निडर होकर वोट करिए। यदि आपको कोई धमकी या लालच देता है तो तत्काल पुलिस द्वारा बताए गए नम्बर पर सूचित करें। तुरन्त उचित कार्यवाही की जाएगी। अधिकारी ने ईवीएम के पास खड़े हुए ग्रामीण से कहा- दादाजी वोट करो, दादा ने तुरंत कहा पहले हरी बत्ती जलवाओ। क्योंकि मतदान मशीन की हरी बत्ती बंद ह़ै मेरा वोट नहीं डलेगा। पुलिस अधिकारी ने ग्रामीण की प्रशंसा करते हुए कहा कि दादाजी अपने घर एवं पड़ोसियों को भी मतदान के प्रति जागरूक करना। और हाँ, 12 मई को वोट जरूर करना।
मतदान के प्रति मतदाता जागरूक हो रहे हैं। जो असमंजस एवं भय की स्थिति प्रारंभ में थी, वह आज समाप्त हो चुकी है। वूथ अवेयरनेस ग्रुप भी मतदान केन्द्र स्तर पर मतदाताओं को जागरूक करने में जुटे हैं। दिव्यांगों को भी बूथ स्तर पर मिलने वाली सुविधाओं से ग्रुप द्वारा अवगत कराया जा रहा है। एक मतदाता ने एमटी दिनेश गुप्ता से पूछा कि-
“यदि वोट करने के वाद वीवीपैट में पर्ची नहीं दिखेगी तो आप क्या करेंगे? एमटी ने कहा- यदि वैलिट यूनिट एवं कंट्रोल यूनिट दोनों मशीन सही कार्य की स्थिति में है, अकेला वीवीपैट निष्क्रिय होता है तो मात्र वीवीपैट को ही बदला जाएगा, अन्य मशीनों को नहीं।”
इस प्रकार के अनेक प्रश्न मतदाताओं द्वारा प्रचार-प्रसार के दौरान किए जाते हैं। तहसीलदार लालशाह जगेत, नायव तहसीलदार आशीष यशवाल, धीरज परिहार द्वारा अपने विभागीय कार्यों के साथ-साथ मतदाताओं को जागरूक करने की दिशा में सराहनीय कार्य किया जा रहा है। स्वीप गतिविधि एवं ईवीएम प्रचार-प्रसार के दौरान इलेक्ट्रिक वोटिंग मशीनों के महत्व एवं वोटिंग प्रक्रिया को समझाने में स्वीप मित्र श्याम बिहारी वर्मा, अजयशंकर त्रिपाठी एवं शफीक खॉन का सहयोग भी लगातार प्राप्त हो रहा है।

भाजपा शिवपुरी द्वारा कमलनाथ सरकार के खिलाफ धरना प़दर्शन

शिवपुरी भारतीय जनता पार्टी जिला शिवपुरी द्वारा कमलनाथ की भृष्ट सरकार के विरूद्ध आज माधव चौक शिवपुरी पर धरने का कार्यक्रम आयोजित किया गया ।जिसमें कमलनाथ के मंडली ने बिगत तीन माह में सत्ता का दुरुपयोग कर जो काली कमाई की है ।ऐसे तत्वों को अबिलम्ब जेल भेजा जाना चाहिये ।जनता इसे स्वीकार नही करेगी ।प्रदेश हित मेंभृष्ट ब निक्कमी सरकार को बर्खास्त कर देना चाहिये ।

गुना लोक सभा सीट, भयभीत कांग्रेस.बसपा के प्रचार मे तैजी.भीषण गर्मी मे प्रत्याशी धाकड लोकेन्द्र सिंह राजपूत का ग्रामीणों का दोरा. ➖➖➖➖➖



एक तरफ मध्यप्रदेश में सिंधिया के चेहरे के दाम पर कांग्रेस सरकार बनाने में कामयाब रही।गुना सीट से देरी क्षेत्र में जनता के बीच चर्चा का विषय बन गया है
वहीं दूसरी ओर प्रत्याशी चयन में पसीने छूट रहे हैं । मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने कांग्रेस को नहीं फायर ब्रांड और युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को टारगेट किया था, इतना ही नहीं बाकायदा पार्टी ने सिंधिया को सामन्तवाद बताकर “माफ करो महाराज” कहकर प्रिंट मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में हाहाकार मचा रखी थी नतीजन ज्योतिरादित्य सिंधिया की लोकप्रियता बढ़ती गई और सूबे में जोड़ तोड़ कर कांग्रेस की सरकार बन गई ।
लेकिन सरकार बनाने के बाद भी मध्यप्रदेश के दिग्गज नेता वर्तमान सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी सीट को ही फाइनल नही कर सके। गुना या किसी और सीट से चुनाव लड़ेंगे, गुना सीट से भाजपा एव कांग्रेस दोनो ने अपने उम्मीदबार घोषित नही किए है सांसद सिंधिया इस सीट से भाजपा से भयभीत नजर आ रहे है
भाजपा ने भी अपनी रणनीति बनाकर सिंधिया को घिरने की तैयारी कर ली है
क्योंकि भाजपा गुना लोकसभा सीट पर सिंधिया को घेरने के लिए दिग्गज नेता को उतार सकती है
इस लिए कांग्रेस गुना सीट पर फैसला लेने में देरी सबसे बड़ा कारण हो सकता है
उधर बसपा प्रत्याशी ने अपने तूफानी जनसंपर्क से संसदीय क्षेत्र की गली गली नाप ली है । बसपा प्रत्याशी को भरपूर समर्थन भी मिल रहा है, लोकेंद्र सिंह नुक्कड़ सभाओं और जन चौपालों के माध्यम से लोगों को सामन्तवाद के खिलाफ लड़ने के लिए जागरूक कर रहे । सोशल मीडिया पर लोकेंद्र सिंह की आईटी सेल की काफी शक्रिय है, “माफ करो महाराज,वक़्त है बदलाव का” के माध्यम से सिंधिया पर तंज कसा जा रहा है । यही नहीं गुना संसदीय क्षेत्र की दुर्दशा को लोकेंद्र सिंह जनता को तुलनात्मक रूप से मतदाता को दिखाने की कोशिश कर रहे हैं तभी कि भाजपा प्रत्याशी घोषित होने के पूर्व ही सिंधिया को गुना पर गौर करना पड़ रहा है और उनका दर्द जुंबा पर आ रहा है कि इतना काम करने के बाद मैं शिवपुरी से हार क्यूँ जाता हूँ .
➖➖➖➖➖➖➖➖

वाहन चेकिंग में बोलेरो से मिले 29.40 लाख रुपये, रिकॉर्ड मैच नहीं होने पर जब्त

मध्य प्रदेश को सीहोर जिले में वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस ने एक बोलेरो से 29.40 लाख रुपये जब्त किए हैं. रुपयों के साथ बोलेरो में मौजूद लोगों का कहना था कि रकम जमीन बेचने से मिली है. उन्होंने जमीन के सौदे से जुड़े कागजात भी पुलिस को दिखाए. लेकिन पुलिस पूछताछ के दौरान दोनों के जवाब से संतुष्ट नहीं हुई. रूपए जब्त करने के बाद पुलिस ने मामले की जानकारी आयकर विभाग को दी है.

दरअसल, जिले की आष्टा तहसील की सिद्दीकगंज थाना पुलिस की एसएसटी टीम द्वारा नीलबड मार्ग पर वाहन चेकिंग कर रही थी. तभी नीलबड की तरफ आ रही एक बोलेरो को रोकने के लिए कहा. जब बोलेरो की चेकिंग की गई तो इसमें से 29 लाख 40 हजार रुपए मिले. बोलेरो में मौजूद लोगों ने बताया कि ये पैसे नीलबड में एक पैतृक जमीन के सौदे से मिले हैं. लेकिन पुलिस पूछताछ के दौरान दोनों के जवाब से संतुष्ट नहीं हुई. रूपए जब्त करने के बाद पुलिस ने मामले की जानकारी आयकर विभाग को दी है

कलेक्टर से आग्रह कि स्कूली में पंखे एवं स्कूली वाहनों में पेयजल की हो व्यवस्था

गर्मी के मौसम में स्कूली बच्चों के लिए नहीं हैं पंखे

शिवपुरी-शहर के अधिकांश विद्यालयों में स्कूली बच्चों के लिए गर्मी के मौसम में राहत प्रदान करने वाले पंखे नहीं है तो कहीं बिजली व्यवस्था के कारण पंखे होने के बाबजूद भी चालू स्थिति में नहीं है। ऐसे में गर्मी की मार झेल रहे स्कूली बच्चों को हवा एवं पानी की व्यवस्था प्रदान करने की गुहार शहर के जागरूक नागरिकों ने जिलाधीश से की है।
अभिभावकों ने भी बताया है कि जिलाधीश महोदय ने भले ही गर्मी के मौसम में स्कूल समय में परिवर्तन कर दिया हो बाबजूद इसके सुबह जल्दी स्कूली संचालन के कारण बच्चों को भी सुबह करीब 6:30 बजे से ही स्कूल जाने के लिए निकलना पड़ता है और देर दोपहर तक वह स्कूल से अपने घर पहुंच पाते है। ऐसे में शहर के कई निजी विद्यालय ऐसे है जहां स्कूली बच्चों के लिए पंखे ही नहंी है और यदि कहीं लगे भी है तो वह बिजली जाने के कारण चल नहीं पाते अथवा जनरेटर ना होने के कारण उनका उपयोग नहीं हो पाता। जिससे बच्चे गर्मी में झुलसते रहते है। इसके अलावा स्कूली वाहनों में भी पानी की व्यवस्था ना होने के कारण बच्चों के लिए पेयजल समस्या का सामना भी करना पड़ता है। ऐसे में जागरूक अभिभावकों ने जिलाधीश से निवेदन किया है कि वह निजी स्कूलों में बिजली के साथ पंखे अनिवार्य रूप से चलवाऐं साथ ही बिजली ना होने का कोई बहाना ना हो, जनरेटर अथवा इन्वर्टर लगवाकर पंखों को स्कूली समय में चलाया जाए, साथ ही शीतल ठण्डा पेय उपलब्ध हो। ऐसे इंतजाम भी निजी विद्यालयों में किए जाए। गर्मी के अप्रैल माह में भले ही एक माह स्कूल संचालन होना है बाबजूद इसके यदि यहां बच्चों को पर्याप्त पेयजल एवं हवा की सुविधा नहीं मिलेगी तो उनका मन पढ़ाई में नहीं लगेगा जिससे उनका भविष्य संकट में पड़ सकता है। ऐसे में जिलाधीश को इस ओर ध्यान देकर बच्चों के जीवन से होने वाले खिलवाड़ को रोकना होगा और निजी स्कूलों में हवा-पानी की माकूल व्यवस्था हो ऐसे दिशा निर्देश जारी किए साथ ही ऐसा ना करने वाले विद्यालयों पर कार्यवाही भी की जाए।

माँ बलारी के दर्शनों के लिए उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़


बलारपुर मेले में उमड़ा जनसैलाव, हजारों लाखों लोगों ने किए माँ के दर्शन
शिवपुरी-शिवपुरी माधव राष्ट्रीय उद्यान मैं ग्राम करई से 20 किलोमीटर अंदर घने जंगलों मैं माँ बलारी का मंदिर स्थित है प्राचीन मंदिर पर हजारों लाखों भक्तों की आस्था का केंद्र है 3 दिन चलने वाले ग्रामीण मेले में शिवपुरी जिले के आसपास के क्षेत्र के ग्रामीणजन माँ की आराधना करने के लिए बड़ी दूर-दूर से आते हैं। मां के मंदिर तक पैदल यात्रा कर मंदिर पर दर्शनों के लिए पहुंचते हैं नवरात्रि में लगने वाले मेले में लोग पहुंचकर पूजा पाठ करते हैं बच्चों के मुंडन संस्कार से लेकर आस्था के केंद्र पर लोगों की भावनाएं जुड़ी हुई है इस मंदिर पर पिछले 8 वर्षों से जल सेवा कर रहे राठौर समाज के अध्यक्ष अशोक राठौर ने बताया कि 2 दिन के अंदर करीब 10 टैंकरों पानी वितरण कर चुके है। पर लो

गों का हुजूम कम होने का नाम नहीं ले रहा पैदल यात्रियों की टोलियां आती जा रही है। इतना ही नहीं कई भक्तों ने माँ के दर्शन लाभ लेने आ रहे श्रद्धालुओं के जगह-जगह भण्डों का भी आयोजन किया जा रहा हैं। इस भीषण गर्मी में लोगों के लिए पानी सुविधा उपलब्ध कराने के लिए भी भक्तों ने माँ मंदिर तक पहुंचने वाले रास्ते में जगह-जगह प्याऊ भी लगा रखी हैं।
माँ के दर्शनों के लिए नेशनल पार्क ने खोला रास्ता
नेशनल पार्क के अंदर होने के कारण वन विभाग और पुलिस विभाग के संयुक्त अभियान तहत पूरे क्षेत्र पुलिस व्यवस्था भी चाक चौबंद की गई हैं। इतना ही नहीं बलारपुर मंदिर पर लगने वाले मेले में शिवपुरी पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर के आदेश अनुसार चाक-चौबंद व्यवस्था बनाए रखने के लिए अलग से बल तैनात किया गया हैं। जिससे माँ के दरबार में कोई भी अप्रिय घटना देखने में नहंी आई। इतना ही नहीं हजारों लोगों के आने जाने में वाले भक्तों के माँ दर्शनों की कतार बद्ध तरीके नागरिकों को लगाकर माँ के दर्शन लाभ दिलाया जा रहा हैं।
आज चढ़ाए जायेंगे माँ के नेजे
माँ बलारी के दरबार में आज नेजे चढ़ाए जायेंगे भक्तगणों ध्वजा लेकर कई अपनी मन्नतें मांग लेकर आते हैं आते और मँा के दरबार में सप्तमी से लेकर नवमीं तक दर्शन करने के पश्चात विशाल ध्वजा चढ़ाई जाती हैं। जिसका आयोजन नवमीं के दिन किया जाता हैं। इस प्राचीन मंदिर में पूर्व में डकैत रामबाबू गड़रिया ने भी अपनी मनोकामना पूर्ण होने पर माँ के दरबार में विशाल घंटा चढय़ा गया था।