➖➖➖➖
बसपा की नुक्कड नाटक मंडली ने शिवपुरी, कोलारस,पिछोर विधानसभा के गांवों मे धूम मचाई.
—————————————-
गुना/शिवपुरी/अशोक नगर।बहुजन समाज पार्टी(बसपा)के लोकसभा प्रत्याशी धाकड लोकेन्द्र सिंह राजपूत के समर्थन मे बसपा की कला मंडली द्धारा शिवपुरी, कोलारस,पिछोर विधानसभा के एक सेकडा से अधिक गावों मे नुक्कड नाटकों का मंचन किया जा चुका है.उपरोक्त मंडली पिछोर के गावों मे मंचन कर रही है.गावों के ग्रामीणों का मन मोह ने के साथ श्रेष्ठ अभिनय के माध्यम से मंनोरंजन कर धूम मचा रही है.नुक्कड़ नाटक के जरिये बसपा की विचार धारा, प्रत्याशी के विषय मे जानकारी सहित ,बसपा को वोट देने का संदेश प्रदान किया जा रहा है.ग्रामीणों को सरलता से उनकी ही भाषा शैली मे समझा ने मे कला मंडली सफलता से कार्यरत सावित हो रही है.
➖➖➖➖➖➖➖➖

भारतीय सेना ने तबाह कर दी 8 चौकियां,मार गिराए 7 सैनिक,पाकिस्तान के,

पुंछ। नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर युद्ध जैसे हालात बन गए हैं। राजौरी से पुंछ तक पाकिस्तानी सेना की सोमवार को दिनभर जारी रही गोलाबारी का देर शाम भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया। पुंछ सेक्टर में भारतीय सेना ने जोरदार जवाबी कार्रवाई करते हुए पाक की आठ चौकियों को तबाह कर दिया और सात पाक सैनिकों को मार गिराया। सीमा पार नुकसान काफी हुआ है। वहां एंबुलेंस आ-जा रही हैं।

रात 10 बजे राजौरी के नौशहरा के लाम सेक्टर में भी पाक सेना ने गोलाबारी तेज कर दी है। इससे पहले पाकिस्तानी गोलाबारी में सीमा सुरक्षा बल का एक इंस्पेक्टर शहीद हो गया। जबकि एक महिला सहित पांच वर्षीय बधाी की मौत हो गई। पांच जवानों समेत 22 लोग घायल हुए हैं। हालात तनावपूर्ण होते देख नियंत्रण रेखा से पांच किलोमीटर के दायरे में स्कूल बंद कर दिए गए हैं।

सोमवार सुबह करीब पौने आठ बजे पुंछ सेक्टर और इसके बाद शाहपुर, किरनी, मेंढर, बांदी चेचिया, मंधार, कृष्णा घाटी, मनकोट, बालाकोट व मेंढर सेक्टर में सीमा पार से भारी गोलाबारी शुरू हो गई जो पूरे दिन जारी रही। गोलाबारी में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के इंस्पेक्टर एलिस्क लाल मीनल शहीद हो गए। जबकि बांडी चेचियान गांव में मुहम्मद शफीक की पांच वर्षीय बेटी सोफिया, महिला सज्जाद बी पत्नी मोहम्मद याकूब निवासी बलनोई पुंछ की मौत हो गई। 18 लोग घायल हो गए। छह घायलों को उपचार के लिए राजकीय मेडिकल कॉलेज जम्मू रेफर किया गया। चार घायलों का वायु सेना के चॉपर से जम्मू और दो घायल एंबुलेंस से जम्मू भेजे।

यहां भी हुई गोलाबारी

शाहपुर किरनी, मच्छल सेक्टर, कृष्णा घाटी और पुंछ सेक्टर के अलावा राजौरी के नौशहरा में लाम सेक्टर में भी रात को पाक ने गोलाबारी की।

2 अप्रेल हिंसा की बरसी : चप्पे-चप्पे पर पुलिस की नजर

,
ग्वालियर
संवेदनशील इलाकों में बैठे शंातिदूत
ग्वालियर। एससी एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में पिछले साल 2 अप्रैल को हुए उपद्रव की पहली बरसी के चलते शहर हाई अलर्ट पर है। पुलिस ने पिछली बार की घटना से सबक लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तो तैनात है ही साथ ही संवदेनशील इलाकों में शंाति दूत भी बिठाले गए हैं जिससे कि किसी प्रकार की अप्रिय वारदात होने पर ये लोागें को समझा कर शांति स्थापित कर सके

पिछले साल 2 अप्रेल को हुए घटनाक्रम ने प्रशासन को अंदर तक झकझोर दिया था एैसे में इस साल पुलिस किसी तरह की रिस्क नहीं लेना चाहती है जिसके लिए शहर को आज अभेद किले की शक्ल दे दी गई है।शहर के मुहानों से लेकर अंदर तक 10 तो ऐसे संवेदनशील पॉइंट हैं, जहां पिछली बार सबसे अधिक उपद्रव हुआ था।यहां सुरक्षा में सीआरपीएफ और एसएएफ जवान तो तैनात किए ही गए हैं साथ ही ड्रोन से भी निगरानी की जा रही है। शहर में धारा 144 लागू की गई है जिसके चलते कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार के विस्फोटक, आयुध तथा ऐसी सामग्री जिससे खतरा उत्पन्न हो सकता है। हथियार जैसे लाठी, डंडा, सरिया फावड़ा हॉकी आदि का प्रदर्शन नहीं करेगा, न ही लेकर चलेगा। किसी भी प्रकार के कट आउट बैनर पोस्टर फ्लेक्स होर्डिंग्स झंडे आदि पर किसी भी धर्म व्यक्ति संप्रदाय जाति या समुदाय के विरुद्घ नारे या अन्य भड़काऊ भाषा का इस्तेमाल नहीं कर सकेगा।
तीन लोगों की हो गई थी मौत
पिछले साल हुए उपद्रव में तीन लोगों की मौत हुई थी। इसके बाद मुरार, थाटीपुर क्षेत्र में कर्फ्यू तक लगाना पड़ा था। इसे लेकर सोशल मीडिया पर कुछ लोग श्रद्धांजलि सभा तो कुछ लोग अन्य आयोजनों को लेकर आव्हान कर रहे हैं। इसलिए पुलिस और प्रशासन अलर्ट है। पुलिस प्रशासन के लिए चुनौती वे क्षेत्र हैं, जहां से पिछले साल उपद्रव की शुरुआत हुई और यहां गोलियां चलने तक की नौबत आ गई। इसमें थाटीपुर के भीमनगर, अंबेडकर नगर, सरकारी मल्टी, चैहान प्याऊ, साठ फुटा रोड, अंबेडकर पार्क, मुरार, सिरोल और गोला का मंदिर शामिल हैं। यहां सबसे ज्यादा उपद्रव हुआ था। इसके चलते यहां अर्द्धसैनिक बल तैनात किए गए हैं।

कमलनाथ ने भोपाल में RSS दफ्तर से सुरक्षा हटाई तो दिग्विजय हुए नाराज, कहा- बहाल करें

लोकसभा चुनाव से पहले मध्य प्रदेश में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) को लेकर सरगर्मियां तेज हैं. राज्य की कांग्रेस सरकार ने भोपाल स्थित RSS के मुख्यालय से सुरक्षा हटाने का फैसला किया है, जिस पर उनकी ही पार्टी के दिग्गज दिग्विजय सिंह ने सवाल खड़े कर दिए हैं. दिग्विजय ने ट्वीट कर संघ कार्यालय की सुरक्षा बहाल करने की अपील की है.

दरअसल, सोमवार देर रात कमलनाथ सरकार की ओर से भोपाल में मौजूद आरएसएस ऑफिस से सुरक्षा हटाने की बात कही है. देर रात वहां से सुरक्षा हटना भी शुरू हो गई. भोपाल में मौजूद संघ का दफ्तर पूरे मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ का केंद्र है.

ऐसे में भोपाल सीट से ही कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने इस पर आपत्ति दर्ज करवा दी. दिग्विजय ने ट्वीट किया, ‘’भोपाल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कार्यालय से सुरक्षा हटाना बिल्कुल उचित नहीं है, मैं मुख्यमंत्री कमलनाथ जी से अनुरोध करता हूं कि तत्काल पुन: पर्याप्त सुरक्षा देने के आदेश दें’’.

बता दें कि मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह दोनों ही पूर्व में संघ के आलोचक रहे हैं, ऐसे में अब लोकसभा चुनाव से पहले दिग्विजय का ये कदम चौंकाने वाला है.

भारतीय जनता पार्टी भी भड़की

मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने समिधा से सुरक्षा हटाये जाने पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया है कि ‘भोपाल स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यालय से सुरक्षा का हटाया जाना @OfficeOfKNath का बेहद ही निंदनीय कदम है. @INCMP द्वारा शायद फिर किसी हमले की योजना बनाई गई है, अगर किसी स्वयंसेवक को खरोंच भी आई तो कांग्रेस सरकार की ईंट से ईंट बजा दी जाएगी’.

वहीं बीजेपी प्रवक्ता लोकेंद्र पाराशर ने भी चेतावनी भरे लहजे में लिखा है कि ‘@OfficeOfKNath सरकार का प्रतिशोध भरा कदम, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के भोपाल कार्यालय से सुरक्षा हटाकर कांग्रेस ने शायद फिर हमले की योजना बनाई है. इन्हें क्या लगता है संघ डर जाएगा! संघ ना रुकता है ना झुकता है, किसी स्वयंसेवक को खरोंच भी आई तो समझ लें कि क्या होगा’.

क्यों खास है भोपाल संघ मुख्यालय?

आपको बता दें कि भोपाल स्थित संघ कार्यालय समिधा मध्य क्षेत्र का मुख्यालय है जहां आरएसएस की मध्य प्रांत की महत्वपूर्ण बैठकें होती हैं और जिसमें संघ से जुड़े तमाम महत्वपूर्ण लोग शामिल होते हैं और साथ ही बीजेपी के कई बड़े नेताओं का यहां आना-जाना लगा रहता है.

बतौर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी कई बार यहां आ चुके हैं लेकिन बीजेपी की सरकार जाने के साल 2009-2010 से समिधा के बाहर तैनात एसएएफ के जवानों को सोमवार देर रात हटा दिया गया.

हालांकि जवानों को क्यों हटाया गया इसपर अभी सरकार या पुलिस की तरफ से कोई बयान नहीं आया है और ना ही संघ की तरफ से कोई प्रतिक्रिया लेकिन बीजेपी ने कमलनाथ सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

कमलनाथ इससे पहले ही सरकार बनने से पहले और सरकार बनने के बाद संघ को लेकर तीखी टिप्पणी करते रहे हैं, जिसपर उनका भाजपा नेतृत्व से भी टकराव रहा है. मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के घोषणापत्र में वादा किया था कि वह सरकारी दफ्तरों में लगने वाली संघ की शाखा पर रोक लगाएंगे, अब लोकसभा चुनाव से पूर्व इसपर काम भी शुरू हो गया है.

वहीं इससे पहले भी कमलनाथ सरकार ने सरकारी अफसरों को आदेश दिया था कि वह RSS की शाखा में ना जाएं और अगर कोई जाता है तो उसपर कार्रवाई की जा सकती है. गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में संघ का काफी ज्यादा कैडर और प्रभाव है, ऐसे में देखना ये भी होगा कि राज्य सरकार के ये फैसले लोकसभा चुनाव में किस तरह का असर डालते हैं.

बिहार के जमुई में बोले पीएम मोदी, कांग्रेस के लोग ‘भारत के टुकड़े होंगे’ कहने वालों के समर्थक

पटना 
लोकसभा चुनाव के प्रचार अभियान के क्रम मेंबिहार के दौरे पर पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को जमुई में एक विशाल रैली को संबोधित किया। बीजेपी की रैली में जहां पीएम नरेंद्र मोदी ने सरकार की उपलब्धियों की चर्चा की, वहीं कांग्रेस पार्टी के मेनिफेस्टो के बहाने राहुल गांधी पर निशाना भी साधा। 

सभा के दौरान पीएम मोदी ने लोगों से सवाल करते हुए कहा कि क्या आप लोग देश में दो पीएम की व्यवस्था का विरोध करेंगे या नहीं। इसपर लोगों ने जब हां कहा तो पीएम ने कहा कि जो बात देश के हर आदमी को समझ आ गई, वो महागठबंधन और कांग्रेस के पढ़े-लिखे नेताओं को नहीं समझ आई। 
मैंने कल ही महागठबंधन और कांग्रेस के नेताओं को चुनौती दी थी कि वह इस बयान से अपने आप को अलग करें, लेकिन किसी भी दल ने ऐसा नहीं किया। पीएम ने सभा के दौरान कहा ये लोग ऐसे विचार के साथ खड़े दिखते हैं जो एक भारत-श्रेष्ठ भारत के साथ खड़े होंगे। ये लोग भारत के टुकड़े होंगे ये कहने वालों के समर्थक हैं। 

हैदराबाद में भी कांग्रेस पर उठाए थे सवाल

बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने सोमवार को भी हैदराबाद में आयोजित एक सभा के दौरान कांग्रेस पार्टी पर कई सवाल उठाए थे। जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला द्वारा राज्य में अलग पीएम बनाने की बात कहने के बाद पीएम ने कांग्रेस पर सवाल खड़े किए थे। पीएम ने सभा में कहा था, ‘कांग्रेस के एक बड़े सहयोगी दल और महागठबंधन के सबसे बड़े साथी नैशनल कॉन्फ्रेंस ने बयान दिया है कि कश्मीर में अलग प्रधानमंत्री होना चाहिए। आप मुझे बताइए कांग्रेस की साथी पार्टी की मांग आपको या हिंदुस्तान में किसी को मंजूर है।’ 

उमर के बयान के बहाने विपक्ष की घेराबंदी 
उमर के बयान के बहाने महागठबंधन में शामिल दलों पर सवाल उठाते हुए पीएम ने कहा था,’वो कहते हैं कि हम घड़ी की सुई पीछे ले जाएंगे और 1953 के पहले की स्थिति पैदा करेंगे और हिंदुस्तान में दो पीएम होंगे। कश्मीर का पीएम अलग होगा। जवाब कांग्रेस को और महागठबंधन के सभी पार्टनरों को देना होगा कि क्या कारण है कि उनका साथी दल इस तरह की बात बोलने की हिम्मत कर रहा है। कुछ दिन पहले उनके एक उम्मीदवार ने भारत को गाली देने की कोशिश की थी, लेकिन कांग्रेस और नैशनल कॉन्फ्रेंस इसपर चुप बैठे हैं। इन लोगों को मैं कहना चाहता हूं कि कान खोलकर सुन लीजिए। जब तक मोदी है आपकी साजिशों को कामयाब नहीं होने देगा’ 

मोदी भारत को “हिंदू राष्ट्र” बनाने की कोशिश कर रहे हैं: एच डी देवगौड़ा

बेंगलुरु: JD(S) सुप्रीमो एच डी देवगौड़ा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर मंगलवार को आरोप लगाया कि वह भारत को “हिंदू राष्ट्र” बनाना चाहते हैं। पूर्व प्रधानमंत्री ने इस पर भी सवाल उठाए कि संविधान के अनुच्छेद 370 को क्यों खत्म किया जाना चाहिए। यह अनुच्छेद जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देता है। उन्होंने कहा, “सवाल है कि इसे क्यों खत्म किया जाना चाहिए? वहां अनुच्छेद 370 मैंने नहीं दिया है। जब कश्मीर वहां के महाराज के साथ हुए समझौते के बाद भारत में शामिल हुआ था, तब अनुच्छेद 370 पर सहमति हुई थी।”

देवगौड़ा ने कहा, “वहां (जम्मू कश्मीर में) बौद्ध हैं, मुस्लिम हैं, हिंदू हैं, ब्राह्मण हैं, पंडित हैं और कई समुदाय हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘वहां के माहौल को देखते हुए एक फैसले पर पहुंचा गया था।” देवगौड़ा हासन में संवाददाताओं से बात कर रहे थे जहां से उनके पोते प्रज्वल रेवन्ना लोकसभा चुनावों के लिए जनता दल (सेक्युलर) के उम्मीदवार हैं। उन्होंने कहा, “मोदी का विचार इस पूरे देश को हिंदू राष्ट्र बनाने का है। क्या मैं हिंदू नहीं हूं? क्या मैं मुस्लिम या ईसाई या बौद्ध हूं? हमें हर धर्म पर भरोसा है।”
देवगौड़ा ने सभी संप्रदायों के सह-अस्तित्व वाली व्यवस्था की वकालत की और बंगाल (बांग्लादेश में विभाजित होने से पहले) में सांप्रदायिक हिंसा से प्रभावित नोआखली में शांति लाने के महात्मा गांधी के प्रयासों को याद कर कहा, “गांधी ने हमें स्वतंत्रता दिलाई, क्या इन लोगों ने (भाजपा) हमें आजादी दिलाई? आंबेडकर ने हमें संविधान दिया।”
साथ ही उन्होंने कहा, “आपके (भाजपा का) अपने विचार हो सकते हैं, अगर हिन्दुस्तान की 130 करोड़ जनता इस विचार से सहमत है, तो इस चुनाव में इसकी भी परीक्षा हो जाए।” वित्त मंत्री अरुण जेटली ने हाल ही में जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को रद्द करने की वकालत की थी और कहा था कि अनुच्छेद 35ए “संवैधानिक रूप से कमजोर” है और राज्य के आर्थिक विकास में भी बाधा डाल रहा है।

अनुच्छेद 35ए अस्थायी निवासियों को जम्मू-कश्मीर में संपत्ति खरीदने से रोकता है। जेटली की इस टिप्पणी का जम्मू-कश्मीर के कई नेताओं ने विरोध किया था।

नवोदय विद्यालय में प्रवेश परीक्षा 6 को : शिवपुरी.

नवोदय विद्यालय में प्रवेश परीक्षा 6 को : शिवपुरी। जवाहर नवोदय विद्यालय नवोदय में कक्षा 6 के लिए चयन परीक्षा 6 अप्रैल शनिवार को आयोजित होना है। प्रवेश परीक्षा के आवेदन ऑनलाइन भरे गए थे। परीक्षा में प्रवेश पत्र अभ्यर्थी समिति के पोर्टल एवं समिति की बेबसाइट से अपना प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। प्रवेश पत्र पर प्राचार्य के हस्ताक्षर की आवश्यकता नहीं है।

सिंध जलवर्धन योजना: 31 मार्च की समयसीमा खत्म हो गई, एक भी ओवरहेड टैंक सिंध के पानी से नहीं भरा जा सका है।

शिवपुरी सिंध जलावर्धन योजना की सप्लाई लाइन से शहर के 18 नए व पुराने ओवरहेड टैंक भरने के लिए 31 मार्च की समयसीमा खत्म हो गई, लेकिन अभी तक एक भी ओवरहेड टैंक सिंध के पानी से नहीं भरा जा सका है। यह समय सीमा 6 जनवरी को सांसद ज्याेतिरादित्य सिंधिया ने सीएमओ और ठेका कंपनी के लिए तय की थी। अब सीएमओ का नया दावा है कि 10 अप्रैल तक ओवरटैंक भरना शुरू हो जाएंगे।

ठेका कंपनी ने कई ओवरहेड टैंक सप्लाई लाइन से जोड़ दिए हैं, लेकिन सतनवाड़ा फिल्टर प्लांट से खूबत घाटी तक 5.2 किमी में नई सप्लाई लाइन का काम अभी तक पूरा नहीं किया जा सका है। पहले बिछाई गई सप्लाई लाइन खराब है, जिसमें प्रेशर से पानी छोड़ते ही हर बार लीकेज हो जाता है। पुरानी सप्लाई लाइन से ओवरहेड टैंक भरना संभव नहीं है। यही वजह रही कि 31 मार्च तक किसी भी ओवरहेड टैंक को भरा नहीं जा सका। पिछले सप्ताह कलेक्टर ने बैठक में नगर पालिका अधिकारी, इंजीनियर और कंपनी के अधिकारियों को निर्देश दिए थे। इसके बाद सबसे पहले खराब पाइप लाइन को बदलने को कहा गया। ओम कंस्ट्रक्शन टीकमगढ़ ने अपनी सारी लेबर सतनवाड़ा से खूबत घाटी के बीच नई पाइप लाइन बिछाने के काम में लगा दी है। अधिकारी नई सप्लाई लाइन बिछाने का काम एक सप्ताह में पूरा करा करने का दावा कर रहे हैं। लोगों को अब यही इंतजार है कि तय समय सीमा के कितने दिन बाद 18 ओवरहेड टैंक भरे जा सकेंगे।

7 बर्षीय मासुम के साथ छेड़ छाड़ करने वाला पुलिस की गिरफ्त में.

शिवपुरी। पिछोर के ग्राम वीरपुर में स्थित काली माता मंदिर प्रांगण में एक आरोपित को बीती शाम सात वर्षीय बालिका के साथ दुष्कर्म करते हुए पकड़ा गया। लोगों ने उसे पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ पीसीएसओ एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है। सात वर्षीय बालिका को गांव में रहने वाला आरोपित मनोहर पुत्र भुंवरसिंह
शिवपुरी। पिछोर के ग्राम वीरपुर में स्थित काली माता मंदिर प्रांगण में एक आरोपित को बीती शाम सात वर्षीय बालिका के साथ दुष्कर्म करते हुए पकड़ा गया। लोगों ने उसे पीटा और पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ पीसीएसओ एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है। सात वर्षीय बालिका को गांव में रहने वाला आरोपित मनोहर पुत्र भुंवरसिंह यादव अपने साथ शाम 7 बजे अपने साथ बहला-फुसलाकर गांव में स्थित काली माता मंदिर के प्रांगण में ले गया, जहां आरापित को बालिका के साथ आपत्तिजनक अवस्था में देखा गया, जिसे गांव में कुछ लोगों ने देख लिया, जिसकी ग्रामीणों ने पहले पिटाई लगाई और उसके बाद पुलिस को बुलाकर उसे पुलिस के हवाले कर दिया।