एक ही गांव के 100 लोग अचानक बीमार, मचा हड़कंप

ग्रामीण पेटदर्द, उल्टी-दस्त के शिकार हुए तो स्वास्थ महकमे ने गांव में ही टीम भेजकर कैंप लगाया. कुछ लोगों को भितरवार और डबरा अस्पताल भिजवाया गया

ग्वालियर जिले के सांखनी गांव में शनिवार को करीब 100 से ज्यादा लोग फूड पॉयज़निंग का शिकार हो गए. ग्रामीण पेटदर्द, उल्टी-दस्त के शिकार हुए तो स्वास्थ महकमे ने गांव में ही टीम भेजकर कैंप लगाया. कुछ लोगों को भितरवार और डबरा अस्पताल भिजवाया गया.

दरअसल, गांव में उस समय हड़कंप मच गया जब एक साथ इतने लोग बीमार पड़ गए. अस्पताल पहुंचे लोगों ने बताया कि शुक्रवार को गांव में ही गमी के गंगाभोज में गए थे. खाना खाने के बाद शुक्रवार देर रात में कुछ लोग बीमार हुए तो स्थानीय स्तर पर दवाएं ले ली.

इसके बाद शनिवार को करीब 100 से ज्यादा लोग पेटदर्द, उल्टी-दस्त और बुखार के शिकार हो गए. ग्रामीणों ने खबर दी तो भीतरवार से स्वास्थ्य विभाग की टीम शनिवार शाम गांव में पहुंची औऱ कैंप लगाकर लोगों का इलाज किय़ा, लेकिन कुछ लोगों की हालात ज्यादा खराब होने पर उनको डबरा अस्पताल भिजवाया गया. फिलहाल सभी ग्रामीणों की हालात खतरे से बाहर बताई जा रही है.

किसान 15 जून तक जमा कर सकेंगे ऋण

किसान 15 जून तक जमा कर सकेंगे ऋण शिवपुरी|सहकारिता विभाग ने ऋण जमा करने के लिए किसानों को राहत दी है। किसान अब 15…

किसान 15 जून तक जमा कर सकेंगे ऋण

शिवपुरी|सहकारिता विभाग ने ऋण जमा करने के लिए किसानों को राहत दी है। किसान अब 15 जून तक ऋण जमा करा सकते हैं। प्राथमिक कृषि सहकारी साख समितियों पैक्स द्वारा खरीफ 2018 में वितरित अल्पकालीन फसल ऋण की देय तारीख 28 मार्च से बढ़ाकर 15 जून की है। इससे किसानों को सुविधा होगी।

सोने की तस्करी के गिरोह का पर्दाफाश, 1 क्विंटल 6 किलो 900 ग्राम (106.9kg) सोना पकड़ा गया

मुंबई
राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने सोने की तस्करी के रैकेट के भंडाफोड़ का दावा किया है। उसने यहां 106.9 किलोग्राम सोना जब्त किया है। साथ ही इस मामले में सात लोगों की गिरफ्तारी भी की गई है। डीआरआई ने एक खुफिया सूचना के आधार कार्रवाई करते हुए हाल ही में मुंबई के डोंगरी इलाके में दो वाहनों में छिपाकर रखे गए 100 किलोग्राम तस्करी के सोने को जब्त कर लिया।
इस मामले में अब्दुल अहद जारोदारवाला, शेख़ अब्दुल अहद और शोएब ज़ारोदारवाला को हिरासत में लिया। शोएब और अब्दुल अहद ज़ारोदरवाला ने कथित तौर पर स्वीकार किया कि उन्हें निसार अलियार नाम के एक आदमी से कुल 200 किलोग्राम से अधिक तस्करी का सोना मिला था। इन्होंने बताया कि दोनों ने दलाली पर थोक बाजार में तस्करी का सोना बेचा और उनके ग्राहकों में से एक राजू उर्फ मनोज जैन थे जिन्होंने पूर्व में उनसे लगभग 100 किलोग्राम तस्करी का सोना खरीदा था।

मायावती और अखिलेश ने कमाए 1600 करोड़ रुपये,दोनों का नार्को टेस्ट हो,मुसलमान खुद लड़ेंगे चुनाव : उलेमा काउंसिल

राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल के अध्यक्ष आमिर रशादी ने कहा सपा-बसपा को मुसलमानों से कुछ भी लेना-देना नहीं हैं। इन पार्टियों ने टिकट बेचने का धंधा करके करीब 1600 करोड़ रुपये कमाए हैं। अब जीत-हार का उन पर कोई फर्क नहीं पड़ता। इसलिए वे यूपी की 19 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेंगे। यह बात उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कही। साथ ही कांग्रेस व भाजपा पर भी मुसलमानों की उपेक्षा के आरोप लगाए।

शादी ने कहा कि सपा और बसपा अध्यक्षों का नारको टेस्ट करा लिया जाए तो पता चल जाएगा कि उन्होंने सीटें बेचकर कितने रुपये कमाए। चुनाव आयोग को इस मामले को संज्ञान में लेना चाहिए। रशादी ने कहा कि अभी तक मुसलमानों को भाजपा का भय दिखाकर राजनीतिक दल उनका वोट हथियाते रहे हैं, पर अब यह स्थिति नहीं रहेगी।

रशादी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मुरादाबाद, संभल, जालौन-उरई, झांसी, हमीरपुर, बांदा-चित्रकूट, फूलपुर, अम्बेडकरनगर, श्रावस्ती, महराजगंज, कुशीनगर, देवरिया, लालगंज, आजमगढ़, घोसी, जौनपुर, मछलीशहर, चंदौली और राबर्ट्सगंज में कौंसिल ने अपने प्रत्याशी उतारने का निर्णय लिया है। इसके अलावा बिहार, झारखंड, दिल्ली और महाराष्ट्र में भी चुनाव लड़ेंगे। कई संगठनों का उन्हें समर्थन मिल चुका है।

उन्होंने कहा कि बसपा अध्यक्ष मायावती ने गेस्ट हाउस कांड को भूलकर सपा के साथ गठबंधन किया। अपने मान-सम्मान को उन्होंने ताक पर रख दिया। इससे पता चलता है कि इस गठबंधन में दाल में कुछ काला है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रियंका गांधी वाड्रा मेरठ में भीम आर्मी के चंद्रशेखर से तो मिलने गईं, पर कुछ सौ मीटर की दूरी पर उन मुसलमानों की सुध नहीं ली, जिनके घर जलाए गए थे।
गुड़गांव में भी पीड़ित मुस्लिमों से मिलने कांग्रेस नेता नहीं गए। सपा-बसपा मात्र 28 लाख संख्या वाले जाटों की पार्टी रालोद को तीन सीटें दीं, पर मुस्लिम संगठनों से बात तक नहीं की। कांग्रेस का भी यही हाल है।

भय और भीख से मुसलमान अब किसी के बस में आने वाले नही हैं। वे असलियत समझ चुके हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस के अध्यक्ष वसी अहमद सिद्दीकी ने कहा कि वे कौंसिल के साथ हैं। मजलिस ने धौरहरा, शाहजहांपुर और आंवला में अपने प्रत्याशी उतारे हैं। इसके अलावा तेलंगाना में भी एक सीट पर चुनाव लड़ रहे हैं।

हिंसा की धमक शुरू,उत्तरप्रदेश के बाहुबली रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया को खून खराबे की धमकी,गठबंधन प्रत्याशी द्वारा

कौशांबी
यूपी सरकार के पूर्व मंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता इंद्रजीत सरोज ने गुरुवार को एक विवादित बयान दिया है। गुरुवार को कौशांबी संसदीय सीट के बाबागंज इलाके में एक कार्यक्रम के दौरान सरोज ने अपने राजनीतिक प्रतिद्वंदी और कुंडा के विधायक रघुराज प्रताप सिंह पर इशारों में निशाना साधते हुए एक भड़काऊ भाषण दिया। इस भाषण का विडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने अब आचार संहिता के उल्लंघन और अन्य मामलों में इंद्रजीत सरोज के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इंद्रजीत सरोज पूर्व में कौशांबी की मंझनपुर सीट से विधायक रहे हैं और वर्तमान में समाजवादी पार्टी के महासचिव हैं। इंद्रजीत सरोज कुछ साल पहले बहुजन समाज पार्टी में भी रह चुके हैं।

कौशांबी के इस कार्यक्रम में सरोज ने कहा,’इस बार चरवाहे-चरवाहे का पाला पड़ा है। ना तो यह गोली चलाने में पीछे रहते हैं और ना हम, ऐसे में अगर हमारे कार्यकर्ताओं को बाबागंज या कुंडा में कुछ भी होता है तो हम गंगा सूखे पार करेंगे लेकिन वहां से गीले होकर लौटेंगे।’ बता दें कि इंद्रजीत सरोज कौशांबी लोकसभा सीट से बीएसपी-एसपी गठबंधन के टिकट के दावेदार माने जा रहे हैं और कौशांबी की इसी सीट पर कुंडा के विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भईया ने अपनी पार्टी के प्रत्याशी शैलेंद्र कुमार को उतारा है।

स्टैटिक मैजिस्ट्रेट की शिकायत पर मामला दर्ज
गुरुवार को दिए बयान के बाद पुलिस ने स्टैटिक मैजिस्ट्रेट आशीष पांडेय की शिकायत पर एक मामला दर्ज किया गया है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, इंद्रजीत सरोज के खिलाफ जनप्रतिनिधित्व अधिनियम के सेक्शन 504, 506, 171, 188 और 125 समेत अन्य संबंधित धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

कोई छेड़ेगा तो उसकी आरती तो नहीं उतारेंगे: सरोज

ईमानदारी की सज़ा,महिला अधिकारी को भरे आफिस में घुस कर गोलियों से भून दिया,मौके पर ही मौत

पंजाब की चर्चित और ईमानदार अधिकारी नेहा शौरी को एक व्यक्ति ने उनके ही दफ्तर में घुसकर गोली मार दी। इस हमले के बाद नेहा शौरी की मौत हो गई। हमलावर ने खुद को भी गोली मार ली।

पंजाब के खरड़ में जोनल लाइसेंसिंग अथॉरिटी के पद पर तैनात अधिकारी को मारी गोली
अधिकारी नेहा शौरी को उनके ही दफ्तर में मारी गोली, फिर हमलावर ने खुद को भी गोली मार ली
कहा जा रहा है कि नेहा शौरी ने आरोपी का ड्रग लाइसेंस 2009 में कैंसल किया था

चंडीगढ़
पंजाब के खरड़ में जोनल लाइसेंसिंग अथॉरिटी के पद पर तैनात एक महिला अधिकारी नेहा शौरी की शुक्रवार को उनके कार्यालय में एक व्यक्ति ने गोली मार कर हत्या कर दी। जानकारी के मुताबिक, 2009 में जब नेहा रोपड़ में तैनात थीं, उस दौरान उन्होंने आरोपी के मेडिकल स्टोर पर छापेमारी की थी और उसका लाइसेंस कैंसल कर दिया था। इसी का बदला लेने के लिए उसने हमला किया।
पुलिस ने बताया कि आरोपी बलविंदर सिंह ने अधिकारी की हत्या करने के बाद खुद को भी गोली मार ली और उसे गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने बताया कि अधिकारी नेहा शौरी की हत्या के मामले की जांच की जा रही है। दूसरी ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रदेश के पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता को अधिकारी की हत्या के मामले की जांच शीघ्र संपन्न करने का निर्देश दिया है।
सूत्रों के मुताबिक, आरोपी बलविंदर सिंह ने नेहा को उनके ही दफ्तर में घुसकर गोली मार दी, जिससे नेहा वहीं गिर पड़ीं। गोली मारने के बाद बलविंदर भागा तो एक व्यक्ति ने उसका पीछा। यह देखकर उसने खुद को भी गोली मार ली। नेहा शौरी के बारे में यह कहा जाता रहा है कि वह काफी ईमानदार अधिकारी थीं।

शहर में जल संकट गहराने लगा है, कई नलकूप ने छोड़ा पानी.

शिवपुरी।

शहर में आधे से ज्यादा आबादी को पानी की सप्लाई नलकूपों से होती है और मार्च महीना समाप्त होने जा रहा है ऐसे में शहर के अधिकाशं वार्ड जलसंकट से जूझ रहे हैं इसके पीछे कारण है कि नपा ने नलकूपों की मोटर और पाइपों पर कोई राशि खर्च नहीं की जिसके नतीजे में लोग पानी के लिए परेशान हो रहे हैं। शहर में नपा के 550 नलकूप हैं जिनमें से 245 नलकूपों ने पानी देना ही बंद कर दिया है तो कई नलकूप डोरे की तरह पानी दे रहे हैं जिससे लोगों के सामने पानी का संकट खडा हो गया है। इधर शहर की 40 फीसदी आबादी को घसारई तालाब से पानी दिया जाता है लेकिन इसमें भी पानी कम होने के चलते सप्लाई के दिन बढा दिए हैं और अ

80 नलकूप दे रहे डोरे जैसा पानी

शहर के नलकूपों की हालत यह है कि कई ने तो पानी देना ही बंद कर दिया है जो कुछ नलकूप पानी दे भी रहे हैं तो उनसे डोरे की धार के जैसा पानी आ रहा है। शहर ठकुरपुरा, झींगुरा, सहित कई इलाके ऐसे हैं जहां लोगों को पानी के लिए घंटों इंतजार करना पड रहा है।

कई नलकूपों की फुंकी मोटर तो किसी में नहीं बढाए पाइप

शहर के कई नलकूप ऐसे हैं जिनमें मोटर फुक गई है और उन्हें बदला नहीं गया है जबकि कई नलकूप ऐसे हैं जिनमें पाइप बढने हैं लेकिन पाइप नहीं बढाए जाने से लोगों के सामने जलसंकट खडा हो गया है और लोग पानी के लिए परेशान हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि नपा ने मोटर खरीदी नहीं हैं ।

हर साल पानी पर खर्च होते हैं दो करोड़ से अधिक

हर साल नगर पालिका नलकूपों की मोटर पाइप और केबल पर दो करोड़ से अधिक राशि का बजट खर्च करते हैं बावजूद इसके आए दिन नलकूपों की मोटर फुक जाती हैं या फिर केबल बस्ट हो जाती है जिसके चलते लोगों को पानी नहीं मिल पाता है। लोगों का कहना है कि करोड़ों का बजट खर्च करने के बाद भी नपा लोगों को प्यासे कंठों को तर नहीं कर पा रही है।