कर्ज माफी में बैंक भी पेंच फसा रहे.

झाबुआ। जनसुनवाई में मंगलवार को पास के गांव बामनसेमलिया से आए किसान गंगा पिता भूरजी डामोर ने कर्जमाफी के लिए बैंक वालों द्वारा पैसे मांगने की शिकायत का आवेदन दिया। गंगा ने बताया, बैंक वालों का कहना है, तुम्हारा लोन कर्जमाफी में नहीं आएगा। अगर माफ कराना है तो 20 हजार रुपए देने होंगे।
आवेदन में सीधे तौर पर कहीं भी घूस मांगने का आरोप नहीं लगाया गया। इससे संशय की स्थिति भी है। गंगा से पूछने पर भी उसने साफ तौर पर ये नहीं बताया कि पैसे लोन खाते में भरने के लिए मांगे या लोन माफ करने के लिए। फिलहाल कलेक्टर ने एसडीएम को जांच सौंपी है।

ग्रामीण ने आवेदन में शहर की एक बैंक शाखा पर आरोप लगाया है। आवेदन में किसी बैंककर्मी या उसके पदनाम का जिक्र नहीं किया गया। आवेदन में बताया गया, कृषि कार्य के लिए अपने किसान क्रेडिट कार्ड से एक लाख 10 हजार रुपए लोन लिया था। ब्याज सहित ये राशि एक लाख 60 हजार रुपए है। मुझे बैंक वाले लगातार बकाया राशि की वसूली के लिए परेशान कर रहे हैं जबकि मेरी राशि शासन द्वारा घोषित की गई दो लाख की कर्जमाफी के अंदर है। जब बैंक वालों से ये कहा तो उन्होंने कहा, 20 हजार रुपए देना होंगे। ऋण माफ हो जाएगा। मैंने इंकार कर दिया तो बैंक से भगा दिया। अब लोनमाफी वालों में मेरा नाम शामिल नहीं किया जा रहा है।
पूरी जानकारी लेकर ही कुछ बता सकूंगा

आवेदन मिलने पर कलेक्टर प्रबल सिपाहा ने जांच के लिए आवेदन एसडीएम को मार्क किया। एसडीएम एमएल मालवीय ने बताया, अभी तक आवेदन मेरे पास नहीं आया। साहब ने जांच के लिए कहा है। पूरी जानकारी लेकर ही कुछ बताया जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *