कोलारस सिंध नदी से जमकर हो रहा रेत का दोहन, निकाली जा रही लाखों की रेत दोहन

बदरवास। बदरवास में अवैध रेत का कारोबार धड़ल्ले से हो रहा है। खनन कारोबारी बिना परमीशन के सिंध नदी से लाखों रुपए की रेत रोजाना निकाल रहे हैं। ऐसा नहीं है कि इस बात की जानकारी प्रशासन को नहीं है जानकारी होने के बाद भी वह कार्रवाई नहीं कर रहे हैं इससे साफ नजर आता है कि कहीं न कहीं प्रशासन की मिलीभगत भी इन रेत कारोबारियों के साथ है। रेत खनन कारोबारी सुबह 4 बजे से बदरवास सिंध नदी के घाटाों पर पहुंचकर रेत का अवैध उत्खनन करते हैं जो दोपहर 12 बजे तक चलता है इसके बाद रेत भरकर रेत माफिया गायब हो जाते हैं।
बदरवास की कालोनियों मे 1 हजार ट्राली से अधिक रेत का भंडारण विभिन्न जगहों पर है।

प्रशासन ने वर्षाकाल में नदी, नालों एवं सिंध की रेत पर अबैध उत्खनन पर रोक लगाई हुई थी लेकिन जैसे ही वर्षाकाल खत्म हुआ रेत माफिया फिर से सक्रिय हो गए हैं। बदरवास की सिंध नदी क्षेत्र से रोज सैकड़ों गाड़ी रेत सुबह-सुबह अवैध उत्खनन कर निकाली जा रही है। अवैध उत्खनन एवं परिवहन रोकने मे वन विभाग के साथ ही खनिज विभाग, पुलिस एवं राजस्व विभाग भी असफल नजर आ रहा है संबंधित अधिकारियों से बात करने पर सभी लोग अपने-अपने कार्यक्षेत्र से बाहर होने की बात करते हुए कार्रवाई करने से बचते नजर आते दिखाई देते हैं। जिसमें सवाल यह उठता है कि आखिर इतने बड़े पैमाने पर रेत का उठाव आखिर किया कहां से जा रहा है। वास्तविकता यह है कि बदरवास के सड़बूढ़ घाट, विजरोनी घाट, चितारा घाट, एनवारा घाट एवं रेंझा घाट से बड़े पैमाने पर अवैध उत्खनन कर रेत लाई जा रही है।

रेत कारोबारियों ने पुलिस पर नजर रखने जगह-जगह खड़ा कर दिया है। जिसे ही उन्हें पुलिस या प्रशासन अधिकारियों की टीम दिखती है तो वह खनन कारोबारियों को सूचना दे देते हैं जिससे वह पुलिस ने आने से पहले ही भाग जाते हैं। बदरवास में रेत माफिया हर महीने बदरवास तहसील के अधिकारी एवं बदरवास थाना के अधिकारी को हर महीने रेत ढोने वाले प्रत्येक वाहन के पांच-पांच हजार रुपए भेंट किए जाते हैं जिस कारण तहसील एवं थाने से रेत माफियाओं को अभयदान दिया जाता है जो भी रेत माफिया समय पर अपनी भेंट नहीं चढ़ाते हैं उन्हें अधिकारी अपना टारगेट बना लेते हैं एवं उन्हें रास्ते में पकड़ कर कार्रवाई कर दी जाती है। रेत कारोबारियों ने रेत का अवैध भंडारण बदरवास के आसपास एवं काॅलोनियों में कर रखा है। अवैध भंडारण बांसखेडा, रिजौदी, घुरवार, दीगौध, बारई, श्रीराम कालोनी, घुरवार रोड, थाने के पीछे, पेट्रोल पंप के पास, श्रीपुर आदि दो दर्जन से अधिक जगहों पर है अवैध भंडारण कर रखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *