ज्योतिरादित्य सिंधिया बने मसीहा महिला यात्री की बचाई जान

दिल्ली,कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय ज्योतिरादित्य सिंधिया. मध्य प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के चेयरमैन
सिंधिया की नेतृत्व क्षमता, उनकी भाषण शैली और उनके ड्रेंस सेंस की तारीफ तो पूरा देश करता है लेकिन इस दफे सिंधिया ने कर दिया कुछ ऐसा कारनामा की हर कोई उनकी तारीफ करते नहीं अघा रहा है.

आम आदमी तो आम आदमी, नरेंद्र मोदी के इशारों पर दुम हिलाने वाला मीडिया भी सिंधिया की तारीफों के पुल बांधने पर मजबूर हो गया है
सफर के दौरान हुआ वाक्या
ये घटना रेल सफर के दौरान घटित हुई. जनसत्ता की खबरों के अनुसार भोपाल से दिल्ली जाने वाली शताब्दी एक्सप्रेस में ज्योतिरादित्य सिंधिया सफर कर रहे थें.
उसी ट्रेन में वंदना नाम की एक महिला भी सफर कर रही थी।
सफर के दौरान ही वंदना की अचानक से तबीयत खराब हो गई
संयोग से सिंधिया भी उसी कोच में सफर कर रहे थें. ट्रेन जिसे दिल्ली जाकर ही रुकना था, अचानक से बीच में रुक गई।किसी को पता नहीं चला कि ट्रेन रुकी क्यों !
सिंधिया से रुकवाई ट्रेन
पता लगने पर मालूम हुआ कि वंदना तबीयत खराब होने के कारण जमीन पर गिर पड़ी थी
सिंधिया ने बिना समय गंवाए तत्काल ट्रेन के गार्ड और ड्राईवर को इसकी सूचना दी. सिंधिया ने रेलवे स्टाफ से मेडिकल सुविधा की जानकारी मांगी तो ना में जवाब मिला।
सिंधिया ने तुरंत रेल मंत्री पीयूष गोयल और आगरा के रेलवे डिविजनल मैनेजर को कॉल किया।
रेलवे ने पहुंचाई सुविधा
सिंधिया के फोन पर बीच रास्ते में ट्रेन रोक कर एंबुलेंस मंगवाई गई. इस समय रात के ढाई बज रहे थें. लड़की को फटाफट अस्पताल पहुंचाया गया।
प्राथमिक उपचार के बाद वंदना को दिल्ली हॉस्पीटल भेज दिया गया. मेडिकल टीम ने बताया कि अगर आधे घंटे की और देरी हो जाती तो शायद वंदना इस दुनिया में नहीं होती।
वंदना के परिजनों ने सिंधिया का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि वो सिर्फ महलों के ही नहीं आम आदमी के दिलों के भी महाराज हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *