ग्वालियर में स्मार्ट सिटी के नाम पर पैसे की लूट!!!

आज के अखबार में खबर है कि स्मार्ट सिटी योजना के अन्तर्गत ग्वालियर शहर में 3 करोड़ रुपये खर्च कर 10 स्थानों पर स्मार्ट साइन बोर्ड लगाये जायेंगे । ये बोर्ड बतायेंगे कि आगे सड़क पर कैसा ट्रैफिक है , वायु प्रदूषण कितना है । यह केवल दिल्ली जैसे महानगरों की फूहड़ नकल है , जिसकी आवश्यकता अभी 10 साल तक ग्वालियर को कतई नहीं है । दिल्ली जैसे शहरों में ट्रैफिक जाम की स्थिति देखकर वाहन चालक वैकल्पिक रूट से जाते हैँ । क्या ग्वालियर शहर में कोई वैकल्पिक रूट हैं ? प्रदूषण स्तर देखकर नागरिक क्या करेंगे ? प्रदूषण कम करने के उपाय कीजिये । जनता के पैसे को अनावश्यक उड़ाने में क्यों लगे हैं ? स्मार्ट सिटी के नाम पर यह अपव्यय क्यों ? इस पर नज़र रखने वाला कोई नज़र नहीं आता । अब नागरिकों को ही यह अपव्यय रोकने के लिये कुछ करना पड़ेगा ।जय हिन्द ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *